UP में कांग्रेस का CM चेहरा होंगी प्रियंका, चुनावी घोषणा पत्र ‘भर्ती विधान’ जारी

यह उत्तर प्रदेश में 7 करोड़ युवाओं की आकांक्षा का घोषणा पत्र है

कांग्रेस ने आज अपना चुनावी घोषणा पत्र ‘भर्ती विधान’ जारी कर दिया है. इस घोषणा पत्र का नाम यूपी में युवाओं की सबसे बड़ी समस्या को दूर करने के वायदे के साथ ‘भर्ती विधान’ रखा गया है. वहीं, प्रियंका गांधी ने इस बात का भी खुलासा कर दिया कि यूपी में कांग्रेस की ओर से सीएम का चेहरा वे खुद होंगी.

मीडिया स्वराज डेस्क

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव ( UP assembly elections 2022) के लिए (Congress Manifesto) कांग्रेस का युवा घोषणा-पत्र (Congress youth manifesto) आज शुक्रवार को जारी कर दिया गया. कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा ने साथ मिलकर पार्टी का युवा घोषणा पत्र जारी किया. अपने इस घोषणा पत्र में ‘लड़की हूं, लड़ सकती हूं’ और टिकट बंटवारे में महिलाओं को 40 फीसदी आरक्षण देने के बाद कांग्रेस ने सरकारी नौकरियों से लेकर टीचरों की वैकेंसी तक कई बड़े वायदे किये हैं.

इस दौरान राहुल गांधी ने कहा कि हिंदुस्तान के हर युवा को मालूम है कि आज की सबसे बड़ी समस्या क्या है. यही कारण है कि कांग्रेस युवा मैनिफेस्टो जारी कर रही है. हम खोखले वायदे नहीं करते. राहुल गांधी ने बीजेपी पर निशाना साधते हुये कहा कि भाजपा को केवल उद्योगपतियों के हाथ मजबूत करने की चिंता रहती है लेकिन कांग्रेस पार्टी को युवाओं की चिंता है इसलिये कांग्रेस पार्टी नफरत की राजनीति नहीं करती.

हालांकि, कांग्रेस के इस मेनिफेस्टों पर बीजेपी के अर्जुन मेघवाल ने कहा कि कांग्रेस सिर्फ झूठे वायदे करती है. इससे पहले राजस्थान में भी वो ऐसा कर चुकी है. यहां तक कि उनके अभियान ‘लड़की हूं लड़ सकती हूं’ की पोस्टर गर्ल प्रियंका मौर्य ही पार्टी छोड़ चुकी हैं।

कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने कहा कि हमने उत्तर प्रदेश के हर जिले के युवाओं से बात करके यह घोषणा पत्र तैयार किया है. इस चुनावी घोषणा पत्र का नाम भी हमने भर्ती विधान इसलिए रखा क्योंकि यूपी में सबसे बड़ी समस्या भर्ती की है. युवा रोजगार की समस्या से परेशान है. कांग्रेस पार्टी ने घोषणा की है कि हम 20 लाख रोजगार दिलाएंगे.

प्रियंका ने कहा कि रोजगार को लेकर नौजवानों का जो भरोसा टूट गया है, उसे हम फिर से बहाल करेंगे. सभी परीक्षाओं के फॉर्म नि:शुल्क होंगे और परीक्षा देने के लिये बस और ट्रेन की यात्रा भी मुफ्त होगी. हालांकि, पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुये प्रियंका गांधी वाड्रा ने एक बड़ी बात भी कर दी है. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की ओर उनका ही चेहरा होगा.

प्रियंका ने कहा कि रोजगार को लेकर नौजवानों का जो भरोसा टूट गया है, उसे हम फिर से बहाल करेंगे. सभी परीक्षाओं के फॉर्म नि:शुल्क होंगे और परीक्षा देने के लिये बस और ट्रेन की यात्रा भी मुफ्त होगी. हालांकि, पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुये प्रियंका गांधी वाड्रा ने एक बड़ी बात भी कर दी है. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की ओर उनका ही चेहरा होगा. उन्होंने पत्रकार से यह सवाल कर दिया कि क्या यूपी में उन्हें कोई और चेहरा दिखाई देता है?

आइए, एक नजर डालें प्रियंका गांधी के भाषण के कुछ मुख्य बिंदुओं पर…

  • यह उत्तर प्रदेश में 7 करोड़ युवाओं की आकांक्षा का घोषणा पत्र है.
  • इससे युवाओं को हम 20 लाख सरकारी नौकरी देंगे, जिसमें से 40 प्रतिशत महिलाओं को दी जाएंगी.
  • परीक्षाओं में हो रही घोटालों को भी दूर किया जायेगा.
  • सरकार से जो भरोसा टूटा है, उस विश्वास को बहाल करने का ज़िक्र भी भर्ती विधान में है.
  • 20 लाख सरकारी नौकरियों में से डेढ़ लाख प्राथमिक विद्यालय में रिक्त हैं. माध्यमिक में 38 हज़ार, उच्च में 8 हज़ार.
  • डॉक्टरों के 6 हज़ार, पुलिस के 1 लाख का पद खाली.
  • 20 हज़ार आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और आंगनबाड़ी सहायिका के 27 हज़ार पद रिक्त हैं.
  • संस्कृत विद्यालय में 2 हज़ार पद खाली हैं.
  • एक जॉब कैलेंडर बनाया जाएगा, जिसमें परीक्षा की तारीख, रिज़ल्ट की तारीख और नियुक्ति की तारीख होगी. उल्लंघन होने पर कार्रवाई होगी.
  • यूपी में युवाओं में नशीले पदार्थों का इस्तेमाल बढ़ गया है, लखनऊ में हम एक सेंटर बनाएंगे, जो युवाओं की काउंसलिंग करेंगे, जिसके 4 हब होंगे.

कांग्रेस के चुनावी पिटारे से वायदों के रूप में क्या-क्या निकला…

  • 20 लाख सरकारी नौकरियों की गारंटी, जिसमें आठ लाख पद महिलाओं के लिए होंगे.
  • प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षकों के रिक्त 1.5 लाख पद भरे जाएंगे.
  • स्टार्टअप के लिए 5,000 करोड़ रुपये का ‘सीड स्टार्ट उप फंड’, जिसमें 30 साल से कम उम्र के उद्यमियों को प्राथमिकता दी जाएगी.
  • बेसिक शिक्षा क्षेत्र में 1 लाख प्राध्यापक की कमी को पूरा किया जाएगा.
  • आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के रिक्त 19,300 पद और आंगनबाड़ी सहायिकाओं के लिए रिक्त 27,100 पदों को भरा जाएगा.
  • सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के शुल्क माफ होंगे, साथ ही परीक्षा देने के लिए बस और रेल यात्रा मुफ्त होगी.

इसे भी पढ़ें:

योगी ही भाजपा का चेहरा, मुख्य प्रतिद्वंद्वी अखिलेश यादव

यूपी में कब-कब वोटिंग

बता दें कि उत्तर प्रदेश में सात चरणों में मतदान होना है. इसकी शुरुआत 10 फरवरी को राज्य के पश्चिमी हिस्से के 11 जिलों की 58 सीटों पर मतदान के साथ होगी. दूसरे चरण में 14 फरवरी को राज्य की 55 सीटों पर मतदान होगा. उत्तर प्रदेश में तीसरे चरण में 59 सीटों पर, 23 फरवरी को चौथे चरण में 60 सीटों पर, 27 फरवरी को पांचवें चरण में 60 सीटों पर, तीन मार्च को छठे चरण में 57 सीटों पर और सात मार्च को सातवें चरण में 54 सीटों पर मतदान होगा. वहीं यूपी चुनाव के नतीजे 10 मार्च को आएंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button