मानसिक तनाव , विषाद और अवसाद से बचने के लिए क्या करें!

मानसिक तनाव , विषाद और अवसाद से बचने के लिए क्या करें ! कोविड महामारी काल में नकारात्मक सूचनाओं की उपेक्षा करते हुए यदि अपनी रुचि के कार्यों में स्वयं को व्यस्त रखे तो महामारी काल में व्याधिक्षमत्व सुरक्षित रहती है।विषाद,अवसाद तनाव से बचने के लिए सामाजिक दायित्व का निर्वहन करे।

विश्वव्यापी कोरोना महामारी के दौरान लोगों को अनिद्रा, तनाव और अवसाद की बीमारी से जूझना पड़ रहा है. जबकि हर चुनौती से निबटने के लिए मानसिक संतुलन आवश्यक है. अगर हम ध्यान दें तो हम अपने मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर रख सकते हैं.

आज मीडिया स्वराज एवं ईस्टर्न साइंटिस्ट जर्नल द्वारा आयोजित कोरोना काल में आयुर्वेद परिचर्चा अंक 12 में वरिष्ठ पत्रकार रामदत्त त्रिपाठी ने कर्नाटक से डा.सूरज कुम्बर,पटना से डा रमन रंजन,हापुड़ से वैद्य धन्वंतरी त्यागी,एवं डा आर.अचल से कोरोना काल में मानसिक स्वास्थ्य एवं आयुर्वेद विषय पर चर्चा की. चर्चा मे विद्वान वक्ताओं ने आगे बताया कि प्रज्ञा-पराध अर्थात जानबूझकर नियमों की उपेक्षा करने वालों, एकांत व आत्मकेन्द्रित लोगों पर कोरोना का प्रभाव अधिक हो रहा है. सामाजिक सरोकार वाले लोग सहजता से कोरोनो से उबर जा रहे है।

वक्ताओं ने यह भी बताया कि कोरोना से उबरने बाद कमजोरी के लिए मुलहठी,असगंध,रससिदूर योग या ब्रह्मरसानय,शंखपुष्पी,ब्राह्मी शतावरी का अपने चिकित्सक से परामर्श करके सेवन करना चाहिए।जिसके के लिए अपने चिकित्सक से निःसंकोच अपनी समस्याये बताना आवश्यक है।

वैद्य धन्वन्तरि त्यागी

1-वैद्य धन्वन्तरि त्यागी M.S (ay)

Director Dhanvantri ayurveda speciality clinic Hapur.UP

Executive director- Ayucare Ayurveda multispecialty Hospital, Meerut. 

Ex member- board of indian medicine-goverment of U.P

Dr Raman Ranjan

DR RAMAN RANJAN ,ASSISTANT PROFESSOR ,GOVT.AYURVEDIC COLLEGE AND HOSPITALPATNA, BIHAR ,CHIEF CONSULTANT,TATHAGAT AYURVEDAMAYURVEDA AND PANCHKARMA CLINIC, PATNA .NASYA NATIONAL VICE PRESIDENT

Dr Suraj Kumbar

-Name: Dr. Suraj Kumbar , Consultant / Assistant Professor College (Presently working): Rajeev Institute of Ayurvedic Medical Sciences and Research Centre, Hassan, Karnataka. Specialization: Panchakarma Contact No: 7795668779 Whats App No: 7795668779 Email Id: drsurajpanchakarma@gmail.com

डाक्टर आर अचल

डॉ.आर.अचल देवरिया,उ. प्र. ,आयुर्वेद चिकित्सक(BAMS),लोक, प्राच्यविद्याओं व विज्ञान अध्येता, कवि, लेखक,विचारक,समाजसेवी, फ्रीलांसरमुख्यसंपादक-ईस्टर्न साइन्टिस्ट जर्नल,क्षेत्रीय संपादक-साइंस इण्डिया मासिक(भोपाल), महासचिव-स्वदेशी विज्ञान संस्थानम्सदस्य-राष्ट्रीय संयोजक समिति-वर्ल्ड आयुर्वेद कांग्रेस कृतियाँ-काव्यसंग्रह-लोकतंत्र और नदी,लोकतंत्र और रेलगाड़ी, जरा सोच के बताना,Just tell to thinking,कोरोना काल की कवितायें,इतिहास-महान गणराज्य गढ़मंडला,तंत्र-श्रीविद्या चक्रार्चन महायाग्-वैज्ञानिक विमर्श एवं विधि.*उपन्यास-कोरोना काल कथा-स्वर्ग में सेमीनार.

राम दत्त त्रिपाठी
राम दत्त त्रिपाठी

रामदत्त त्रिपाठी, अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पत्रकार, राजनीतिक विश्लेषक , सामाजिक कार्यकर्ता , विधिवेत्ता और सूचना संचार के विशेषज्ञ हैं.
राम दत्त त्रिपाठी ने 1992 से 2013 इक्कीस वर्षों तक बी बी सी लंदन के लिए कार्य किया और वह एक प्रकार से भारत मे बी बी सी की पहचान बन गये.
वह उन गिने चुने पत्रकारों में से हैं , जो समाज सेवा के मिशन के लिए पत्रकारिता में आये.श्री त्रिपाठी युवावस्था में सर्वोदय और जे पी आंदोलन से जुड़े और लोकतंत्र के प्रति अपनी प्रतिबद्धता के चलते इमरजेंसी के दौरान जेल में रहे.

mediaswaraj2020@gmail.com

support media swaraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × one =

Related Articles

Back to top button