चिराग पासवान का नया पैंतरा, कहा- नीतीश इस तारीख के बाद लालू यादव की लेंगे शरण

चिराग ने आज गुरुवार को कहा कि अभी भी नीतीश कुमार दोबारा सीएम बनने के लिए जी-जान से लगे हुए हैं। जिस तरह से प्रधानमंत्री जी को वे कोसते नहीं थकते थे आज उनके साथ मंच पर नतमस्तक होते नहीं थक रहे हैं। ये कुर्सी के प्रति उनका प्रेम और लालच दिखाता है। यही लालच 10 तारीख के बाद उन्‍हें तेजस्वी यादव और लालू यादव के सामने नतमस्तक करेगा, क्‍योंकि तब उन्‍हें एनडीए में अपना गुजारा होता नहीं दिखेगा। बिहार में उनकी सरकार नहीं बनने जा रही है। वह दोबारा सीएम नहीं बनने जा रहे हैं। तब वह भागकर रांची जाएंगे। अभी हमें उनकी जैसी तस्‍वीरें प्रधानमंत्री जी के साथ देखने को मिल रही हैं वैसी ही तस्‍वीरें रांची से लालू जी के साथ दिखेंगी।

नीतीश पर लगाए भ्रष्‍टाचार के आरोप
चिराग ने आरोप लगाया कि नीतीश के राज में बिहार में भ्रष्‍टाचार सबसे अधिक बढ़ा। उनके कार्यकाल में एक साल ऐसा नहीं है जब बाढ़ नहीं आई है। सात निश्चय बिहार के इतिहास में सबसे बड़े भ्रष्‍टाचार में से एक है। शराबबंदी भी सबसे बड़े भ्रष्टाचार में से एक है। मैं पूछ रहा हूं जब शराब खुलेआम बिक रही है तो तस्करी का पैसा कहां जा रहा है?  पूछता हूं बाढ़ राहत की राशि हर साल कहां लगाई जाती है?

नीतीश की सभा में प्‍याज फेंकने की निंदा की
उन्‍होंने कहा कि बाढ़ पीड़ितों से आग्रह करता हूं कि साहब से सवाल करें कि बाढ़ पीड़ितों के लिए उन्होंने क्या किया? मंच के सामने जब सीएम का विरोध हो रहा है तो क्यों नहीं जनता को बुलाकर पूछते हैं।  उल्टा सामने वालों को उकसाते हैं कि और फेंको, और फेंको। चिराग ने नीतीश की सभा में प्‍याज फेके जाने की घटना की निंदा की। उन्‍होंने कहा कि जनता का आक्रोश स्वाभाविक है लेकिन इसे मतदान के माध्यम से दिखाना चाहिए। शारीरिक हमले का मैं पक्षधर नहीं हूं।
नीतीश से पांच साल का हिसाब मांगा
चिराग ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार को अपने पांच साल का हिसाब देना चाहिए। उनके पास बताने को कुछ नहीं है। उनकी वजह से बिहार में पलायन बढ़ा है। मौजूदा सीएम से जानना चाहता हूं कि मेरे बारे में व्यक्तिगत टिप्पणी करते हैं। तमाम चीजें साझा करने के लिए समय है लेकिन अपनी उपलब्धियां कब बताएंगे। बताएं कि उनके विधायक और नेताओं ने क्या काम किया है और अगले 5 साल में उनका रोड मैप क्या है?

 

बीजेपी की सरकार के लिए वोट अपील
क्‍या चिराग खुद मुख्‍यमंत्री पद के दावेदार हैं? इस सवाल पर उन्‍होंने कहा कि वह अभी खुद को सीएम के रूप में नहीं देखते।  चिराग ने कहा कि वह सिर्फ बिहार की अस्मिता की लड़ाई लड़ रहे हैं। चिराग ने लोगों से अपील की कि जो भी बिहारी हैं, वो अगर चाहते हैं बीजेपी के नेतृत्व में सरकार बने तो वोट करें।

support media swaraj

Related Articles

Back to top button