सपा में शामिल हुआ हरिशंकर तिवारी का परिवार, अखिलेश ने कहा, अब कोई नहीं हमारे मुकाबले

रविवार को बाहुबली हरिशंकर तिवारी के बेटे और विधायक विनय शंकर तिवारी, पूर्व सांसद कुशल तिवारी और उनके भांजे गणेश शंकर पांडेय ने बसपा छोड़ सपा की सदस्यता ले ली. इस पर अखिलेश यादव ने कहा कि आज बहुत ही प्रतिष्ठित परिवार के लोग सपा में शामिल हो रहे हैं. कन्नौज के मेरे पहले चुनाव में कुशल तिवारी भी साथ थे. अब समाजवादी पार्टी का कोई मुकाबला नहीं कर सकता है. उन्होंने कहा कि अब समाजवादियों के साथ अंबेडकरवादी भी आ गए हैं. इसलिए 2022 में सपा की सरकार बनने जा रही है.

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में कई नए समीकरण बनते और बिगड़ते दिख रहे हैं. आने वाले चुनावों को ध्यान में रखते हुये प्रदेश की बीजेपी सरकार एड़ी चोटी का जोर लगा रही है, लेकिन फिर भी प्रदेश के बड़े बड़े नेताओं का समाजवादी पार्टी में शामिल होने का सिलसिला थमता नजर नहीं आ रहा. रविवार को पूर्वांचल के बाहुबली पंडित हरिशकंर तिवारी के दो बेटे और भांजे भी बसपा छोड़ सपा में शामिल हो गए हैं.

इनके अलावा भी कई लोग समाजवादी पार्टी में शामिल हुए हैं. इस अवसर पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की सरकार पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े 4 साल से प्रदेश में भेदभाव से काम हुआ है. सरकार ने जाति-धर्म के आधार पर काम किया है. उन्होंने कहा कि अंग्रेजों के डिवाइड और रूल से राज किया. बीजेपी लोगों को डराकर-मारपीट कर राज कर रही है.

सपा में अन्य दलों के नेताओं के शामिल होने से उत्साहित अखिलेश यादव ने कहा कि प्रतिष्ठित परिवार से जुड़े लोग आज सपा में शामिल हो रहे हैं. इससे सपा मजबूत हो रही है और सपा के मुकाबले अब कोई नहीं रह गया है. उन्होंने कहा कि आज पार्टी कार्यालय भरा है. बहुत से लोग बाहर जमा हैं. उन्होंने बीजेपी पर हमलावर होते हुये कहा कि कहीं इतनी भीड़ देखकर बुलडोजर सरकार यहां न आ जाए.

अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार ने पिछले साढ़े 4 साल में उप्र में भेदभाव पैदा करते हुए राज किया है. उन्होंने कहा कि अंग्रेजों ने डिवाइड और रूल के फार्मूले से राज किया. लेकिन बीजेपी लोगों को डराकर और मारपीट कर उन पर राज करना चाह रही है. सपा प्रमुख ने कहा कि योगी सरकार 4 साल से कह रही है कि टैबलेट मिलेगा, लेकिन सरकार अपने संकल्प पत्र पूरे नहीं कर पा रही है. उन्होंने कहा कि सरकार ने आने के बाद अपना संकल्प पत्र खोलकर नहीं देखा है.

अखिलेश यादव ने समाजवादी पार्टी के ट्विटर हैंडल पर लिखा,

सपा की नीतियों से प्रभावित होकर बसपा विधायक श्री विनय शंकर तिवारी जी, पूर्व सांसद श्री भीष्म शंकर उर्फ कुशल तिवारी जी, विधान परिषद के पूर्व सभापति श्री गणेश शंकर पाण्डेय जी, BJP विधायक श्री दिग्विजय नारायण उर्फ जय चौबे जी। अपने समर्थकों के साथ समाजवादी पार्टी में शामिल हुए।

सपा प्रमुख ने कहा, ”मैं पूर्वांचल के साथियों को भरोसा दिलाता हूं कि जब सपा सरकार थी तब लगातार एक्सप्रेसवे और डिस्ट्रिक हेडक्वाटर को फोर लेन से जोड़ा गया. बीजेपी सरकार ने कम गुणवत्ता का एक्सप्रेसवे बनाया है. एक बार फिर हमारी सरकार बनने के बाद हम गोरखपुर वाली सड़क बनाएंगे.

बता दें कि रविवार को बाहुबली हरिशंकर तिवारी के बेटे और विधायक विनय शंकर तिवारी, पूर्व सांसद कुशल तिवारी और उनके भांजे गणेश शंकर पांडेय ने बसपा छोड़ सपा की सदस्यता ले ली. इस पर अखिलेश यादव ने कहा कि आज बहुत ही प्रतिष्ठित परिवार के लोग सपा में शामिल हो रहे हैं. कन्नौज के मेरे पहले चुनाव में कुशल तिवारी भी साथ थे. अब समाजवादी पार्टी का कोई मुकाबला नहीं कर सकता है. उन्होंने कहा कि अब समाजवादियों के साथ अंबेडकरवादी भी आ गए हैं. इसलिए 2022 में सपा की सरकार बनने जा रही है.

इसे भी पढ़ें:

भाजपा सरकार में ‘राम राम जपना, पराया माल अपना’ का काम हो रहा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 − seven =

Related Articles

Back to top button