जनरल रावत समेत 11 लोगों की हेलिकॉप्टर दुर्घटना में हुई मौत का कारण आया सामने

जनरल रावत दुर्घटना रिपोर्ट

नई दिल्ली: बीते महीने हेलिकॉप्टर दुर्घटना में हुई CDS जनरल रावत की मौत को लेकर IAF द्वारा गठित दुर्घटना पर ट्राई-सर्विसेज ने हादसे की वजह बताई है। दुर्घटना की जांच कर रही टीम ने उड़ान डेटा रिकॉर्डर और कॉकपिट वॉयस रिकॉर्डर का विश्लेषण किया। साथ ही, घटना के दौरान मौके पर उपलब्ध सभी गवाहों से पूछताछ के बाद दुर्घटना के सबसे संभावित कारण की जानकारी दी।

ट्राई-सर्विसेज कोर्ट आफ इन्क्वायरी ने अपने प्रारंभिक निष्कर्षों में फ्लाइट डेटा रिकार्डर और काकपिट वायस रिकार्डर का विश्लेषण किया। इसमें हेलीकाप्टर में किसी भी तरह की तकनीकी खराबी, लापरवाही या किसी तरह की साजिश से इनकार किया गया है। साथ ही कहा गया कि कि दुर्घटना मौसम में अप्रत्याशित परिवर्तन के कारण हुई थी। जिसके कारण पायलट का भटकाव हुआ। अपने निष्कर्षों के आधार पर कोर्ट आफ इंक्वायरी ने कुछ सिफारिशें की हैं जिनकी समीक्षा की जा रही है।

तीनों सेनाओं की जांच ने पिछले सप्ताह अपने प्रारंभिक निष्कर्ष रक्षा मंत्री को सौंपे थे। जांच ने दुर्घटना के कारण के रूप में यांत्रिक विफलता, तोड़फोड़ या लापरवाही से इनकार किया है।

भारतीय वायु सेना के बयान के अनुसार दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना का कारण घाटी में मौसम की स्थिति में अप्रत्याशित बदलाव को बताया गया है। जांच का नेतृत्व एयर आफिसर कमांडिंग-इन-चीफ ट्रेनिंग कमांड एयर मार्शल मानवेंद्र सिंह ने किया।

जांच दल ने दुर्घटना के सबसे संभावित कारण को निर्धारित करने के लिए सभी उपलब्ध गवाहों से पूछताछ के अलावा फ्लाइट डेटा रिकार्डर और काकपिट वायस रिकार्डर का विश्लेषण किया। कोर्ट आफ इंक्वायरी ने दुर्घटना के कारण के रूप में यांत्रिक विफलता, तोड़फोड़ या लापरवाही से इनकार किया है। घाटी में मौसम की स्थिति में अप्रत्याशित बदलाव के कारण पायलट का स्थानिक भटकाव हुआ जिससे दुर्घटना हुई।

रिपोर्ट में कहा गया कि इससे पायलट का स्थानिक भटकाव हुआ, जिसके परिणामस्वरूप नियंत्रित उड़ान इलाके में हुई। अपने निष्कर्षों के आधार पर कोर्ट आफ इंक्वायरी ने कुछ सिफारिशें की हैं, जिनकी समीक्षा की जा रही है।

इसे भी पढ़ें:

बता दें कि भारतीय वायु सेना (IAF) ने 8 दिसंबर को Mi-17 हेलिकॉप्टर दुर्घटना पर केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को एक विस्तृत त्रि-सेवा जांच रिपोर्ट पेश की थी।

आपको याद दिला दें कि पिछले महीने चीफ आफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी समेत कुल 11 लोगों की विमान दुर्घटना में हुई मौत की जांच की रिपोर्ट सामने आ चुकी है। जांच में खुलासा हुआ है कि दुर्घटना मौसम खराब होने के वजह से पायलट से हुई गलती के कारण हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × four =

Related Articles

Back to top button