यूपी में भारत बंद का मिलाजुला असर, CM योगी का बयान, कानून-व्यवस्था से नहीं होगा समझौता

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली के बॉर्डर पर पिछले 12 दिनों से डटे प्रदर्शनकारी किसानों ने आज यानी मंगलवार को भारत बंद बुलाया है। उत्तर प्रदेश में भारत बंद का मिलाजुला असर देखने को मिल रहा है। किसानों के भारत बंद के समर्थन में विपक्षी पार्टी के कार्यकर्ता जगह-जगह सड़क पर उतरे हैं। सपा के कार्यकर्ताओं ने प्रयागराज में रेलवे स्‍टेशन के आउटर पर बुंदेलखंड एक्सप्रेस ट्रेन को रोक दिया। इसी तरह ग्वालियर से मडुवाडीह जाने वाली ट्रेन को भी बीच रास्ते में रोक दिया। वहीं, भारत बंद को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश में शांति व्यवस्था बनाए रखना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। किसी भी दशा में कानून और शांति-व्यवस्था से समझौता न किया जाए।

– बस्ती : भारत बंद आंदोलन के समर्थन में मंगलवार की सुबह 9 बजे गांधीनगर पक्के बाजार में जुलूस निकालकर दुकान बंद कराने निकले सपाइयों पर पुलिस ने जमकर लाठी बरसाई। अचानक पिटाई से जुलूस तितर-बितर हो गया। भगदड़ जैसा माहौल बन गया।
– आज़मगढ़: पूर्व मंत्री सपा नेता बलराम यादव, दुर्गा यादव, संग्राम यादव और सपा के जिलाध्यक्ष नज़रबन्द किए गए। सभी को घर मे ही रहने का प्रशासन ने सुनाया फरमान।
– महराजगंज में सपा जिलाध्यक्ष आमीर हुसैन, आप जिलाध्यक्ष पशुपति नाथ गुप्ता, कांग्रेस जिलाध्यक्ष अवनीश पाल समेत कुछ नेताओं को पुलिस ने उनके आवास से हिरासत में ले लिया।
– अलीगढ़ में भारत बंद को लेकर पुलिस प्रशासन अलर्ट, जनपद मुख्यालय पर प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए की गई बैरिकेडिंग।
– वाराणसी में सपा कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट पर कचहरी के गेट पर ताला बंद कर प्रदर्शन किया प्रदर्शन। सपा पार्षद कमल पटेल को साकेत नगर से रैली के पहले गिरफ्तार करने पुलिस पहुंची।
– फिरोजाबाद में मंडी में भारत बंद का नहीं दिखा कोई असर। खुली रही मंडी, आते रहे सब्जी विक्रेता, फोर्स रहा तैनात।
– अमरोहा : बंद के मद्देनजर गजरौला में हाईवे पर भारी फोर्स तैनात है। एसपी अमरोहा ने गजरौला के इंदिरा चौक पर पहुंच कर स्थिति का जायजा लिया और अधीनस्थों को निर्देश दिए।
– जौनपुर में भारत बंद का कोई खास असर देखने को नहीं मिल रहा है। गली-कूचों में चाय-पान की दुकानें सुबह नौ बजे तक खुल गईं। कान्‍वेंट स्‍कूलों में भी बच्चों की संख्या कम रही।
– बस्‍ती में बंद के समर्थन में सड़क पर उतरे सपा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने दौड़ा लिया। पूर्व कैबिनेट मंत्री राम प्रसाद चौधरी, पूर्व विधायक जितेन्द्र चौधरी सहित 50 की संख्या में कार्यकर्ताओ को गांधी नगर से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया।
– गोरखपुर में प्रशासन की सख्‍ती के बावजूद बड़ी संख्‍या में सपाई सड़क पर उतरने की तैयारी में हैं। सपा के पूर्व महानगर अध्‍यक्ष जियाउल इस्‍लाम को पुलिस ने सुबह ही उनके घर से हिरासत में ले लिया है।
– एटा सब्जी मंडी में कम खुली दुकानें, नहीं आए खरीदने वाले।
– मैनपुरी में धरना प्रदर्शन करने की तैयारी कर रहीं कांग्रेस ज़िलाध्यक्ष को घर में ही नजरबंद कर दिया गया।
– कानपुर : भारत बंद के आह्वान को देखते हुए पुलिस ने दूसरे दिन भी आंदोलन की तैयारी कर रहे सपा नेताओं के घरों के बाहर पहरा बैठा दिया है।
– समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने किसानों के भारत बंद के समर्थन में प्रयागराज में ट्रेन रोकी।
-शाहजहांपुर में घर में नजरबंद कांग्रेस जिला अध्यक्ष रजनीश गुप्ता जबरिया प्रदर्शन करने के लिए जब निकले तो पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।
-उनके सिटी पार्क की स्थित आवास पर पुलिस  जिलाध्यक्ष और कार्यकर्ताओं को को गिरफ्तार कर पुलिस लाइन ले जाया गया। इस दौरान कांग्रेसियों ने नारेबाजी भी की।
-भदोही में आंदोलन का समर्थन करने वाले सपा जिला अध्यक्ष विकास यादव, पूर्व विधायक जाहिद बेग समेत एक दर्जन को गिरफ्तार किया गया।
-बरेली में कृषि बिल के विरोध में चौकी चौराहा स्थित गांधी प्रतिमा पर धरना दे रहे समाजवादी पार्टी के नेताओं को पुलिस ने हल्का लाठी चार्ज करके खदेड़ा।
-पीलीभीत में पूरनपुर में किसानों ने हाईवे जाम किया, पुलिस के हाथ पांव फूले। टनकपुर बरेली हाईवे पर दर्जनों ट्रेक्टर लेकर निकले किसान।
-शाहजहांपुर मेें जिला मुख्यालय पर असर नहीं। पुवायां कस्बे में व्यापारियों के एक गुट ने जबरिया बाजार बंद कराने की कोशिश की तो दूसरे गुट ने विरोध किया। इसको लेकर दो गुटों में झड़प हुई है।
-शाहजहांपुर में कांग्रेस कार्यालय पर एकत्रित कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उन्हें पुलिस लाइन ले जाया गया है।
-बदायूं  में सपा जिलाध्यक्ष घर पर ही नजरबंद। जिले में नहीं दिख रहा बंदी का असर।
-लखीमपुर जिले में बन्द का मिला जुला असर दिख रहा है। भीरा में किसान धरने पर बैठे। मैगलगंज के गुरुद्वारा में जुट रहे किसान। पलिया में पेट्रोल पंप बन्द।
-अमरोहा रजबपुर मे डीएम-एसपी की मौजूदगी मे किसानोंं ने हाईवे जाम किया
-मथुरा में यमुना एक्सप्रेस वे पर नोएडा से आगरा जाने वाला मार्ग किसानों ने जाम किया। किसान मांट टोल पर जमे हुए हैं।
-मुजफ्फरनगर में नेशनल हाईवे पर कई जगह जाम लगा
-धरना दे रहे सपाइयों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया
-आगरा में लखनऊ एक्सप्रेस वे पर भाकियू का ने प्रदर्शन किया। इस दौरान पुलिस से उनकी तीखी झड़प हुई।
-आगरा में प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने कई भाकियू नेताओं को हिरासत में ले लिया। किसानों ने जगह-जगह जाम लगा दिए हैं।
-सपा के पूर्व सांसद रामजीलाल सुमन के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया।
-मथुरा में होली गेट से पर प्रदर्शन करते हुए कांग्रेसियों को पुलिस ने लिया हिरासत में ले लिया।
-पूर्व विधायक प्रदीप माथुर को भी हिरासत में लिया गया।
-फिरोजाबाद में भी किसान संगठनों का प्रदर्शन, ज्ञापन दिया।
-मैनपुरी में नजरबंद किए गए लोग और सपा के विधायक पुलिस लाइन ले जाए गए। यहीं के किशनी में छह सपाई पुलिस ने लिए हिरासत में लिए गए।
-एटा, कासगंज में भाकियू का कई  जगह धरना प्रदर्शन। प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। कई जगह बाजार सामान्य रूप से खुले। प्रशासन सड़कों पर।
-मुरादाबाद में जिला प्रशासन और पुलिस ने आंदोलन को तैयार सपाइयों को हिरासत में ले लिया
-मुरादाबाद देहात विधायक हाजी इकराम कुरैशी समेत करीब 20 लोगों को अभी तक हिरासत में लिया जा चुका है
-भारत बंद के चलते इसका असर ट्रेनों में भी दिखाई दिया। हिमगिरी एक्सप्रेस, अवध आसाम एक्सप्रेस में बहुत ही कम सवारियां थीं।
-रायबरेली मेें कांग्रेस महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष, शैलजा सिंह व व्यापार मंडल के अध्यक्ष आशीष द्विवेदी सहित कांग्रेसी नेताओं को पुलिस ने तिलक भवन से गिरफ्तार किया।
– मिर्जापुर में भाकियू के जिलाध्यक्ष सिद्धनाथ सिंह को भी इमिलिया खुर्द स्थित उनके आवास पर नजरबंद किया गया।
– मिर्जापुर में बंद के आवाहन के मद्देनजर पुलिस ने भाकियू नेताओं को घर पर ही किया नजरबंद। भाकियू के मंडल महामंत्री वीरेंद्र सिंह को अहरौरा में नजरबंद किया गया।
– शाहजहांपुर में भारत बंद का कोई असर नहीं दिखा। बाजारों की दुकानें खुली।
जबरन दुकानें बंद कराने पर होगी कार्रवाई
प्रदेश सरकार ने दो टूक कहा है कि मंगलवार को जबरन बाजार बंद कराने की कोशिश किए जाने पर कार्रवाई की जाएगी। सभी जिलों की पुलिस को ऐेसे किसी भी हालत से निपटने और कानून-व्यवस्था सामान्य बनाए रखने के निर्देश दिए गए हैं। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने सोमवार को डीजीपी एचसी अवस्थी को पत्र लिख कर किसान संगठनों के भारत बंद के ऐलान को लेकर राज्य सरकार की मंशा से अवगत कराया।
अन्य राज्यों से लगे इंट्री प्वाइंट पर होगी चेकिंग
अपर मुख्य सचिव ने कहा है कि उत्तराखंड, मध्य प्रदेश एवं राजस्थान सीमा से लगे यूपी के जिलों में ‘इंट्री प्वाइंट’ पर भी चेकिंग की जाए, जिससे अन्य प्रदेशों से लोग आकर अव्यवस्था न फैला सकें। इन इंट्री प्वाइंट्स पर पुलिस प्रबंधन के साथ-साथ वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा सुपरविजन भी किया जाए। उन्होंने कहा है कि आठ दिसंबर को भारत बंद के ऐलान के संबंध में कोविड-19 महामारी को देखते हुए विशेष सतर्कता बरती जाए। यह प्रयास किया जाए कि कहीं भी लोग एकत्र न हो सकें और बाजारों में कोई भी जबरन दुकानें बंद न करा सके। यदि किसी भी किसान संगठन या संगठन के पदाधिकारियों द्वारा बाजार बंद कराने की जबरन कोशिश की जाती है तो प्रभावी कार्रवाई की जाए, जिससे कानून-व्यवस्था सुनिश्चित की जा सके।

support media swaraj

Related Articles

Back to top button