अपर्णा ने ससुर मुलायम सिंह यादव का धन्यवाद किया, जानिये क्यों…

ससुर मुलायम सिंह यादव ने पॉलिटिकल टिप्स भी दिए

बीजेपी नेता अपर्णा यादव ने कहा कि मैं मुलायम सिंह यादव जी का धन्यवाद करती हूं कि उन्होंने राजनीति का ढेर सारा ज्ञान मुझे दिया। मैं उस परिवार की बहू हूं और हमेशा रहूंगी। यह मेरा कर्तव्य है कि कोई भी अच्छा काम करने से पहले मैं सभी बड़ों का अशीर्वाद लूं। उत्तर प्रदेश में बीजेपी फिर से सरकार बनायेगी।

एक इंटरव्यू के दौरान अपर्णा यादव ने बताया कि उन्होंने बीजेपी में शामिल होने के बाद मुलायम सिंह से मुलाकात की। इस दौरान पारिवारिक बातचीत हुई। सबने साथ खाना खाया। मुलायम सिंह यादव ने कहा, ‘खुश रहो बेटा’। इतना ही नहीं अपर्णा ने कहा, जब मैंने उनसे मुलाकात की, तो उन्होंने पॉलिटिकल टिप्स भी दिए। बीजेपी में शामिल होने को को लेकर उन्होंने कहा, आनंद लो, हम इस बारे में बात करेंगे।

बता दें कि बीजेपी ज्वॉइन करने के बाद अपर्णा यादव जब घर लौटीं तो उन्होंने अपने ससुर मुलायम सिंह यादव के पांव छूकर उनका आशीर्वाद लिया और वह तस्वीर सोशल मीडिया पर डाल दी।

इसके पीछे दो वजह बताई जा रही थीं। एक तो वह दिखाना चाहती थीं कि उन्हें मुलायम सिंह यादव का आशीर्वाद प्राप्त है और दूसरा यह कि उनके बीजेपी ज्वॉइन करने पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने जो कहा था कि उन्हें नेताजी ने बहुत समझाने की कोशिश की, अपर्णा अखिलेश यादव की इस बात को भी गलत साबित करना चाहती थीं।

बता दें कि समाजवादी पार्टी के संस्थापक व संरक्षक मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव ने पिछले दिनों भारतीय जनता पार्टी ज्वॉइन कर ली। इसके बाद से ही यूपी की राजनीति में बीजेपी के लिये जनता के बीच पहुंचने और बात करने के लिये एक नया मुद्दा मिल गया।

जब एक एक करके लगातार लोग बीजेपी छोड़कर समाजवादी पार्टी में शामिल हो रहे थे तो यूपी की राजनीति में बीजेपी के लिये वह वक्त सबसे ज्यादा मुश्किलों भरा बन चुका था। ऐसे में सपा के संस्थापक की बहू अपर्णा यादव, जिसकी कोई राजनीतिक जमीन भी नहीं थी, को बीजेपी में शामिल करवाकर भाजपा ने एक नया दांव चल दिया।

इसके बाद बीजेपी के नेताओं ने कई जगह यह भी कहा कि सपा की बेटी और बहू भी खुद को भाजपा के शासन में ही सुरक्षित मानती हैं। तभी तो वो घर की पार्टी छोड़कर बीजेपी ज्वॉइन कर रही हैं।

हालांकि, राजनीतिक विश्लेषकों ने इस दौरान यहां तक कहा था कि बसपा प्रमुख मायावती ​की तरह अपर्णा यादव भी अपने मायके वालों को बचाने के लिये ऐसा करने को मजबूर हुई होंगी, ऐसा भी हो सकता है क्योंकि उनके भाई पर कुछ केसेस करने की बात बीजेपी शासन में चल रही थी।

इसे भी पढ़ें:

Aparna Yadav : जानिये कौन हैं अपर्णा यादव, क्यों सपा छोड़ उन्होंने बीजेपी किया ज्वॉइन

वहीं, कुछ विश्लेषकों ने यह भी कहा था कि अपर्णा यादव और योगी आदित्यनाथ दोनों उत्तराखंड के हैं, इसलिये अपर्णा योगी को अपना भाई कहती हैं। मुख्यमंत्री बनने के बाद अपर्णा उनसे वीआईपी गेस्ट बनकर मिलने भी गई थीं। बाद में योगी भी अपर्णा के घर पर आये थे। इसके अलावा अपर्णा बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति समय समय पर अपना अनुराग भी दिखा चुकी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button