पानीपत में लंगर लगाने के बाद किसानो ने दिल्ली की तरफ किया कूच

पानीपत टोल नाके पर लंगर लगाने के बाद सुबह नौ बजे किसान दिल्ली की ओर कूच कर गए। पानीपत से निकलते समय किसानों को खास परेशानी नहीं आई। हालांकि करहंस, समालखा में नाके तो लगे हुए हैं। एक-दो जगह रोका भी गया लेकिन ज्यादा देर तक रोका नहीं जा सका।
पानीपत में तो दिल्ली की तरफ जाने वाले वाहनों के लिए रात को टोल फ्री कर दिया गया था।

क्योंकि प्रशासन नहीं चाहता था कि जीटी रोड पर जाम लगे। करनाल की तरफ कर्ण लेक पर पुलिस और किसानों के बीच टकराव की स्थिति बन गई है। किसान हाईवे पर बैठ गए हैं। इस वजह से जाम लग गया। वहीं, सुबह सात बजे टोल नाके पर कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला पहुंचे। किसानों को समर्थन दिया ।

लंगर गाड़ी साथ-साथ
किसानों के साथ एक लंगर गाड़ी भी साथ चल रही है। पानी का खुद का टैंकर है। डिस्पोजल प्लेट के लिए अलग से गाड़ी है। जहां रुकते हैं, वहां पर खाना तैयार कर लिया जाता है, या बाहर से आ जाता है। जगह-जगह पर लंगर बांटा भी जा रहा है।

पानीपत में कब क्या हुआ
1- शाम सात बजे पानीपत टोल नाके पर पड़ाव हुआ
2- तय हुआ कि रात को पानीपत में रुकेंगे
3- क्योंकि पंजाब से आने वाले किसानों को साथ जोड़ना था, संख्या को ज्यादा बढ़ाना था
4- रात को ट्रैक्टर के अंदर सोये, जीटी रोड पर भी कंबल ओढ़कर सो गए
5- सुबह सात बजे हलचल शुरू हो गई, दिल्ली कूच की तैयारी
6- नौ बजे भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढ़ूनी के नेतृत्व में दिल्ली की ओर रवाना हुए

भाकियू जिला अध्यक्ष नजरबंद, बिंटू मलिक को चौकी ले गए
भाकियू के जिला अध्यक्ष कुलदीप बलाना को पुलिस ने उनके  ईंट-भट्ठे पर नजरबंद करके रखा। मोबाइल फोन बंद करवा दिया दिया। इसी तरह से पुलिस भाकियू के पूर्व जिला उप प्रधान बिंटू पर भी नजर बनाए हुई थी। बिंटू दिल्ली जाने के लिए घर से निकले ही थे कि उन्हें पुलिस ने घेर लिया। बिंटू को बलजीत नगर नाका चौकी लाया गया। इसी तरह से पुलिस ने महावटी के सूबे सिंह और देवी सिंह को भी दिल्ली नहीं जाने दिया।

यहां पर लगे नाके
1- बड़ौली में प्रेम नर्सिंग इंस्टीट्यूट के पास
2- रिफाइनरी मोड़ पर
3- टोल के नजदीक
4- सिवाह के पास
5- करहंस के पास
6- हल्दाना
7- पानीपत-रोहतक हाईवे पर शाहपुर में
8- असंध रोड पर नारा के नजदीक
9- सनौली रोड पर उप्र बार्डर पर

support media swaraj

Related Articles

Back to top button