योगी सरकार एक करोड़ युवकों को टैबलेट- स्मार्टफोन देगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि सरकार ने नौजवानों के लिए 03 हजार करोड़ रुपए की एक निधि का गठन किया है, इसके तहत 01 करोड़ नौजवानों को टैबलेट/स्मार्टफोन की सुविधा उपलब्ध करायी जाएगी. सरकार स्नातक, परास्नातक, तकनीकी और डिप्लोमा करने वाले नौजवानों को इस योजना से जोड़ेगी. आवश्यकता के अनुरूप उन्हें डिजिटल एक्सेस फ्री उपलब्ध कराया जाएगा। इस निधि के विकास के लिए सी0एस0आर0, वित्तीय संस्थाओं, विश्वविद्यालयों और अन्य संस्थाओं का भी सहयोग प्राप्त किया जाएगा। उन्होंने कहा कि एक नौजवान को कम से कम 03 प्रतियोगी परीक्षाओं में जाने के लिए राज्य सरकार भत्ता देगी। 

विधान सभा में अपने संबोधन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कहा कि वर्ष 2021-22 का अनुपूरक बजट प्रदेश के कोरोना वॉरियर्स और युवाओं को समर्पित है। प्रदेश सरकार ने युवाओं को रोजगार व नौकरी प्रदान करते हुए, उनके स्वावलम्बन के लिए विभिन्न क्षेत्रों में अनेक कार्य किए हैं। प्रदेश सरकार ने अपने कार्यकाल में अब तक साढ़े चार लाख से अधिक युवाओं को सरकारी नौकरी से जोड़ा है। आज प्रदेश में बेरोजगारी की दर 17.5 प्रतिशत से घटकर 5 प्रतिशत से नीचे आ गई है। 

मानदेय में बढ़ोत्तरी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि निगरानी समितियों ने कोरोना कालखण्ड में बहुत अच्छा काम किया था। इसलिए आंगनवाड़ी कार्यकर्त्री, सहायक कार्यकर्त्री, आशा, आशा संगिनी, पी0आर0डी0 जवान, रोजगार सेवक के मानदेय में बढ़ोत्तरी करने का काम प्रदेश सरकार करेगी। उन्होंने कहा कि कोरोना की विभीषिका के दौरान भी हमारे सरकारी कार्मिक कार्यरत रहे हैं। 01 जुलाई, 2021 से 16 लाख सरकारी कर्मचारियों एवं 12 लाख पेंशनर्स को 28 प्रतिशत मंहगाई भत्ता और मंहगाई राहत का भुगतान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 17 प्रतिशत महंगाई भत्ता और महंगाई राहत सम्प्रति था, इसमें प्रदेश सरकार द्वारा 11 प्रतिशत अतिरिक्त की बढ़ोत्तरी की गयी है। अधिवक्ताओं की सामाजिक सुरक्षा निधि को 1.50 लाख रुपए से बढ़ाकर 05 लाख रुपए किया गया है। 

6 लाख निराश्रित गौवंश गौ-आश्रय स्थलों में

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश में 06 लाख निराश्रित गौवंश निराश्रित गौ-आश्रय स्थलों में संरक्षित हैं। निराश्रित गौवंश के लिए 03 योजनाएं संचालित हैं। पहली योजना गौ-आश्रय स्थल करने की है, जबकि दूसरी के तहत किसानों को 04 गौवंश रखने की अनुमति दी गई है। 90 हजार गौवंश किसान अपने घर में पाल रहा है। प्रति गौवंश 900 रुपए हर महीने उस किसान को उपलब्ध कराए जा रहे हैं। तीसरी योजना के माध्यम से कुपोषित माताओं अथवा कुपोषित बच्चों के परिवारीजनों को एक दुधारू गाय उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है। 

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश में माफियाराज को समाप्त करते हुए सरकार ने 1500 करोड़ रुपए की अवैध सम्पत्ति जब्त की है। इस सम्पत्ति पर गरीबों के लिए आवास निर्मित किए जाएंगे। अब माफियाओं द्वारा कब्जा की गई जमीन पर गरीब और दलितों के आवास बनाए जाएंगे, यह सामाजिक न्याय है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मजबूत कानून व्यवस्था के परिणामस्वरूप उत्तर प्रदेश, देश में निवेश का सबसे बड़ा गंतव्य स्थल बना है। ‘ईज़ ऑफ डुईंग बिजनेस’ में प्रदेश 14वें स्थान से दूसरे स्थान पर आ चुका है। प्रदेश सरकार के प्रयासों एवं बढ़ते निवेश से रोजगार में वृद्धि हुई है। 01 करोड़ 61 लाख से अधिक नौजवानों को निजी क्षेत्र में रोजगार प्राप्त हुआ है तथा 60 लाख से अधिक युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ा गया है। 

प्रधानमंत्री जी ने वर्ष 2014 में रिफॉर्म, परफॉर्म तथा ट्रांसफॉर्म के 03 मंत्र दिए थे। उत्तर प्रदेश सरकार ने उसे अक्षरशः लागू किया है। पिछले 05 वर्ष के दौरान प्रदेश के बजट का दायरा लगभग दोगुना हुआ है। आज बजट का दायरा लगभग 06 लाख करोड़ रुपए हो गया है। वर्ष 2015-16 में लगभग ढाई लाख करोड़ रुपए का बजट था। वर्ष 2016-17 में 03 लाख 40 हजार करोड़ रुपए का बजट आया।

प्रति व्यक्ति आय लगभग दोगुनी

पिछले 05 वर्षों के दौरान प्रदेश में प्रति व्यक्ति आय लगभग दोगुनी हुई है। वर्ष 1947 से वर्ष 2017 तक प्रदेश में प्रति व्यक्ति आय में जितनी वृद्धि हुई, विगत 05 वर्षों के दौरान प्रदेश की इस विकास यात्रा में हम प्रति व्यक्ति आय को वहां तक पहुंचाने में सफल हुए हैं। 05 वर्ष पहले प्रदेश की जी0एस0डी0पी0 लगभग 10-11 लाख करोड़ रुपए था, आज हम इसे 20-21 लाख करोड़ रुपए तक पहुंचाने में सफल हुए हैं। वर्ष 2015-16 में उत्तर प्रदेश देश की छठी अर्थव्यवस्था था, मात्र साढ़े चार वर्षों के दौरान जो परिश्रम हुआ, उसके परिणामस्वरूप उत्तर प्रदेश आज देश की दूसरी अर्थव्यवस्था बन गया है। ‘ईज़ ऑफ डुईंग बिजनेस’ में वर्ष 2015-16 में उत्तर प्रदेश 16वें नम्बर पर था। आज उत्तर प्रदेश द्वितीय स्थान पर है। आज दुनिया में भारत निवेश का सबसे अच्छा गंतव्य है, वहीं देश के अन्दर उत्तर प्रदेश निवेश का सबसे अच्छा गंतव्य बना है। 

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि पौराणिक एवं ऐतिहासिक परम्परा के स्थानों का सुन्दरीकरण करा रही है। प्रदेश में देश के महापुरुषों के सम्मान में विभिन्न स्मारकों का निर्माण एवं उनके सौन्दर्यीकरण के कार्य किये जा रहे हैं। प्रदेश सरकार लखनऊ में बाबा साहब डॉ0 भीम राव आंबेडकर की स्मृति में एक स्मारक बनाने जा रही है। इसके लिए इस बजट में धनराशि की व्यवस्था की गई है। अयोध्या और काशी के विकास के लिए भी बजट का प्रावधान रखा गया है। प्रधानमंत्री जी के विजन के अनुरूप काशी विश्वनाथ धाम दुनिया में भारत के पौराणिक वैभव को प्रस्तुत करने जा रहा है। ब्रज तीर्थ विकास परिषद के माध्यम से ब्रज क्षेत्र का सम्पूर्ण विकास हो रहा है। माँ विन्ध्यवासिनी धाम का सौन्दर्यीकरण किया जा रहा है। आध्यात्मिक पर्यटन, ईको टूरिज्म, हेरिटेज टूरिज्म में प्रदेश की अग्रणी भूमिका है। भगवान राम और भगवान कृष्ण का जन्म उत्तर प्रदेश में हुआ। बाबा विश्वनाथ का धाम उत्तर प्रदेश में है। तमाम शक्तिपीठ उत्तर प्रदेश में हैं। प्रयागराज कुम्भ-2019 को सुव्यवस्थित एवं सुरक्षित ढंग से आयोजित किया गया। पर्यटन के क्षेत्र में उत्तर प्रदेश आज प्रथम स्थान पर है। 

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से जो बच्चे अनाथ हो गए हैं, उनके कल्याण के लिए ‘उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना’ शुरू की गई है। इसके तहत उन गरीब बच्चों को अटल आवासीय विद्यालयों में आधुनिक शिक्षा के साथ-साथ 4,000 रुपए मासिक छात्रवृत्ति की व्यवस्था की गई है, जिसकी पहली 03 माह की किस्त बच्चों को प्रदान की जा चुकी है। 

उन्होंने कहा कि निराश्रित हुई महिलाओं के लिए भी हम एक योजना लेकर आ रहे हैं। कोरोना कालखण्ड के अन्दर जिन लोगों का अमूल्य जीवन समाप्त हुआ है, उनके परिवार में भी कोई बच्चे इस प्रकार के होंगे, उनके भी आच्छादन के लिए योजना लेकर आए हैं।

support media swaraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two + five =

Related Articles

Back to top button