इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन EVM से चुनाव असंवैधानिक – देवसहायम

सिटिज़न कमीशन ऑन इलेक्शंस एम जी देवसहायम का कहना है कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन EVM से चुनाव कराना असंवैधानिक है।

पिछले कुछ समय से एक्सपर्ट्स और आम लोग इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों की विश्वसनीयता पर सवाल उठा रहे हैं। सड़कों पर प्रदर्शन हो रहे हैं। चुनाव आयोग को ज्ञापन दिए गए हैं। लेकिन आयोग ने अभी तक कोई ठोस पहल नहीं की है। एक बातचीत M G Devsahayam से।

M.G. Devasahayam is a former Army and IAS officer and coordinator of the Citizen’s Commission on Elections.

M G Devsahayam है कि EVM से वोट डालने में वोटर को पता नहीं चलता कि जब उसने बटन दबाया तो वोट उसी की इच्छ के अनुसार पड़ा और गिना भी गया। ईसी बुनियाद पर जर्मनी की सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों को असंवैधानिक घोसित किया। फिर पूरे योरप और विकसित देशों ने वापस बैलट पेपर अपना लिया।

उनका यह भी कहना है कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों पर चुनाव आयोग के बजाय दूसरी कंपनियों का कंट्रोल होता है, यह भी विधि सम्मत नहीं।

देवसहायम को अफ़सोस है कि सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में गहराई से विचार नहीं किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

18 − 3 =

Related Articles

Back to top button