आज़म खान जेल से रिहा

भावी राजनीति के बारे में अटकलें

समाजवादी पार्टी के सीनियर लीडर मोहम्मद आज़म खान ने जेल से रिहा होने के बाद रामपुर में एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा ,” मैं सिर्फ कहूंगा कि तबाहियों में अपनों का हाथ है”। आज़म खान क़रीब सवा साल बाद आज ही सीतापुर जेल से रिहा हुए हैं।

रिहाई के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में आज़म खान ने कहा कि उनकी ,तबीयत ठीक नहीं है।”

उन्होंने इंसाफ देने वालों को शुक्रिया अदा करते हुए कहा

“सुप्रीम कोर्ट से मुझे इंसाफ मिला सुप्रीम कोर्ट जिंदाबाद।SC ने अपनी ताकत का प्रयोग किया “

आजम खान ने कहा , हमारा मिशन राजनीति नहीं था। जिंदगी की शुरुआत ही जेल से हुई थी। जमीन के फर्जी मुकदमें लगाए गए हैं

सभी जमीनों के पेमेंट मैंने चेक से किए थे। मैं जमीन,मुल्क और कौम बेचने वाला नहीं- आजम खान ने कहा।

आजम खान ने आरोप लगाया कि सीतापुर जेल में मुझे धमकी मिली।दारोगा ने कहा आपका एनकाउंटर हो सकता है।

सुबह जेल से रिहाई

जेल से रिहा होकर रामपुर के लिए रवाना

समाजवादी पार्टी के नेता मोहम्मद आज़म खान क़रीब सवा दो साल बाद आज शुक्रवार को जेल से रिहा हो गए।गौर करने की बात यह है कि प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल यादव मोहम्मद आज़म खान के स्वागत के लिए सीतापुर जेल के बाहर उपस्थित थे। समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बयान देकर स्वागत किया। 

राजनीतिक हलकों में चर्चा है कि आज़म का परिवार इन दिनों समाजवादी पार्टी नेतृत्व से खुश नहीं है। इसलिए उनकी भावी राजनीति के बारे में तमाम अटकलें लगायी ज रही है।

योगी सरकार आज़म खान पर एक के बाद एक मामले दर्ज करती जा रही थी, इसलिए तमाम मामलों में ज़मानत मिलने के बाद भी आज़म जेल से नहीं पाए थे। अब वह सुप्रीम कोर्ट से अंतरिम जमानत मिलने के बाद आज जेल से रिहा हो गए। आजम 27 महीने बाद ‘आजाद’ हुए। उन्हें 88 मामलों में पहले ही जमानत मिल चुकी थी।

आज़म खान बाहर निकले तो बड़े गुमसुम दिखे। उन्हें रिसीव करने के लिए शिवपाल यादव के साथ सपा के विधायक आशु मलिक और दोनों बेटे सीतापुर जेल पहुंचे हुए थे। अखिलेश यादव या सपा का कोई बड़ा नेता नहीं दिखा। जेल से बाहर निकले तो शिवपाल यादव से गर्मजोशी से मिले। कुछ बातें हुईं। फोटो खींचे गए और आजम खान बेटे की कार में आगे वाली सीट पर जाकर बैठ गए। आजम के समर्थकों और मीडिया का भारी जमावड़ा था। वह मीडिया से कुछ बोले तो नहीं पर हाथ हिलाकर अभिवादन जरूर किया। शिवपाल ने मुलाकात की तस्वीरें शेयर करते हुए लिखा, ‘स्वागत एवं शुभकामनाएं।’

आजम आज भी हमारे साथी हैं…

आजम को लेकर जब शिवपाल यादव का काफिला निकला तो उन्होंने गाड़ी रोक कर मीडिया से बात की। शिवपाल ने कहा कि न्याय की जीत हुई है, आजम खान साहब की जीत हुई है। लड़ाई में क्या वह आपके साथ आएंगे? जब पत्रकारों ने सवाल किया तो शिवपाल ने कहा कि हम लोग समाजवादी हैं और हमेशा नेताजी से हम लोगों ने सीखा है सुख और दुख में साथ रहना और कहीं पर भी सुख-दुख में अगर साथी संकट में हैं….। आजम भाई हमारे साथी रहे हैं और आज भी हैं।

यह पूछे जाने पर कि आजम खान के परिवार के लोग इस बात से नाराज हैं कि उनसे मिलने अखिलेश यादव नहीं आए? शिवपाल ने कहा कि ये तो अखिलेश यादव से पूछिए न, आजम भाई हमारे साथी हैं। हमारी बात आज भी हुई और आगे भी होती रहेगी।

इससे पहले आजम खान को जेल से रिसीव करने जाते समय आज सुबह शिवपाल यादव ने ट्वीट किया, ‘सूबे के आवाम के लिए यह सुखद है कि आजम खान साहब आज उनके चाहने वालों के बीच होंगे… मैं सीतापुर के लिए निकल चुका हूं, उत्तर प्रदेश के क्षितिज पर नया सूरज निकल रहा है।आइए, आजम खान साहब का इस्तकबाल करें।’

अखिलेश ने किया आजम का स्वागत

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा कि सपा के वरिष्ठ नेता और विधायक  आज़म ख़ान जी के जमानत पर रिहा होने पर उनका हार्दिक स्वागत है। जमानत के इस फ़ैसले से सर्वोच्च न्यायालय ने न्याय को नए मानक दिए हैं। पूरा ऐतबार है कि वो अन्य सभी झूठे मामलों-मुक़दमों में बाइज़्ज़त बरी होंगे। झूठ के लम्हे होते हैं, सदियां नहीं!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

four × four =

Related Articles

Back to top button