ओडिशा के गांधीजनों ने साबरमती आश्रम का पुनर्निर्माण बंद करने की माँग की


ओडिशा के सर्वोदय कार्यकर्ताओं और अन्य संगठनों ने प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजकर साबरमती सत्याग्रह आश्रम अहमदाबाद का पुनर्निर्माण बंद करने की माँग की है। इसके लिए ओड़िशा का राज्यपाल को एक ज्ञापन सौंपा गया।

एक प्रतिनिधिमंडल ने सर्व सेवा संघ के महामंत्री श्री गौरंग महापात्र के अगुवाई में ओडिशा के राज्यपाल प्रोफेसर गणेशी लाल को पुनर्निर्माण को बंद करने के लिये एक स्मारक पत्र दिया।प्रतिनिधिमंडल में ओडिशा नागरिक मंच के अध्यक्ष, गांधी वादी युवा संगठन के सलाहकार और सर्व सेवा संघ के गांधी तत्व प्रचार समिति के सदस्य प्रोफेसर डा भगबान प्रकाश, राज्य समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष श्री रवि बेहेरा शामिल थे।
इस ज्ञापन मैं साबरमती सत्याग्रह आश्रम के पुनर्निर्माण को हर हाल मैं बंद करना और इसके लिए निर्धारित बारह सौ करोड़ रुपए शांति, अहिंसा शिक्षा के साथ- साथ रिसर्च पर खर्च किया जाए जिससे आम आदमी को प्रेरणा मिलेगी।
मान लिया जाय कि गांधी अब जिंदा होते, तब गांधी कब सरकारी अनुदान से साबरमती के पुनर्निर्माण को मंजूरी नहीं देते।अब तक साउथ अफ़्रीका और भारत मैं जितने आश्रम है, यह सब जनता के दान से चल रहे है। गांधी आश्रम हमारा धरोहर है और हृदय कुंज भारत के आत्मा है। इसको होटल बनाना गाँधीजनों के लिये हरगिज़ मंजूर नहीं है।
राज्यपाल ने ज्ञापन को समझने के बाद कहा कि गांधी आश्रम का कोई फेर बदल नहीं होना चाहिए, बल्कि केंद्र सरकार, गाँधीजी के त्याग को विश्व धरोहर में लेना चाहते है तो किसी को इस मामले में एतराज नहीं होना चाहिए। राज्यपाल ने कहा कि यह ज्ञापन राजभवन तरफ से केंद्र सरकार को भेज दिया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

fourteen + 4 =

Related Articles

Back to top button