जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास करने पहुंचेंगे PM मोदी

6200 हेक्टेयर भूमि में फैले इस जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण में कुल 30 हजार करोड़ रुपये की लागत लगेगी. यकीनन इससे यूपी के विकास को रफ्तार मिलेगी और आसपास के इलाकों में रहने वालों को रोजगार के साधन.

  • नरेंद्र मोदी दोपहर 1 बजे जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास करने पहुंचेंगे
  • पीएम मोदी रखेंगे नोएडा स्थित जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट की आधारशिला
  • शिलान्यास के बाद रैली को संबोधित करेंगे पीएम मोदी
  • पहले चरण में दो रनवे का होगा एयरपोर्ट, जिसे दूसरे चरण में पांच रनवे का बना दिया जायेगा.
  • जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट, जहां एक साथ कुल 178 विमान खड़े किये जा सकेंगे. यह एशिया का सबसे बड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट होगा, जबकि दुनिया में चौथा सबसे बड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट होगा.
  • 6200 हेक्टेयर भूमि में फैले इस जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण में कुल 30 हजार करोड़ रुपये की लागत लगेगी. यकीनन इससे यूपी के विकास को रफ्तार मिलेगी और आसपास के इलाकों में रहने वालों को रोजगार के साधन.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज नोएडा के जेवर में इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास करेंगे. 3300 एकड़ भूमि में बनने वाला यह एयरपोर्ट एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा. वहीं चुनावी साल में जेवर में एयरपोर्ट के शिलान्यास के जरिए बीजेपी पश्चिमी यूपी को साधने की तैयारी में है. जेवर में एयरपोर्ट के निर्माण से सबसे ज्यादा राहत वेस्टर्न यूपी वालों को ही मिलेगा.

जानकारी के अनुसार जेवर एयरपोर्ट के बन जाने से वेस्ट यूपी के बुलंदशहर, अलीगढ़, नोएडा, बागपत, बिजनौर, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, संभल, बदायूं, मुरादाबाद सहित अन्य जिलों के लोगों को फ्लाइट पकड़ने दिल्ली नहीं जाना पड़ेगा. नोएडा से दिल्ली में फ्लाइट पकड़ने के लिए कई बार जाम में फंसे जाते हैं, जिससे काफी वक्त लग जाता है. वहीं अब जेवर में एयरपोर्ट बन जाने से इन यात्रियों को सहूलियत मिलेगी.

हरियाणा के इन जिलों को भी मिलेगा फायदा- इतना ही नहीं, जेवर में एयरपोर्ट बन जाने से हरियाणा के फरीदाबाद, पलवल और वल्लभगढ़ के लोगों को भी फायदा मिलेगा. यहां के रहवासियों को भी विमान ,एक यात्रा के लिए दिल्ली नहीं जाना होगा. वहीं जेवर में एयरपोर्ट बनने से दिल्ली एयरपोर्ट पर भी यात्रियों का दबाव कम होगा.

इसे भी पढ़ें:

गांवों को अपना उद्धार स्वयं करना होगा : श्री गौतम भाई

पश्चिमी यूपी में रोजगार के अवसर- जेवर में एयरपोर्ट के निर्माण होने से पश्चिमी यूपी में रोजगार और पर्यटन के क्षेत्र में अवसर पैदा होंगे. इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनने से यहां पर शॉपिंग मॉल, हॉस्पिटल सहित रेस्तरां खुलेंगे, जिसमें हजारों लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा होंगे.

वहीं जेवर में एयरपोर्ट के निर्माण से लोकल उत्पाद और उपज को भी अधिक महत्व मिलेगा. पश्चिमी यूपी किसान बहुल इलाका है. ऐसे में माना जा रहा है कि यहां का सामान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भेजा जाए. इधर, सरकार ने कहा है कि आने वाले 2024 से पहले यह एयरपोर्ट बनकर तैयार हो जाएगा.

support media swaraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three + 15 =

Related Articles

Back to top button