Stephen Hawking Google Doodle: गूगल ने मनाया वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का जन्मदिन

Stephen Hawking Google Doodle: स्टीफन हॉकिंग के 80वीं बर्थडे पर Google ने अपने होमपेज पर एक एनिमेटेड वीडियो के साथ उन्हें श्रद्धांजलि दी है.

Stephen Hawking Google Doodle: आज गूगल ने कॉस्मोलॉजिस्ट, आर्थर और सैद्धांतिक भौतिक वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का डूडल (Stephen Hawking Google Doodle) के साथ वीडियो बनाकर श्रद्धांजलि अर्पित की. 08 जनवरी 1942 को स्टीफन हॉकिंग का जन्म हुआ था. उनकी 80वीं बर्थडे पर Google (stephen hawking birthday) ने अपने होमपेज पर एक एनिमेटेड वीडियो के साथ श्रद्धांजलि दी है. इस वीडियो में स्टीफन के जीवन और उनके कार्य को दर्शाया गया है.

स्टीफन हॉकिंग को बचपन से ही ब्रह्मांड के प्रति रूझाव था. उन्हें 21 साल की उम्र में न्यूरोडीजेनेरेटिव बीमारी का पता चला था. इस बीमारी के कारण वह धीरे-धीरे व्हीलचेयर तक पहुंच गए. जिसके बाद उन्होंने बोले की क्षमता को खो दिया. आवाज खोने के बाद उन्होंने स्पीच जनरेटिंग डिवाइस के माध्यम बोलना शुरू किया. वहीं Google उन्हें इतिहास के सबसे प्रभावशाली वैज्ञानिक दिमागों में से एक” के रूप में वर्णित किया है.

वहीं अगर स्टीफन हॉकिंग की शिक्षा की बात करें तो उन्होंने कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से पीएचडी की. इसके बाद ऑक्सफोर्ड से भौतिकी में बीए की डिग्री के साथ स्नातक की.

स्टीफन हॉकिंग ने कौन-कौन सी खोज की

स्टीफन हॉकिंग की खोज की बात करें तो उन्होंने सबसे पहले ब्लैक होल सिद्धांत (stephen hawking theory of black holes) की खोज की. इस थ्योरी में  हॉकिंग ने बताया की ब्लैक होल का कुल सतह क्षेत्र छोटा नहीं हो सकता. ब्लैक होल गर्म होता है. अगर कोई इसके अंदर चला जाता है तो वह बाहर वापस नहीं आ सकता. इसके साथ ही स्टीफन हॉकिंग ने बिग बैंग सिद्धांत में बताया की आकाश गंगाएं, सौरमंडल और सभी ग्रह बिग बैंग सिद्धांत के कारण अस्तित्व में है. हॉकिंग के अनुसार पहले इसका आकार बहुत बड़ा था लेकिन विघटन हुआ तो सभी तारामंडल. आकाश गंगाएं और सौरमंडल का विकास हुआ.

इन किताबों कि स्टीफन हॉकिंग ने लिखी

स्टीफन हॉकिंग ने ‘द थ्योरी ऑफ एवरीथिंग’, ‘ए ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम’, ‘द ग्रैंड डिजाइन’, ‘ माय ब्रीफ हिस्ट्री’, ‘यूनिवर्स इन नटशेल’, है. आपको बता दें कि स्टीफन हॉकिंग का निधन 14 मार्च 2018 को 76 साल की उम्र में हुई. इस महान वैज्ञानिक ने देश को कई सारी थ्योरी दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button