यूपी चुनाव : क्या अनामिका जैन, नेहा राठौर की काट कर पायेंगी

मनोज बाजपेयी ने सबसे पहले गाया था भोजपुरी रैप सॉन्ग 'मुंबई में का बा...'

यूपी में का बा…’ गाकर चर्चा में आयीं बिहार की लोकगायिका नेहा सिंह राठौर को अब बुंदेलखंड की कवयित्री गायिका अनामिका जैन अंबेर ने अपने नये लोकगीत ‘यूपी में बाबा…’ से जवाब देने की कोशिश की है. यूं तो नेहा को इससे पहले भोजपुरी फिल्म अभिनेता से बीजेपी नेता बन चुके रवि किशन और मनोज तिवारी ने भी अपने अपने गाने लॉन्च करके जवाब देने की कोशिश की, लेकिन उनके गानों को वो लोकप्रियता नहीं मिल पायी, जितना कि नेहा सिंह राठौर के गाने को मिली. उसी लोकप्रियता को देखते हुये बीते 25 जनवरी को नेहा ने ‘यूपी में का बा…’ का पार्ट टू गाया और सोशल मीडिया पर पोस्ट किया. उसके जवाब में 27 जनवरी को कवयित्री अनामिका ने ‘यूपी में बाबा…’ गीत गाकर उसे अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किया है. अब देखना यह है कि क्या अनामिका जैन, नेहा सिंह राठौर की काट कर पायेंगी?

सुषमाश्री

‘बिहार में का बा…’ के बाद ‘यूपी में का बा…’ लोकगीत की लोकप्रियता जैसे जैसे बढ़ती जा रही है, वैसे वैसे बढ़ती जा रही है, उसे गाने वाली लोकगायिका नेहा सिंह राठौर की आलोचना और उसे ट्रोल करने की कोशिश, साथ ही साथ उस गाने का दूसरे गानों से जवाब देने की सरकार की कोशिश. यानी इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि उनके गाने की लोकप्रियता ने बिहार के बाद अब यूपी सरकार को भी कई सवालों के जवाब देने के लिये मजबूर कर दिया है.

गुरुवार 27 जनवरी को बुंदेलखंडी लोकगायिका अनामिका जैन अंबेर का एक गाना सोशल मीडिया पर आया है, जिसके बोल हैं, ‘यूपी में बाबा…’ इस गाने को नेहा सिंह राठौर के ‘यूपी में का बा…’ गाने के जवाब के तौर पर ही देखा जा रहा है.

हालांकि, इससे पहले भी नेहा के ‘यूपी में का बा…’ के जवाब में बीजेपी सांसद रवि किशन का गाया गाना ‘यूपी में सब बा…’ आया था. गाने के बोल कुछ इस तरह थे… नल से पानी बा, विकास के कहानी बा, जेवर एयरपोर्ट बा, भाजपा के साथ बा, मोदी जी के हाथ बा…

बात यहीं खत्म नहीं हुई. इस गाने के बाद मनोज तिवारी का ‘मंदिर बनने लगा है, भगवा रंग चढ़ने लगा है’ गाना सामने आ चुका है, जिसमें मोदी-योगी सरकार की उपलब्धियां बताते हुए प्रदेश की जनता से बीजेपी को जिताने की अपील की जा रही है.

अब इस जंग में बुंदेलखंडी कवयित्री अनामिका जैन भी कूद पड़ी हैं और उन्होंने नेहा के सवाल यूपी में का बा… के जवाब में यूपी में बाबा… गाया है.

अनामिका जैन अंबर साड़ी में गीत गाते हुए खुद को बुंदेलखंड की बेटी बता रही हैं. गाने में सीएम योगी और उनकी सरकार की उपलब्धियों की जमकर तारीफ की गई है. अनामिका गाती हैं- ‘गोरखपुर के जो संन्‍यासी, मन में ले के मथुरा-काशी जबसे लखनऊ में जा बैठे, यूपी भर की मिटी उदासी, राजमहल को मंदिर कर दो, जब जनता को मिले बुलावा, काय कैं यूपी में बाबा हैं, यूपी में बाबा…

बिहार चुनाव में बिहार में का बा…

यकीनन बिहार चुनाव की यादें अब भी लोगों के जेहन से गयी नहीं होंगी. तब नेहा ने बिहार में का बा… गाकर अपने गाने के बोल से जब सरकार की आलोचना की थी, और कई सवाल भी खड़े किये थे तो बीजेपी और जेडीयू यानी एनडीए की नीतीश सरकार ने नेहा के गाने के जवाब में एक अन्य लोकगायिका मैथिली ठाकुर के जरिये उसके गाने का जवाब दूसरे गाने बिहार में का बा… से दिलवाया गया था.

तब मैथिली ठाकुर ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो साझा कर मिथिला और बदलते बिहार का जिक्र किया था. उन्‍होंने गाने के जरिए बताने की कोशिश की थी कि मिथिला में सबकुछ मिथिला में सबकुछ है. उन्‍होंने बताया था कि मिथिला में दरभंगा एयरपोर्ट है तो वहीं एम्‍स भी बन रहा है. मैथिली ठाकुर के मुताबिक हर गांव में सड़क और 24 24 घंटे बिजली है. मैथिली ठाकुर ने गाने के माध्‍यम से कहा था कि जो स्‍कूल झोपड़ी में चल रहा था, वो अब पक्‍के मकान में है. तब मैथिली ठाकुर ने अपने गाने के माध्‍यम से इशारों में ही नेहा सिंह राठौर पर गुमराह करने का भी आरोप लगाया था. 

तब नेहा सिंह राठौर ने दिया था जवाब

तब मैथिली ठाकुर के इस वीडियो पर नेहा सिंह राठौर ने भी जवाब दिया था. उन्‍होंने ट्विटर पर मैथिली ठाकुर का वीडियो शेयर कर लिखा था, लोक-कलाकारों को लोक के हितों से समझौता नहीं करना चाहिए. नेहा सिंह ने कहा था कि चुनाव में मुद्दे उठाने की जगह दबाना लोकहित की किसी परिभाषा में नहीं आ सकता.

बहरहाल, इन दोनों लोकगायिकाओं के बीच छिड़ी जंग को बिहार की राजनीति में बखूबी भुनाया गया था. बीजेपी और जेडीयू की ओर से मैथिली ठाकुर के वीडियो खूब शेयर किये गये थे जबकि विपक्ष ने नेहा सिंह राठौर के गाने को हथियार बनाया था. 
       
बॉलीवुड से आया- का बा… गाना

दरअसल, बिहार चुनावों से कुछ दिनों पहले ही बॉलीवुड डायरेक्‍टर अनुभव सिन्हा और मनोज बाजपेयी जैसे सितारों ने एक भोजपुरी रैप सॉन्ग ”बंबई में का बा” रिलीज क‍िया था. ये रैप सॉन्ग फैंस के बीच काफी लोकप्रिय हुआ था. बिहार की सियासत में इसकी एंट्री लोकगायिका नेहा सिंह राठौर की वजह से हुई थी. नेहा ने मुंबई में का बा गाने की तर्ज पर ‘बिहार में का बा’ नाम से गाना गाया था, जो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था. उसके बाद बिहार की एनडीए सरकार ने इसी गाने की तर्ज पर अपना चुनावी थीम सॉन्ग भी तैयार करवा लिया था, जिसे लेकर अनुराग सिन्हा ने ट्वीट भी किया था कि ये मेरा गाना है. इसकी कॉपीराइट भी मेरे पास है.

इस नोट में उन्होंने आगे लिखा था कि बीजेपी एक ऐसी पार्टी है, जो इस देश में सत्ता में बैठी है और उनका ये काम इस बात को लेकर एक खराब उदाहरण पेश करता है कि इस पार्टी के लोग दूसरों की इंटेलेक्चुएल प्रॉपर्टी की क्या इज्जत करते हैं. किसी ने भी कभी मेरी परमिशन के लिए मुझसे संपर्क नहीं किया. एक आदर्श दुनिया में इस काम के लिए उनको पैसे चुकाने पड़ते, जो वे आराम से अफोर्ड कर सकते हैं. मैं उम्मीद करता हूं कि उनके पास एक जरूरी वजह रही होगी, जो उन्होंने मुझसे संपर्क नहीं किया.

इसे भी पढ़ें:

Neha Singh Rathore Video: नेहा सिंह राठौर ने रवि किशन को दिया जवाब, सुने गाना ‘यूपी में का बा’

क्या अनामिका दे पायेंगी नेहा के गाने को टक्कर

बहरहाल, अब यूपी चुनावों से पहले नेहा ने इसी गाने की तर्ज पर जब यूपी में का बा… गाया तो उसे भी खूब लोकप्रियता मिली. यानी नेहा का हर गीत लोगों ने खूब पसंद किया. उसके जवाब में बिहार में तैयार किया गया गीत हो या फिर यूपी में, अब तक किसी को उतनी लोकप्रियता नहीं मिल पायी. हालांकि, लोकप्रियता के साथ साथ नेहा को इस गाने की वजह से आलोचनाओं का शिकार भी होना पड़ा. हालांकि, इसके बावजूद नेहा यूपी में का बा… गाने का पार्ट वन और टू ला चुकी हैं और बहुत जल्द पार्ट थ्री लाने के लिये अपने प्रशंसकों से वायदा कर चुकी हैं. अब सवाल ये है कि क्या अनामिका का ये गीत यूपी में बाबा… नेहा के गाने यूपी में का बा… को टक्कर दे पायेगा?

Leave a Reply

Your email address will not be published.

1 × 4 =

Related Articles

Back to top button