20 मार्च को एक होगी लालू और शरद यादव की पार्टी

कहते हैं राजनीति में कुछ भी असंभव नहीं होता. जिस पार्टी के खिलाफ पूरी राजनीति होती है उससे ही बाद में हाथ मिला लिया जाता है. उसके साथ सरकारें भी चलायी जाती है. ऐसा ही आने वाले दिनों में बिहार में भी देखने को मिलेगी. जी हाँ, शरद यादव ने अपनी पार्टी लोकतांत्रिक जनता दल को बिहार की सबसे बड़ी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल में विलय करने का एलान किया है.

खबरों के मुताबिक 20 मार्च को शरद यादव अपनी पार्टी को राष्ट्रीय जनता दल (RJD) में विलय करेगी. आपको बता दें कि 2018 में शरद यादव जनता दल यूनाइटेड (JDU) को छोड़कर अपनी पार्टी लोकतांत्रिक जनता दल का गठन किया था.

सूत्रों के मुताबिक़ पाँच राज्यों में आए चुनाव परिणाम में बीजेपी की जीत को देखते हुए जनता दल विचारधारा वाले को एक साथ लाने की ये कोशिश है. दूसरा पहलू ये भी है कि दोनों पार्टियों को एक साथ आ जाने के बाद राजद शरद यादव को राज्यसभा भेज सकता है.

जुलाई में बिहार से पाँच राज्यसभा सीटें खाली होने जा रही है. जिसमें दो सीटों पर भारतीय जनता पार्टी, एक सीट पर जनता दल यूनाइटेड और दो सीटों पर राष्ट्रीय जनता दल के पास आएगी. वहीं शरद यादव का भी इसी साल कार्यकाल खत्म हो रहा है.

गौरतलब है कि पिछले दिनों शरद यादव के दिल्ली स्थित आवास पर जाकर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने मुलाकात की थी, लेकिन उस दौरान उन्होंने कहा था कि उबका हाल चाल जानने के लिए गया था.

आज सुबह शरद यादव ने ट्वीट करते हुए कहा कि देश में मजबूत विपक्ष स्थापित करना समय की मांग है। मैं इस दिशा में न केवल बिखरी हुई तत्कालीन जनता दल बल्कि अन्य समान विचारधारा वाली पार्टियों को एकजुट करने के लिए लंबे समय से काम कर रहा हूँ और इसीलिए अपनी पार्टी एलजेडी का राजद में विलय करने का फैसला किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

five × 3 =

Related Articles

Back to top button