मिर्जापुर-2 पर विवाद, भाजपा नेता वीणा पाण्डेय ने की रोक लगाने की मांग

भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय नेता एवं पूर्व विधान परिषद सदस्य डॉ० वीणा पाण्डेय ने कहा की अमेजन प्राइम की वेबसिरीज मिर्ज़ापुर-2 ने मिर्ज़ापुर जैसे शांत क्षेत्र की छवि को जैसे प्रस्तुत किया है, वह सच्चाई से दूर है।

डॉ. वीणा पाण्डेय ने कहा कि मिर्ज़ापुर अध्यात्म की नगरी है, वहाँ विंध्याचल, काली खोह, अष्टभुजा, अहरौरा स्थित भंडारी देवी जैसे प्रमुख धाम हैं। विंढम, अहरौरा स्थित लखनिया दरी जैसे आकर्षक पर्यटन स्थल हैं; चौधरी बद्रीनारायण उपाध्याय ‘प्रेमघन’ जैसे प्रसिद्ध साहित्यकारों की जन्म एवं कार्यस्थली रही है जिन्होंने आचार्य रामचंद्र शुक्ल जैसे साहित्यकारों को आश्रय देकर साहित्य सेवा हेतु प्रोत्साहन दिया; लोकगीत मिर्जापुरी कजरी आपस में प्रेम, सौहार्द एवं शांति का संदेश देने वाला प्रसिद्ध लोकगीत रहा है, पीतल, क़ालीन एवं दरी का उद्योग का केंद्र रहा है और प्रमुख स्वतंत्रता सेनानियों का केंद्र रहा है, उस मिर्ज़ापुर को विकृत तरीक़े से जातीय संघर्ष एवं हिंसा का केंद्र दिखाना अत्यंत निंदनीय एवं चिंतनीय है। इससे समाज में ग़लत संदेश जाता है और इतिहास विकृत होता है। प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी तथा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय आदित्यनाथ योगी जी से निवेदन है की इस तरह से संस्कार विहीन एवं इतिहास को विकृत करने वाले तथा जातीय वैमनस्य फैलाने वाले किसी भी प्रयास को रोकने का कार्य करें तथा ज़िला प्रशासन एवं पुलिस को स्पष्ट निर्देश दें की भविष्य में इस तरह के सीरियल आदि की शूटिंग करने की अनुमति ना दें।

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button