योगी सरकार ने टैबलेट और स्मार्टफोन को पूरी तरह सुरक्षित बताया, कहा- विपक्षी फैला रहे भ्रांतियां

राज्‍य सरकार ने पूरी तरह से स्‍पष्‍ट किया है कि ये टैबलेट और स्‍मार्टफोन पूरी तौर पर सुरक्षित हैं। युवाओं के पर्सनल डाटा इन डिवाइस में पूरी तौर पर सुरक्षित रहेंगे। राज्‍य सरकार की ओर से बताया गया कि कॉलिंग और वेब ब्राउज़िंग इतिहास, ईमेल और टेक्स्ट संदेश, संपर्क, पासवर्ड, तस्वीरें, फ़ाइले, फ़ोन नंबर और व्यक्तिगत प्रोफ़ाइल में ऐप्स और डेटा से जुड़ी कोई भी जानकारी टैबलेट व स्‍मार्टफोन में पूरी तौर पर सुरक्षित रहेगी।

टैबलेट और स्मार्टफोन पूरी तरह सुरक्षित

  • मोबाइल और टैबलेट का डाटा पूरी तौर पर सुरक्षित, मोबाइल और टैबलेट को लेकर फैलाई जा रही अफवाह का सरकार ने किया खंडन
  • योगी सरकार ने टैबलेट और स्‍मार्टफोन को लेकर फैलाई जा रही भ्रांतियों का किया खंडन
  • टैबलेट और स्‍मार्टफोन की निजता को लेकर उठ रहे सवालों पर योगी सरकार ने लगाया विराम
  • UP में युवाओं के पर्सनल डाटा से नहीं होगी छेड़छाड़, डिवाइस का डाटा पूरी तरह सुरक्षित
  • युवाओं के निजी डेटा को मॉनिटर नहीं कर सकती सरकार
  • विपक्षी दलों की ओर से टैबलेट और स्‍मार्टफोन को लेकर युवाओं के बीच फैलाई जा रही भ्रातियां – प्रदेश सरकार

लखनऊ: मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की ओर से प्रदेश के युवाओं को टैबलेट और स्‍मार्टफोन की बड़ी सौगात दी गई लेकिन विपक्षी दलों की ओर से टैबलेट और स्‍मार्टफोन को लेकर युवाओं के बीच कई तरह की भ्रातियां फैलाई जा रही है। इन सभी भ्रातियों का खंडन गुरुवार को प्रदेश सरकार ने किया है। राज्‍य सरकार ने पूरी तरह से स्‍पष्‍ट किया है कि ये टैबलेट और स्‍मार्टफोन पूरी तौर पर सुरक्षित हैं।

युवाओं के पर्सनल डाटा इन डिवाइस में पूरी तौर पर सुरक्षित रहेंगे। राज्‍य सरकार की ओर से बताया गया कि कॉलिंग और वेब ब्राउज़िंग इतिहास, ईमेल और टेक्स्ट संदेश, संपर्क, पासवर्ड, तस्वीरें, फ़ाइले, फ़ोन नंबर और व्यक्तिगत प्रोफ़ाइल में ऐप्स और डेटा से जुड़ी कोई भी जानकारी टैबलेट व स्‍मार्टफोन में पूरी तौर पर सुरक्षित रहेगी। डिजी शक्ति पोर्टल पर स्मार्टफोन और टैबलेट के सुरक्षा से जुड़े सवालों का जवाब उपलब्ध है।

सरकार द्वारा युवाओं को बांटे गए इन टैबलेट और स्‍मार्टफोन की निजता को लेकर उठ रहे सवालों को सिरे से खारिज करते हुए स्‍पष्‍ट किया है कि सरकार निजी डेटा को मॉनीटर नहीं कर सकती है। छात्रों के साथ शैक्षिक सामग्री साझा करने के लिए एमडीएम का उपयोग केवल फ्लैश के जरिए कर रहे हैं। छात्र लिंक पर क्लिक कर अध्ययन सामग्री का उपयोग कर सकते हैं। एंड्रायड एंटरप्राइज़-ग्रेड सुरक्षा सुविधाएं लीक और फ़िशिंग को रोकने में मदद करने के लिए एक साथ काम करती हैं।

डिजी शक्ति अध्ययन ऐप पूरी तौर पर सुरक्षित, छात्रों को मिलेगी सहूलियत

सीएम योगी डिजी शक्ति पोर्टल और डिजी शक्ति अध्ययन ऐप को भी लांच किया था। सभी स्मार्टफोन और टैबलेट में डिजी शक्ति अध्ययन ऐप इंस्टाल है। इस ऐप के जरिए से संबंधित यूनिवर्सिटी या डिपार्टमेंट छात्रों को पढ़ाई के लिए कंटेंट दिया जाएगा। इसके साथ ही शासन की ओर से बूट लोगो और वाल पेपर के माध्यम से रोजगार परक योजनाओं आदि की भी जानकारी मिलेगी।

सरकार की ओर से नामी आईटी कंपनी इंफोसिस से अनुबंध किया जा रहा है। इससे इंफोसिस के शिक्षा और रोजगार से जुड़े 39 सौ प्रोग्राम निशुल्क युवाओं को उपलब्ध होंगे। आईटी एंड इलेक्ट्रानिक्स विभाग के विशेष सचिव कुमार विनीत ने बताया कि दरअसल, यह योजना सिर्फ निशुल्क स्मार्टफोन और टैबलेट वितरण की नहीं है। यह योजना का आरंभ है। स्मार्टफोन और टैबलेट के जरिए युवाओं को पढ़ाई, प्रतियोगी परीक्षाओं और रोजगार के लिए बेहतरीन कंटेंट उपलब्ध कराया जाएगा। जिसके माध्यम से वह स्वावलंबी और आत्मनिर्भर बन सकेंगे।

इसे भी पढ़ें:

लखीमपुर खीरी हिंसा : सत्ता का नशा छोड़कर किसानों से बात करें प्रधानमंत्री

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button