गंगा स्वच्छता पखवाड़ा : उत्तरकाशी में देवदार के पौधों का वृक्षारोपण


नहीं रुकेंगे, नहीं थकेंगे माँ गंगा को स्वच्छ रखेंगे – के नारे के साथ आज गंगा स्वच्छता पखवाड़ा के तहत गंगा विचार मंच उत्तराखंड के तत्वावधान में बुधवार को उत्तरकाशी में चौरंगीखाल के उयाली के जंगल में देवदार के पौधों का वृक्षारोपण किया गया।
गंगा विचार मंच के प्रदेश संयोजक लोकेन्द्र सिंह बिष्ट ने कहा कि जंगल हैं तो जल है, जल है तो कल है। इसी थींम के साथ गंगा की स्वच्छता, निर्मलता व अविरलता के लिए गंगा के बहाव वाले क्षेत्र में सघन वृक्षारोपण लगातार जारी रखने की जरूरत है।
देशभर में नमामि गंगे, राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन, जलशक्ति मंत्रालय भारत सरकार के द्वारा 16 मार्च से 31 मार्च तक गंगा स्वच्छता पखवाड़ा मनाया जा रहा है। इस कार्यक्रम के तहत वृक्षारोपण,श्रमदान, नदी, तालाबों पोखरों की स्वच्छता व जीर्णोद्धार,गंगा चौपाल, गंगा स्वछता कार्यक्रम, गंगा सपथ, सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन हों रहा है , खासकर गंगा के बहाव वाले पांच राज्यों उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल में।
इसी गंगा स्वच्छता पखवाड़ा के तहत 17 मार्च को उत्तरकाशी में गंगा विचार मंच ने प्रदेश संयोजक लोकेन्द्र सिंह बिष्ट के नेतृत्व में वृक्षारोपण किया। वृक्षारोपण में देवदार के 50 व अन्य प्रजातियों के 30 पौधों का रोपण किया गया।।
वृक्षारोपण से पहले गंगा विचार मंच के कार्यकर्ताओं ने माँ गंगा को स्वच्छ, निर्मल व अविरल बनाने की गंगा सपथ ली ।
वृक्षारोपण में वन विभाग के धौंत्री रेंज के रेंजर प्रदीप सिंह बिष्ट ने कहा कि अपने उत्तरकाशी में पर्याप्त जंगल क्षेत्र है। इसके बावजूद खाली हिस्सों पर भारत सरकार के नमामि गंगे जलशक्ति मंत्रालय व गंगा विचार मंच के सहयोग से वृक्षारोपण का कार्य जारी है।।
आज के गंगा स्वच्छता पखवाड़े में गंगा विचार मंच के गजेंद्र बिष्ट, नरेश रावत, दुर्गेश नॉटियाल, कृष्ना राणा, गजेंद्र चौहान, प्रवेश राणा, सौराभ राणा, संजय राणा, धनपाल चौहन, वन विभाग रामोल, कल्याण सिंग रावत,लोक निर्माण विभाग से भाव सिंह महर, बद्री सिंह राणा, सुनीलराणा, गोविंद राणा, गोपाल राणा, शेर सिंह राणा आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button