श्रीराम मंदिर निर्माण समिति की दो दिवसीय बैठक का आरंभ

राममंदिर निर्माण कार्य में अब तक नींव की 48 लेयर बनने के बाद राफ्ट का निर्माण चल रहा है। डेढ़ मीटर मोटे राफ्ट का निर्माण 15 जनवरी तक पूरा हो जाएगा। इसके बाद 20 फीट ऊंचे प्लिंथ अर्थात रामचबूतरा का निर्माण होना है। यह कार्य अप्रैल माह तक पूरा होने की उम्मीद जताई जा रही है।

दो दिवसीय बैठक

अयोध्या: श्रीराम मंदिर निर्माण समिति की दो दिवसीय बैठक आज से शुरू हो गई। 29 और 30 दिसंबर को राम जन्मभूमि परिसर व सर्किट हाउस में यह बैठक हो रही है। आज सुबह 9:30 बजे श्रीराम जन्मभूमि परिसर में राम मंदिर निर्माण कार्य की प्रगति का मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र ने स्थलीय निरीक्षण किया।

राफ्ट का निर्माण 15 जनवरी तक पूरा होगा

राममंदिर निर्माण कार्य में अब तक नींव की 48 लेयर बनने के बाद राफ्ट का निर्माण चल रहा है। डेढ़ मीटर मोटे राफ्ट का निर्माण 15 जनवरी तक पूरा हो जाएगा। इसके बाद 20 फीट ऊंचे प्लिंथ अर्थात रामचबूतरा का निर्माण होना है। यह कार्य अप्रैल माह तक पूरा होने की उम्मीद जताई जा रही है।

श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल ने बताया कि राममंदिर का यह निर्माण अपने आप में इंजीनियरों सहित हम सभी के लिए पूरी तरह नया अनुभव है। इसमें कुछ भी अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है। उन्होंने उम्मीद जताई कि अगले अप्रैल माह के बाद राममंदिर आकार लेता हुया दिखाई देने लगेगा।

शाम की बैठक सर्किट हाऊस में

लार्सन एंड टूब्रो व टाटा कंसल्टेंसी के इंजीनियरों के साथ राम मंदिर निर्माण कार्य स्थल का निरीक्षण करने के कुछ देर बाद राम जन्मभूमि परिसर में ही आज की पहली बैठक शुरू की गई। यह बैठक एक बजे तक चली, जिसके बाद सेकेंड टाइम की बैठक सर्किट हाउस में आयोजित की गई, जो शाम तक चली।

समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र के साथ इस बैठक में श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के महासचिव चंपत राय व सदस्यों में अयोध्या राजा बिमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र व डाक्टर अनिल मिश्र आदि भी मौजूद रहे।

इसे भी पढ़ें:

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास की तबियत में सुधार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button