यूपी: एमएलसी चुनाव में ज़ोर ज़बरदस्ती की शिकायत

उत्तर प्रदेश में स्थानीय प्राधिकारी क्षेत्र से विधान परिषद चुनाव में ज़ोर ज़बर्दस्ती की शिकायत आ रही है़
एटा जनपद में आज मथुरा, एटा, मैनपुरी स्थानीय प्राधिकारी एमएलसी चुनाव के नामांकन के दौरान पुलिस और प्रशासन की मौजूदगी में समाजवादी पार्टी के दो प्रत्यशियों के दूसरे सेट के नामांकन पत्र छीनकर फाड़ दिए गए ।नामांकन पत्र फाड़ने का आरोप बीजेपी कार्यकर्ताओं पर है। बीच सपा प्रत्याशियों के साथ मारपीट भी हुई। सपा प्रत्याशियों को बीजेपी कार्यकर्ताओं ने नामांकन रूम में घुसने भी नही दिया। इस दौरान दोनो तरफ से जमकर मारपीट हुई और पुलिस ने लाठियां भी भांजी। सपा प्रत्याशी उदयवीर सिंह धाकरे ने शासन सत्ता के दवाब में अधिकारियों के सहयोग से दूसरे सेट का नामांकन न करने देने का आरोप लगाया है।

आज मथुरा, एटा, मैनपुरी स्थस्नीय प्राधिकारी एमएलसी के निर्वाचन के लिए नामांकन का आखिरी दिन था। इसी दौरान सपा प्रत्याशी उदय वीर सिंह धाकरे और राकेश यादव अपना नामांकन का पहला सेट दाखिल कर जा चुके थे। इस बीच बीजेपी प्रत्यशी आशीष यादव अपना नामांकन कर रहे थे। बीजेपी के दूसरे प्रत्याशी ओमप्रकाश सिंह भी अपना नामांकन कर जा चुके थे। 

इसी बीच ढाई बजे के लगभग सपा प्रत्याशी उदयवीर सिंह राठौर और राकेश यादव अपने नामांकनों का दूसरा सेट दाखिल करने अपने अधिवक्ता उपेंद्र पाल के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचे। जैसे ही वे नामांकन परिसर के पास जिला अधिकारी आवास के गेट के पास पहुंचे तो वहाँ पर पहले से ही घात लगाए कुछ लोगों ने दोनो सपा प्रत्याशियों के नामांकन के दूसरे सेट उनके वकील उपेंद्र पाल के हांथ से छीन लिए। इस बीच वहाँ तैनात पुलिस फ़ोर्स तमाशबीन बना रहा। जैसे ही नामांकन पत्र छीने गए तो जिसने नामांकन पत्र छेने थे उसको सपा प्रत्याशी के साथ के लोगो ने दौड़ाकर पकड़ लिया। परंतु उसने पकड़े जाने से पूर्व छीने हुए नामांकन पत्र अपने अन्य साथियों को दे दिए जो छीने हुए नामांकन पत्रों को लेकर भाग गए।ये सब प्रकरण जब हो रहा था तब वहां पुलिस और प्रशाशनिक अधिकारी मूक दर्शक बने रहे। 

इसके बाद जिस व्यक्ति ने नामांकन पत्र छीने थे उसको पकड़ कर सपा के कार्यकर्ताओं ने पिटाई लगा दी। इस बीच पूर्व से एकत्रित सैकड़ो लोगो की भीड़ ने सपा प्रत्याशियों पर हमला कर दिया और समय रहने के वावजूद दोनो सपा प्रत्याशियों को अंदर नही जाने दिया गया क्योंकि वे 3 बजे की अंतिम समय सीमा गुजार देना चाहते थे और हुआ भी यही।

इस बीच सैकड़ो अवांछित लोग नामांकन परिसर के अंदर घुस गए जिनपर पुलिस ने लाठी चार्ज भी किया। 

सपा प्रत्याशी उदयवीर सिंह धाकरे ने बीजेपी कार्यकर्ताओं पर शासन प्रशासन की मिली भगत से नामांकन पत्र छीनने का आरोप लगाया है । उंन्होने कहा है कि आज सुबह ही मैंने एटा एसएसपी से कहा था कि पर्चा छीनकर फाड़ने की प्लानिंग चल रही है। वकील साहब दोनो प्रत्याशियों के पर्चा हाथ मे लिए थे इनसे पर्चा छीनकर भागा है। उसको पकड़ लिया गया तो उसने दूसरे को फेंक दिया । उस पकड़े हुए व्यक्ति को यहाँ के पुलिस के अधिकारी ने छुड़ा लिया जिसने पकड़ा था उसको पीटकर। उन्होंने बताया कि अभी 2 बजकर 50 मिनट हुए हैं गेट बंद हैं हमे अंदर नही जाने दिया जा रहा। उंन्होने कहा कि पर्चा छीनने वाले पहले से अंदर कैसे हैं? उंन्होने कहा कि क्या कोई नॉमिनेशन दाखिल कर सकता है कि नही कर सकता है।
डीएम अंदर बैठे हैं, कप्तान को बताया गया है।भाजपाई गुंडे अंदर क्यों हैं?ये अंदर खड़े कैसे पुलिस को कह रहे हैं कि कोई अंदर नही आएगा,गेट नही खुलेगा,पुलिस उनकी परमिशन से चल रही है।

इस मामले पर दोनो सपा उम्मीदवारों के वकील उपेंद्र पाल ने बताया कि भाजपा के लोग पर्चा छीनकर भाग गए। सपा प्रत्याशी राकेश यादव व उदयवीर सिंह धाकरे का पर्चा था जो छीना गया। एक सेट दाखिल हो चुका था।

इस पूरे मामले में एटा के अपर जिला अधिकारी आलोक कुमार ने बताया कि 2.30 बजे के आस पास कलेक्ट्रेट के बाहर कुछ प्रत्याशियों में आपस मे कुछ विवाद हो गया था जिसे पुलिस द्वारा शांत कराया गया। दो सीटों पर 5 प्रत्याशियों ने नामांकन किया जिनमे दो सपा के दो बीजेपी के और एक निर्दलीय  है। कल इन नामांकन पत्रों की जांच होगी। उंन्होने बताया कि नामांकन पत्र छीनने।की घटना की जांच कराई जा रही है इसमे जांच के बाद जो भी दोषी पाया जाएगा उंसके खिलाफ सख़्त कर्यवाही की जाएगी। उंन्होने कहा कि इस मामले में एफआईआर दर्ज कराई जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

12 + 4 =

Related Articles

Back to top button