कांग्रेस निषाद समुदाय के लिए “नदी अधिकार यात्रा निकालेगी – प्रियंका

कांग्रेस पार्टी ने निषाद समुदाय के अधिकारों के लिए “नदी अधिकार यात्रा ” निकालने का निर्णय किया है. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने अपनी ट्विटर पोस्ट में यह जानकारी दी है. उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि , “कांग्रेस जन निषाद समुदाय के अधिकारों के लिए नदी अधिकार यात्रा निकालेंगे”.

श्रीमती प्रियंका गांधी ने कहा है कि नदी के संसाधनों पर प्राथमिक हक निषादों का है इस विचार के साथ बालू खनन के लिए निषादराज कोपरेटिव सोसायटी के गठन की माँग करते हैं।

कहना न होगा कि निषाद समुदाय के लोग पूरे उत्तर प्रदेश में गंगा यमुना और अन्य नदियों के किनारे पूरे उत्तर प्रदेश में बसे हैं.

पिछले कुछ दशक में नदियों में प्रदूषण से मछली कम हुई. जिन घाटों पर नावें चलती थीं वहाँ पक्के पुल बन गए . नदियों से आमदनी के एक और स्रोत बालू मोरंग पर बड़े ठेकेदारों का क़ब्ज़ा हो गया है. इन सबसे निषाद समुदाय में बेरोज़गारी और ग़रीबी बधी है.

हाल ही में कथित अवैध बालू खनन को लेकर प्रयागराज में पुलिस ने निषाद समुदाय के लोगों की नावें तोड़ कर उनको मारा पीटा भी था.

इनमें वे परिवार भी थे जो पिछले लोक सभा चुनाव में प्रियंका गांधी की गंगा यात्रा में शामिल थे. पिछले दिनों कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी बसवार दौरे पर आयी थीं जहां उन्होंने निषाद समाज के लोगों का दुःख दर्द साझा किया।

इससे पहले प्रियंका गांधी मौनी अमावस्या पर स्नान के लिए प्रयाग माघ मेले में गयीं और स्वयं नाव चलायी.

अब प्रियंका गांधी ने प्रयागराज में बसवार गांव में हुए पुलिसिया उत्पीड़न को लेकर “नदी अधिकार यात्रा ” निकालने का एलान किया है

कांग्रेस महासचिव ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि नदी के असली दावेदार एवं रक्षक निषाद समुदाय के लोग हैं। बंसवार, प्रयागराज में उप्र पुलिस के उत्पीड़न के विरुद्ध और निषाद समाज के अधिकारों के लिए हम लड़ेंगे।

उन्होंने ट्वीट करके लिखा है कि जिन निषाद परिवारों की नाव तोड़ी गई है सबको संयुक्त रूप से 10 लाख रुपए की आर्थिक मदद पार्टी करेगी।

ट्वीट के अंत में उन्होंने लिखा है कि सरकार बालू माफिया और बड़ी-बड़ी कंपनियों द्वारा किए जा रहे अवैध खनन की जांच करे एवं श्वेत पत्र जारी कर बताए कि कहां पर किन-किन नदियों में खनन किया जा रहा है।

निषाद समुदाय सामाजिक रूप से वर्ग में आते हैं. इस समुदाय की राजनीतिक यानी वोट की ताक़त है. इसे पहचानते हुए समाजवादी पार्टी नेता मुलायम सिंह यादव ने पार्टी में ख़ास महत्व दिया था. तमाम आलोचनाओं के बावजूद उन्होंने “बैंडिट क्वीन” के नाम से मशहूर फूलन देवी को भी मिर्ज़ापुर लोक सभा का टिकट देकर चुनाव जिताया था.

प्रियंका गांधी को उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाकर पार्टी को पुनर्जीवित करने की ज़िम्मेदारी दी गयी है. इसलिए वह किसान पंचायतें भी कर रही हैं. प्रियंका कांग्रेस पार्टी का संगठन और जनाधार दोनों मज़बूत करने के लिए लगातार मेहनत कर रही हैं.

राम दत्त त्रिपाठी, वरिष्ठ पत्रकार, लखनऊ

support media swaraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × two =

Related Articles

Back to top button