बीजेपी के पूर्व विधायक राम इकबाल सिंह करेंगे ‘साइकिल’ की सवारी

उन्होंने अपनी सरकार में मंत्री अजय मिश्रा टेनी पर भी तंज कसा था। उन्होंने कहा था कि लखीमपुर खीरी कांड अजय मिश्र के उकसाने वाले भाषण के बाद ही हुआ था। ऐसे मंत्री को पद पर बने रहने का कोई हक नहीं रह जाता। सरकार को तत्काल कार्रवाई करते हुये उसे पद से हटा देना चाहिये।

बीजेपी के तेजतर्रार नेता राम इकबाल सिंह सपा में हुये शामिल

बीजेपी छोड़कर सपा में शामिल होने वाले नेताओं की लिस्ट में आज एक और नाम जुड़ गया है। बलिया के तेज़तर्रार बीजेपी नेता राम इकबाल सिंह ने आज समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव की ‘साइकिल’ में सवारी शुरू कर दी है। बीजेपी के पूर्व विधायक और प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य राम इकबाल सिंह ने आज सपा का दामन थाम लिया है। इससे प्रदेश की बीजेपी सरकार को एक और बड़ा झटका लगा है।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलायी। राम ​इकबाल सिंह ने भाजपा की नीतियों को लेकर कई सवाल उठाये हैं। बता दें कि राम इकबाल सिंह लखीमपुर ​खीरी कांड के समय से ही बीजेपी से नाराज चल रहे थे।

समाजवादी पार्टी ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिये यह खबर सबके साथ शेयर की है। उन्होंने लिखा है—

सपा का बढ़ता कारवां!

माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष जी के नेतृत्व में आस्था जताते हुए बलिया की चिलकहर विधानसभा से भाजपा के पूर्व विधायक श्री राम इकबाल सिंह जी अपने साथियों के साथ सपा में हुए शामिल।

आपका हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन।

समाजवादी पार्टी ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिये यह खबर सबके साथ शेयर की है। उन्होंने लिखा है—

उन्होंने किसान बिल को लेकर भी अपनी ही सरकार पर सवाल उठाया था। उन्होंने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुये कहा कि उन्हें कृषि कानून फौरन ही निरस्त कर देना चाहिये था।

उन्होंने अपनी सरकार में मंत्री अजय मिश्रा टेनी पर भी तंज कसा था। उन्होंने कहा था कि लखीमपुर खीरी कांड अजय मिश्र के उकसाने वाले भाषण के बाद ही हुआ था। ऐसे मंत्री को पद पर बने रहने का कोई हक नहीं रह जाता। सरकार को तत्काल कार्रवाई करते हुये उसे पद से हटा देना चाहिये।

बता दें कि केंद्र सरकार ने कृषि कानून भले ही वापस ले लिये हों, लेकिन उन्होंने अब तक अजय मिश्र टेनी को उनके मंत्री पद से नहीं हटाया है, जिससे नाराज होकर राम इकबाल सिंह ने बीजेपी का दामन छोड़कर अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया है।

इसे भी पढ़ें:

सपा में शामिल हुआ हरिशंकर तिवारी का परिवार, अखिलेश ने कहा, अब कोई नहीं हमारे मुकाबले

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button