महापंचायत, समाज सुधार अभियान


समाज सुधार अभियान,खत्ताये मेवात के आह्वान पर एक महापंचायत 14 मई 2022 शनिवार को मोठुका रोड किशनगढ़बास में सम्पन्न हुई, जिसकी सदारत मुफ्ती जाहिद साहब ने की ओर मंच की निज़ामत जुबेर अल्वरी ने की।

पंचायत में वक्ताओ ने मेवात क्षेत्र के इतिहास के बारे बताया और कहा कि मेवात दिल्ली आगरा और जयपुर के बीच हरियाणा राजस्थान दिल्ली और उत्तरप्रदेश राज्यों में बसा हुआ है जिसमे 10 जिलों के लगभग 25 हल्के आते है। इन हलकों में लगभग 15 विधायक बनते हैं।

मेवात क्षेत्र प्राचीन से ही अपनी बहादुरी, देशभक्ति, भाईचारा और सांझा संस्कृति के लिए जाना जाता है,हसन खान मेवाती,दादा मल्हा,दादा मदारी,दादा बहाड,भरमारू,दादा सांवलिया आदि की सेकड़ो मिसालें है जिनसे सब मेवात के लोग वाकिफ हैं ।
मुगलों की सल्तनत रही हो या अंग्रेज़ो की हुकूमत इन्होंने कभी गुलामी स्वीकार नही और उनसे लड़कर लोहा लिया जिससे मेवात क्षेत्र की बड़ी पहचान बनी है और तबलीग़ के निज़ाम से मेवात को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति मिली जिसमे मियाजी मूसा घासेड़ा,मियाजी मेहराब नमक,मुंशी बशीर साहब नूह ने नुमाया किरदार अदा किया।
लेकिन आज़ादी के बाद सरकारो के भेदभावपूर्ण बर्ताव और अनपढता व बेरोजगारी की परिस्थितियों के चलते पिछले दशकों में मेवात में कुछ कुरीतियों और बुराइयों ने जन्म लिया है जिनको दुरुस्त करने के लिए समय समय पर सतत प्रयास होते रहे है।
इसी कड़ी में कुछ सामाजिक सोच के फिक्रमंद साथियो की बदौलत मेवात क्षेत्र में फेल रही बुराइयों और कुरीतियों के खिलाफ एक अभियान 5 फरवरी 2022 को नीमली अलवर राजस्थान से शुरू हुआ जिस अभियान के तहत दो सफल इजलास यानि महापंचायत 26 फरवरी 2022 को फिरोज़पुर झिरका और 26 मार्च 2022 नूह हरियाणा में हो चुके है।
इस अभियान को आगे बढ़ाने के लिए एक 51 सदस्य कमेटी तशकील की गई थी जिसकी तादाद जरूरत के ऐतबार हल्का वाइज बढ़ाई जा सकती है और उसका नाम कौर कमेटी दिया गया है तथा इस अभियान को सुचारू रूप से चलाने के लिए एक 21 सदस्य वर्किंग कमेटी भी बनाई गई है जो
हरियाणा,राजस्थान,उत्तर प्रदेश,दिल्ली के मेवात क्षेत्र के लगभग 25 हलकों में अभियान की कमेटी गठित करेगी।
अभी तक समाज सुधार अभियान की कमेटी ने निम्न बुराइयों और कुरूतियों को चिन्हित करके उनके खिलाफ अभियान चलाने का फैसला लिया है।
1)इलाका ए मेवात में फैल रही बुराई जैसे-जुआ-सट्टा, नशाखौरी,शराबनोशी,ओलेक्स टटलूबाज़ी,ऑनलाईन ठगी एटीएम तोड़ना,कम्प्यूटर के माध्यम से किसी के फोटो एडीट करके उसे ब्लैकमेल करना,मोबाईल पर बहन-बेटियों के फोटो व्हाट्सएप करना,फेसबुक पर डालना,गंदे गाने डालना आदि हमारे इलाके में आम बात हो गई है, जिससे क़ौम की जहालत और बर्बादी हो रही है, इन बातों पर पूरी तरह से पाबन्दी लगाने का फैसला हुआ है ताकि इलाके को इन बुराइयों से बचाया जा सके।
2) शादियों में नाच-गाने,नशा करना और किसी भी तरह की जहालत और दहेज के दिखावे करने पर पूरी तरह से पाबन्दी रहेगी,निकाह में खून दूध को बचाकर कहीं भी मुस्लिम समाज में कुफू (बराबरी) का ख्याल रखते हुए शादी करना व करवाने पर अमल करना और निकाह के वक्त मेहर कम से बांधना और उसे दिखाने पर पाबंदी करनी होगी और मांडा जैसे रिवाज को खत्म करके सुन्नत तरीके पर वलीमा करना,आतिशबाजी को खत्म करना,शादी में लड़के वाले की तरफ से कुल आदमीयों की तादाद 31 से ज्यादा नही होगी और सलाम पर पाबन्दी हो,जूड़ा घिराई,खेत के रिवाज पर भी पाबन्दी लगाने का फैसला लिया है और बेटी की मीरास देने पर भी अमल किया जाएगा।
3)इलाका-ऐ-मेवात हिन्दू-मुस्लिम भाईचारे और गंगा जमुनी तहजीब के लिए जाना जाता है, सदीयों पुराने इस भाईचारे को और मजबूत बनाने के लिए आपसी सौहार्द व मैलझोल आपस में रखना,एक-दूसरे के जजबात का ख्याल रखना जरूरी है ऐसी बातों से परहेज करना जिससे आपस में दोनों समुदायों में इन्तसार व नफरत पैदा होती हो मोबाईल पर फेसबुक याव्हाट्सएप के माध्यम से किसी भी प्रकार की नफरतभरी जहरीली भाषा पर पाबन्दी पर भी फैसला लिया गया।
4)आपसी रंजिश द्वारा या सियासी मुखालफत में झूठे मुकदमे दर्ज करवाने पर पाबंदी लगाने का ऐलान किया गया,साथ मे चौधरी जिम्मेदार व नेतागण से ऐसे झुठे मुकदमों में किसी के हक में पैरवी ना करने का फैसला लिया गया,छोटी-छोटी बातों पर तलाक,अदालत में झूठे संगीन गुकेदमो में बहन बेटियों को औजार बनाना इत्यादि पर पाबंदी रहेगी।
5)मेवात के कब्रिस्तानों को महफूज रखना व उनकी साफ-सफाई रखना.कब्रिस्तान पर कब्जा करने की नियत रखने वालों पर सख्त पाबंदी आईद होगी।
6).मेवात में रोड पर खड़े होकर मस्जिद व मदरसे के लिए चंदा नही मांगने पर फैसला हुआ है और सफीर हजरात को मदरसा से तस्दीक शुदा बनाकर भेजने का प्रावधान होगा,ताकि सही काम हो सके।
7) मेवात में नफ़रत का बाईस बन रही गोकशी और गोतस्करी पर भी कड़े कदम उठाने का फैसला लिया है।
पंचायत में समाज सुधार अभियान की कोर कमेटी,वर्किंग कमेटी के अलावा बहुत सारे नामचीन उलेमा हज़रात,सियासी नुमाइंदगी,समाजसेवी तथा हरियाणा राजस्थान दिल्ली के जिम्मेदार लोग शामिल रहे ।

आयोजक
समाज सुधार अभियान,मेवात।
9813124386

Leave a Reply

Your email address will not be published.

15 − 8 =

Related Articles

Back to top button