10 दिनों में ​ही अपने पुराने गंदगी से भरे रूप में दिखने लगी ललिता घाट पर गंगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फिल्मों जैसी शूटिंग खत्म होते ही गंगाजी का ललिता घाट अपने वास्तविक रूप में आ गया है, जिसमें तमाम पत्थर, साजो सामान और मरे हुये जानवर भी हैं. आंखो देखी बता और दिखा रहे हैं बनारस से वरिष्ठ पत्रकार सुरेश प्रताप सिंह...

13 दिसंबर को यहीं पीएम मोदी ने लगाई थी आस्था की डुबकी

यह है बनारस में गंगा का ललिता घाट. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 दिन पहले यानि 13 दिसंबर को यहीं से अपनी भक्ति और आस्था का प्रदर्शन किया था. इसके लिये बाकायदा फिल्मों की शूटिंग की तरह गंगाजी को बांधकर सेट बनाया गया था, जिससे लोगों को गंगाजी के स्वच्छ और निर्मल होने का झूठा एहसास हो. लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फिल्मों जैसी शूटिंग खत्म होते ही गंगाजी का ललिता घाट अपने वास्तविक रूप में आ गया है, जिसमें तमाम पत्थर, साजो सामान और मरे हुये जानवर भी हैं. आंखो देखी बता और दिखा रहे हैं बनारस से वरिष्ठ पत्रकार सुरेश प्रताप सिंह…

देखें वीडियो…

आपको याद होगा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 13 दिसंबर को दिव्य काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का विधि विधान के साथ लोकार्पण किया. वाराणसी पहुंचे पीएम मोदी की बाबतपुर एयरपोर्ट पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने अगवानी की. सबसे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने बाबा विश्वनाथ धाम के गर्भगृह में पूजा-अर्चना की. पीएम ललिता घाट से खुद जल लेकर बाबा विश्वनाथ मंदिर तक बने कॉरिडोर में चल कर पहुंचे और जलाभिषेक किया. इसके बाद उन्होंने काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण किया. काशी विश्वनाथ धाम का पूरा कॉरिडोर फूलों की खुशबू से महक रहा था . विश्वनाथ कॉरिडोर में करीब एक लाख गेंदे के फूल लगाए गए थे.

इसे भी पढ़ें:

PM मोदी ने किया काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण

काशी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक दिन काफी चर्चा में भी रहा था. वाराणसी दौरे के पहले दिन पीएम की काफी तस्वीरें सोशल मीडिया और मीडिया में चर्चा का विषय बनी रही थीं. सोशल मीडिया में कुछ यूजर्स ने लिखा था कि प्रधानमंत्री ने एक दिन में पांच बार कपड़े बदले.

इसे भी पढ़ें:

काशी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक दिन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button