कुकीज़ क्या है और वेबसाइट कुकीज़ का इस्तेमाल क्यूं करती हैं!

Media Dictionary: Cookies


आप जब इन्टरनेट पर कुछ सर्च करते हुए किसी वेबसाइट पर जाते हैं तो कई वेबसाइट पर लिखा होता है “दिस वेबसाइट यूज कुकीज़” यानि ये वेबसाइट कुकीज़ का इस्तेमाल करती है। कुकीज़ क्या है और कोई भी वेबसाइट कुकीज़ का इस्तेमाल क्यूं करती हैं, वो हमारे लिए फायदेमंद है या नुकसानदेह आज मीडिया डिक्शनरी में कुकीज़ को जानने के साथ साथ इसके विभिन्न पहलुओं पर भी चर्चा करेंगे।
कुकीज़ वो टेक्स्ट फाइल होती हैं जिन्हें वेबसर्वर के द्वारा आपके डिवाइस (कंप्यूटर, लैपटॉप, स्मार्टफोन आदि जिसके ज़रिए आप इन्टरनेट की दुनियां के जुड़ते हैं) को पहचानने के लिए बनाया जाता है जिनका इस्तेमाल विभिन्न वेबसाइट्स अपने टार्गेट ऑडियंस के बारे में जानने के लिए किया करती हैं। कुकीज़ का इस्तेमाल करने वाली वेबसाइट्स आपसे आपका यूजर आईडी और पासवर्ड मांगती हैं ताकि वो आपकी पसंद नापसंद के बारे में जान सकें। आपने इंटरनेट पर उनकी वेबसाइट में क्या सर्च किया, किस चीज़ या किस ख़बर पर आपकी निगाहें लंबी टिकी, आप किस तरह की खबरों को प्राथमिकता देते हैं, कुकीज़ के ज़रिए वेबसाइट्स इन सारी बातों का पता लगा लेती हैं और उसके आधार पर वो अपने दर्शक या पाठक वर्ग को पर्सनलाइज्ड या कस्टमाइज ट्रीटमेंट देती हैं। उदाहरण के लिए कुकीज़ के ज़रिए एक न्यूज़ पोर्टल आसानी से ये पता लगा सकते हैं कि आपको किस तरह की खबरों में रुचि है, आपको सॉफ्ट न्यूज़ ज़्यादा प्रभावित करती है या फिर हार्ड न्यूज, आप ऑनलाइन शॉपिंग के दौरान किन ब्रांड्स को प्रेफरेंस देते हैं, आपने लास्ट टाइम उस वेबसाइट पर किन प्रॉडक्ट्स या सर्विसेज को पसंद किया था, आपके पास्ट इन्टरनेट सर्च बिहेवियर के आधार पर वेबसाइट्स आपको पर्सनलाइज्ड ट्रीटमेंट देती हैं। जब आप उस वेबसाइट पर दोबारा आते हैं तो कुकीज़ के ज़रिए ये वेबसाइट आपके सामने वैसे ही प्रोडक्ट या सर्विसेज, इन्फॉर्मेशन परोसती हैं जैसी आपने पहले देखी या सर्च की थी। कुकीज़ के जरिए ऑडियंस की प्राथमिकता या उनकी पसंद के आधार पर निश एडवर्टाइजिंग भी आसानी से की जा सकती है।
कुकीज़ ख़ुद कोई नुक्सान नहीं पहुंचाते पर वर्चुअल क्रिमिनल्स या साइबर क्रिमिनल्स इनके ज़रिए आपके लैपटॉप, आई पैड, या फोन को हैक कर सकते हैं। साथ ही इनके ज़रिए आपकी गतिविधियों पर उन सभी वेबसाइट्स की नज़र रहती है जिनकी कुकीज़ को आपने एक्सेप्ट किया और बाद में डिलीट नहीं किया। जॉम्बी कुकीज़ तो आपके डिवाइस से आसानी से डिलीट भी नहीं होती इसलिए इन सारी बातों को ध्यान में रखकर इन कुकीज़ को एक्सेप्ट करिएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button