गांवों को अपना उद्धार स्वयं करना होगा : श्री गौतम भाई

विज्ञान युग और ग्रामस्वराज्य एक-दूसरे के पूरक हैं , गॉंवों को अपना उद्धार स्वयं करना होगा . देश के स्वतंत्र होने के बाद शहर तो आजाद हुए लेकिन गांव आज भी गुलाम हैं। उनकी योजनाएं राजधानियों में बनती हैं। इससे ग्रामीणों के हाथ में पहल नहीं रह गई है।उक्त विचार ब्रह्मविद्या मंदिर के श्री गौतम … Continue reading गांवों को अपना उद्धार स्वयं करना होगा : श्री गौतम भाई