UP Assembly Election: योगी आदित्यनाथ को मथुरा से चुनाव लड़ने का प्रस्ताव

योगी आदित्यनाथ को मथुरा से चुनाव लड़ने का प्रस्ताव

योगी आदित्यनाथ को मथुरा से चुनाव लड़ने का प्रस्ताव: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath) को मथुरा विधानसभा (Mathura Assembly Seat) से चुनाव में उतारने को लेकर बीजेपी (BJP) अपना मन बना रही है। राज्यसभा सांसद हरनाथ सिंह यादव ने राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को खत लिखकर यह सुझाव भेजा है।

हालांकि, योगी आदित्यनाथ के काशी, अयोध्या या गोरखपुर से भी विधानसभा चुनाव लड़ने की चर्चा चल रही है। उम्मीद की जा रही है कि बीजेपी जल्दी ही इस बाबत स्पष्ट जानकारी सार्वजनिक कर देगी। हालांकि, फिलहाल राज्यसभा सांसद हरनाथ सिंह यादव ने भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को खत लिखकर मतदाताओं की इच्छा को ध्यान में रखकर योगी आदित्यनाथ को श्रीकृष्ण की नगरी मथुरा से विधानसभा चुनाव लड़वाने का निवेदन भेजा है। बता दें कि कुछ दिनों पहले ही योगी आदित्यनाथ ने ऐलान किया था कि इस बार वे विधानसभा चुनाव लड़ेंगे।

राज्यसभा सांसद ने अपने खत में लिखा है कि अब जबकि योगी आदित्यनाथ खुद भी इस बाबत ऐलान कर चुके हैं कि पार्टी उन्हें जहां से भी चुनाव मैदान में उतरने को कहेगी, वे वहीं से विधानसभा चुनाव लड़ेंगे, तब श्रीकृष्ण की नगरी ब्रजभूमि मथुरा की जनता की इच्छा मैं आप तक पहुंचाना चाहता हूं। मथुरा की जनता चाहती है कि योगी आदित्यनाथ उनके यहां से विधानसभा चुनाव में खड़े हों।

राज्यसभा सांसद हरनाथ सिंह यादव ने भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को खत लिखकर मतदाताओं की इच्छा को ध्यान में रखकर योगी आदित्यनाथ को मथुरा से विधानसभा चुनाव लड़वाने का निवेदन भेजा है।

बता दें कि योगी इससे पहले कभी विधानसभा का चुनाव नहीं लड़े हैं। इससे पहले वे पांच बार गोरखपुर से लोकसभा सांसद रहे हैं। उनके नाम सबसे कम उम्र के सांसद होने का गौरव भी जुड़ा है। यह पहली बार होगा जब योगी आदित्यनाथ विधानसभा के चुनाव में ​अपनी किस्मत आजमाने के लिये उतरेंगे। बता दें कि कुछ दिनों पहले ही योगी आदित्यनाथ ने ऐलान किया था कि इस बार वे विधानसभा चुनाव लड़ेंगे।

बकौल योगी आदित्यनाथ पार्टी जहां से भी मुझे चुनाव लड़ने के लिये कहेगी, मैं लड़ुंगा। यानि अब यह साफ हो गया है कि इस बार योगी मथुरा विधानसभा से विधानसभा चुनाव में अपनी भाग्य का फैसला करने के लिये पुरजोर कोशिश करेंगे।

योगी का विधानसभा चुनाव में खड़ा होना यूपी के लिये अहम बात मानी जा रही है। इसके पीछे वजह यह बताई जा रही है कि इससे पहले तीन बार से ऐसा हो रहा है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री विधानसभा चुनाव के जरिये नहीं, बल्कि विधान परिषद के चुनाव जीतकर प्रदेश में मुख्यमंत्री बनते रहे हैं।

2007 में बीएसपी प्रमुख मायावती भी प्रदेश में मुख्यमंत्री बनीं, तब वह विधान परिषद की सदस्य थीं न कि विधानसभा जीत कर मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठी थीं। इसके बाद समाजवादी पार्टी से अखिलेश यादव भी जब प्रदेश में मुख्यमंत्री बने तब वे विधान परिषद सदस्य बनकर प्रदेश के सीएम की कुर्सी पर विराजमान हुये थे। फिलहाल योगी आदित्यनाथ भी प्रदेश में मुख्यमंत्री विधानसभा चुनाव जीतकर नहीं हैं बल्कि वे खुद भी विधान परिषद के रास्ते यहां तक पहुंचे हैं।

पांच बार गोरखपुर से सांसद रह चुके हैं सीएम योगी

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने नये साल 2022 के मौके पर मीडिया को संबोधित करते हुये कहा था कि मैं सभी 403 विधानसभा सीटों से चुनाव लड़ रहा हूं और पार्टी जहां से कहेगी, मैं चुनाव लड़ने के लिए तैयार हूं। योगी ने स्पष्ट कर दिया था कि वह आगामी विधानसभा चुनाव लड़ेंगे और पार्टी 300 से ज्यादा सीटें जीतेगी।

बता दें कि योगी आदित्यनाथ लगातार पांच बार (1998, 1999, 2004, 2009, 2014) गोरखपुर लोकसभा सीट से सांसद रह चुके हैं। 2017 विधानसभा चुनाव में बीजेपी के बंपर बहुमत से सत्ता में आने के बाद उन्हें मुख्यमंत्री बनाया गया था। यह भी बताते चलें कि पूर्वांचल में योगी फैक्टर की विधानसभा चुनाव में अहम भूमिका रही है।

इसे भी पढ़ें:

अखिलेश नहीं लड़ेंगे UP विधानसभा चुनाव, जानिए उन्होंने क्यों कहा ऐसा?

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button