बीजेपी से स्वामी प्रसाद मौर्य के एक और समर्थक डॉ. मुकेश वर्मा का इस्तीफा

फिरोजाबाद के शिकोहाबाद से विधायक हैं डॉ. मुकेश वर्मा

उत्तर प्रदेश में विपक्ष की सियासत में आज भी बड़ी हलचल देखने को मिल रही है। स्वामी प्रसाद मौर्य के बाद उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी से इस्तीफा देने वालों का सिलसिला थमता नजर नहीं आ रहा। शिकोहाबाद से भाजपा विधायक मुकेश वर्मा का इस्तीफा भी यूपी अध्यक्ष को भेज दिया गया है। वह हाल ही में भाजपा छोड़ने वाले आठवें विधायक हैं।

फिरोजाबाद के शिकोहाबाद से विधायक डॉ. मुकेश वर्मा का इस्तीफा आज सवेरे उनके सोशल मीडिया अकाउंट पर पोस्ट किया गया। उन्होंने 11 जनवरी, मंगलवार को बीजेपी के यूपी प्रदेश अध्यक्ष के नाम लिखा खत ट्वीट कर यह जानकारी सार्वजनिक कर दी है कि उन्होंने भी बीजेपी की सदस्यता छोड़ दी है।

बता दें कि मंगलवार को स्वामी प्रसाद मौर्य ने मंत्रिमंडल से इस्तीफा दिया, उसके बाद से ही एक एक करके बीजेपी छोड़ने वालों का तांता लग गया है। इनमें खासकर मौर्य के समर्थकों की संख्या ज्यादा है।

आज स्वामी प्रसाद मौर्य के आवास पर इकट्ठे होकर भाजपा से इस्तीफ़ा देने वाले सभी बाग़ी विधायक आगे की रणनीति पर चर्चा करेंगे। इस बीच स्वामी का दावा है कि कई और विधायक भी आज बीजेपी से इस्तीफा दे सकते हैं। स्वामी प्रसाद मौर्य का कहना है कि यह दौर तब तक चलेगा, जब तक भाजपा का सूपड़ा साफ़ नहीं हो जाता।

अभी तक भाजपा से इस्तीफ़ा देने वाले विधायकों में स्वामी प्रसाद मौर्य, दारा सिंह चौहान, ब्रिजेश प्रजापति, भगवती सागर, रोशन लाल वर्मा, मुकेश वर्मा और विनय शाक्य हैं। चर्चा है कि आज सभी को एकजुट कर बैठक के बाद कल स्वामी प्रसाद मौर्य समाजवादी पार्टी में शामिल हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें:

बीजेपी से नाराज मौर्य समर्थकों का इस्तीफा जारी, सामने आई स्वामी की नाराजगी की वजह…

डॉ. मुकेश वर्मा ने प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष को खत में लिखा है…

उत्तर प्रदेश सरकार ने पांच साल के कार्यकाल में दलितों, पिछड़ों और अल्पसंख्यकों के नेताओं और प्रतिनिधियों को तवज्जो नहीं दी, न ही उन्हें उचित सम्मान दिया। प्रदेश की बीजेपी सरकार में दलितों, पिछड़ों, किसानों, बेरोजगार नौजवानों, लघु एवं मध्यम श्रेणी के व्यापारियों की भी घोर उपेक्षा की गई है।

प्रदेश सरकार की ऐसी कूटनीतिपरक रवैये के कारण मैं भारतीय जनता पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देता हूं। स्वामी प्रसाद मौर्य शोषितों और पीड़ितों की आवाज हैं और वह हमारे नेता हैं। मैं उनके साथ हूं।

अपने ट्वीटर अकाउंट पर डॉ.मुकेश वर्मा ने @swatantrabjp और @JPNadda को टैग करते हुये यह खत पोस्ट कर दिया है। साथ ही ट्विटर पर लिखा…

भाजपा सरकार द्वारा 5 वर्ष के कार्यकाल में दलित, पिछड़ों और अल्पसंख्यक समुदाय के नेताओं व जनप्रतिनिधियों को कोई तवज्जो नहीं दी गई व दलित, पिछड़ों किसानों व बेरोजगारों की उपेक्षा की गई। इस कारण मैं भारतीय जनता पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देता हूँ।

इसे भी पढ़ें:

यूपी की राजनीति के ​’रामविलास पासवान’ हैं स्वामी प्रसाद मौर्य, हवा का रुख पहचान…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 − 3 =

Related Articles

Back to top button