उत्तराखंड: नए बिजली कनेक्शन के लिए अब उपभोक्ताओं देना होगा अधिक शुल्क

अब उत्तराखंड में बिजली का नया कनेक्शन लेने पर उपभोक्ताओं को जेब ज्यादा ढीली करनी पड़ेगी। उत्तराखंड विद्युत नियामक आयोग (यूईआरसी) ने बीपीएल (गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाले लोग) को छोड़कर अन्य सभी श्रेणियों में नए कनेक्शन का शुल्क बढ़ा दिया है। साथ ही इसे लागू भी कर दिया गया है। लो टेंशन (एलटी) कनेक्शन के शुल्क में आठ वर्ष तो हाई टेंशन (एचटी) व एक्स्ट्रा हाई टेंशन (ईएचटी) कनेक्शन के शुल्क में 12 वर्ष बाद बदलाव किया गया है।

मीटर टेस्टिंग की होगी वीडियोग्राफी
मीटर टेस्टिंग के दौरान वीडियोग्राफी करने के साथ ही साइट से मीटर उतारकर टेस्टिंग लैब तक ले जाने के लिए विशेष टेंपरप्रूफ बैग का इस्तेमाल किया जाएगा। यूईआरसी ने ऑनलाइन आवेदन के बाद उपभोक्ता की ओर से वितरण अनुज्ञापी के पास आवेदन से संबंधित दस्तावेज जमा करने की अनिवार्यता भी समाप्त कर दी है। यह दरें भूमिगत (अंडरग्राउंड) और ओवरहेड (विद्युत पोल पर खिंची लाइन) पर लागू होंगी।

40 मीटर दूरी के लिए कनेक्शन शुल्क
लो टेंशन लाइन के लिए
बीपीएल
ओवरहेड: पहले 100 रुपये अब 100 रुपये
अंडरग्राउंड: पहले शून्य अब 300 रुपये
चार किलोवाट तक
ओवरहेड: पहले 1000 रुपये प्रति 10 मीटर अब 1500 रुपये प्रति 10 मीटर पर
अंडरग्राउंड: पहले शून्य अब 4500 रुपये प्रति 10 मीटर
चार किलोवाट तक (प्रीपेड मीटर)
ओवरहेड: पहले 1000 रुपये प्रति 10 मीटर अब 1500 रुपये प्रति 10 मीटर पर
अंडरग्राउंड: पहले शून्य अब 4500 रुपये प्रति 10 मीटर
चार से दस किलोवाट तक
ओवरहेड: पहले 1500 रुपये अब 2000 रुपये
अंडरग्राउंड: पहले 3000 रुपये अब 5000 रुपये
चार से दस किलोवाट (प्रीपेड मीटर)
ओवरहेड: पहले शून्य अब 2000 रुपये

अंडरग्राउंड: पहले शून्य अब 5000 रुपये
दस से 25 किलोवाट तक
ओवरहेड: पहले 2500 रुपये अब 4000 रुपये
अंडरग्राउंड: पहले 5000 रुपये अब 10 हजार रुपये
दस से 25 किलोवाट (प्रीपेड मीटर)
ओवरहेड: पहले शून्य अब 4000 रुपये
अंडरग्राउंड: पहले शून्य अब 10 हजार रुपये
एचटी लाइन के लिए
11 केवी कनेक्शन

टर्मिनल उपकरण: पहले 1.5 लाख रुपये अब दो लाख रुपये
फीडर: पहले चार लाख रुपये अब छह लाख रुपये
ओवरहेड लाइन: पहले 40 हजार रुपये प्रति 100 मीटर अब 80 हजार रुपये प्रति 100 मीटर
अंडरग्राउंड केबल: पहले 1.5 लाख रुपये प्रति 100 मीटर अब तीन लाख रुपये प्रति 100 मीटर
ईएचटी लाइन के लिए
33 केवी कनेक्शन
टर्मिनल उपकरण: पहले 10 लाख रुपये अब 20 लाख रुपये

ओवरहेड लाइन: पहले 75 हजार रुपये प्रति 100 मीटर अब 1.25 लाख रुपये प्रति 100 मीटर
अंडरग्राउंड केबल: पहले 2.5 लाख रुपये प्रति 100 मीटर अब पांच लाख रुपये प्रति 100 मीटर
सिक्योरिटी चार्ज
बीपीएल: पहले 100 रुपये अब 100 रुपये
चार किलोवाट तक (घरेलू): पहले 400 रुपये अब 600 रुपये
चार किलोवाट तक (कॉमर्शियल): पहले 1000 अब 1500 रुपये

support media swaraj

Related Articles

Back to top button