यूपी में 7 से 8 चरणों में होंगे मतदान, जल्द होगा तारीखों का ऐलान

चुनाव आयोग से आ रही खबरों के मुताबिक 5 जनवरी तक वोटर लिस्ट की समीक्षा की आखिरी तारीख है, ऐसे में अंदाजा यह लगाया जा रहा है कि 5 जनवरी के बाद कभी भी न सिर्फ चुनाव की तारीखों का ऐलान हो जाएगा, बल्कि चुनाव से पहले आचारसंहिता भी लगा दी जाएगी.

5 जनवरी के बाद चुनाव का ऐलान कभी भी

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियां अपना पूरा दम खम लगा रही हैं. वहीं, मतदान को लेकर इस बीच खबरें मिल रही हैं कि इस बार 7 से 8 चरणों में मतदान संपन्न कराए जाएंगे, जबकि 5 जनवरी के बाद कभी भी चुनाव की तारीखों का ऐलान हो सकता है.

यूपी में चुनाव आयोग की तैयारियों और मीडिया में चल रही खबरों के के मुताबिक 5 जनवरी के बाद चुनाव का ऐलान कभी भी हो सकता है और साल 2017 में हुए विधानसभा चुनाव की तारीखों की तरह ही इस बार भी 2022 में फरवरी और मार्च के पहले सप्ताह तक चुनाव खत्म हो सकते हैं.

चुनाव आयोग से आ रही खबरों के मुताबिक 5 जनवरी तक वोटर लिस्ट की समीक्षा की आखिरी तारीख है, ऐसे में अंदाजा यह लगाया जा रहा है कि 5 जनवरी के बाद कभी भी न सिर्फ चुनाव की तारीखों का ऐलान हो जाएगा, बल्कि चुनाव से पहले आचारसंहिता भी लगा दी जाएगी.

मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक क्रिसमस के आसपास चुनाव आयोग की फुल बेंच लखनऊ में तैयारियों की आखिरी समीक्षा कर सकती है. जिस तरह से साल 2017 में 17 जनवरी से 8 मार्च तक नामांकन से लेकर मतदान तक सम्पन्न कराए गए थे, इस बार भी चुनाव इन्हीं तिथियों के आसपास सम्पन्न होंगे.

चुनाव आयोग के सूत्रों से मिल रही खबरों के मुताबिक चुनाव आयोग का एक दल आज पंजाब पहुंच गया है और ये दल गुरुवार तक पंजाब का दौरा करेगा. बता दें कि अगले साल उत्तर प्रदेश के अलावा उत्तराखंड, मणिपुर, गोवा और पंजाब में भी विधानसभा चुनाव होनेवाले हैं और चुनाव को लेकर चुनाव आयोग की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं.

चुनाव आयोग का एक दल अगले हफ्ते गोवा दौरे पर निकलने की तैयारी में है. गोवा दौरे से लौटने के बाद निर्वाचन आयोग का दल उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और मणिपुर का दौरा भी करेगा. अगले साल फरवरी-मार्च में होने वाले विधानसभा चुनाव वाले पांच राज्यों में चुनावी तैयारियों का जायजा लेने की कड़ी में आयोग का यह पहला दौरा है. पांचों राज्यों की मौजूदा विधानसभाओं का कार्यकाल मार्च से मई के बीच पूरा हो जाएगा.

इसे भी पढ़ें:

यूपी विधानसभा चुनाव : नजरिया पुराना, हकीकत नयी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button