बैंक जन धन खातों, बेसिक बचत बैंक खातों पर नहीं लगाएंगे कोई शुल्क, जानिए….

नई दिल्ली: कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में ये कहा गया था कि कुछ सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (PSB) द्वारा सेवा शुल्क में वृद्धि की घोषणा की गई है। कुछ बैंकों द्वारा जमा और निकासी पर शुल्क, जन धन खातों और बेसिक बचत बैंक खातों पर लागू नहीं होंगे। सरकार ने मंगलवार को इसे लेकर एक स्पष्टीकरण जारी किया।

जन धन खातों सहित मूल बचत बैंक जमा (BSBD) खाते: 60.04 करोड़ BSBD खातों पर कोई सेवा शुल्क लागू नहीं है, जिसमें RBI के द्वारा निर्धारित मुफ्त सेवाओं के लिए समाज के गरीब लोगों के लिए खोले गए 41.13 करोड़ जन धन खाते शामिल हैं।

नियमित बचत खाते, चालू खाते, नकद क्रेडिट खाते और ओवरड्राफ्ट खाते: इसमें भी कोई शुल्क नहीं बढ़ाया गया है, हालांकि बैंक ऑफ बड़ौदा ने 1 नवंबर 2020 से कुछ बदलाव किए थे, जिसमें प्रति माह मुफ्त नकद जमा और निकासी की संख्या को लेकर बात कही गई थी। नि: शुल्क लेनदेन से अधिक लेनदेन के लिए शुल्क में कोई बदलाव नहीं होने के साथ प्रत्येक माह में मुफ्त नकद जमा और निकासी की संख्या 5 से घटाकर 3 प्रति माह कर दी गई है।

बैंक ऑफ बड़ौदा ने बताया कि मौजूदा समय में COVID संबंधित स्थिति को देखते हुए बदलाव को वापस लेने का निर्णय लिया है। इसके अलावा, किसी अन्य सरकारी बैंक ने हाल ही में इस तरह के शुल्क में वृद्धि नहीं की है।

जबकि, RBI के दिशानिर्देशों के अनुसार, PSB सहित सभी बैंकों को उचित, पारदर्शी और गैर-भेदभावपूर्ण तरीके से अपनी सेवाओं के लिए शुल्क लगाने की अनुमति है, इसमें शामिल लागतों के आधार पर अन्य PSB ने यह भी सूचित किया है कि वे COVID महामारी को देखते हुए निकट भविष्य में किसी प्रकार के शुल्क बढ़ोतरी के पक्ष में नहीं है।

आईसीआईसीआई बैंक मूल बचत बैंक जमा खाते (बीएसबीए) और जन धन खातों पर शुल्क नहीं लगा रहा है। एसबीआई, बीओबी, पीएनबी सहित कई प्रमुख बैंकों ने जन धन खातों पर कोई शुल्क नहीं लगाया है। जन धन खातों में डेबिट पर बैंक ऑफ बड़ौदा भी शुल्क नहीं लगा रहा है।

support media swaraj

Related Articles

Back to top button