साउथ फिल्मों के ‘थलाइवा’ रजनीकांत आज होंगे दादा साहब फाल्के सम्मान से सम्मानित

रजनीकांत को दादा साहब फाल्के सम्मान

रजनीकांत कभी किसी परिचय के मोहताज नहीं रहे. लगभग एक दशक से फिल्म जगत के माध्यम से दर्शकों का मनोरंजन कर रहे ‘थलाइवा’ रजनीकांत किसी सीमा में बंधे भी नहीं रहे. साउथ से लेकर नॉर्थ तक, हर जगह उनके प्रशंसक भरे हैं. बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक, हर उम्र और लिंग के लोग उन्हें दिलोजान से चाहते हैं. शायद यही वजह है कि आज उन्हें फिल्म जगत के सर्वोच्च सम्मान दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया जा रहा है.

सुषमाश्री

साउथ फिल्मों के भगवान माने जाने वाले सुपरस्टार रजनीकांत को आज यानि 25 अक्टूबर 2021 को ​भारतीय फिल्म जगत के सर्वोच्च सम्मान दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया जा रहा है. हालांकि इसकी घोषणा पिछले साल 2020 को ही कर दी गई थी.

दक्षिण भारतीय फिल्मों के प्रशंसकों द्वारा ‘थलाइवा’ यानि भगवान कहे जाने वाले रजनीकांत की लोकप्रियता को देखते हुए डायरेक्टरेट आफ फिल्म फेस्टिवल्स की ओर से यह सम्मान दिया जा रहा है. इससे जुड़ा एक वीडियो तैयार करके उन्होंने उसे अपने ट्वीटर अकाउंट पर पोस्ट भी किया है.

हालंकि इससे पहले भारत सरकार की ओर से रजनीकांत को साल 2000 में पद्मभूषण और 2016 में ​पद्मविभूषण से भी नवाजा जा चुका है.

पिछले साल फिल्मों से अलग उन्होंने राजनीति में भी हाथ आजमाने की योजना बनाकर नई राजनीतिक पार्टी का ऐलान कर दिया था, लेकिन फिर कुछ ही समय बाद उन्होंने अपना यह फैसला बदल लिया और कहा कि उन्हें लगता है कि उनके लिए यह फैसला सही नहीं होगा.

कम ही लोग जानते हैं कि अपने लंबे फिल्मी करियर में ज्यादातर फिल्मों के लिए बेस्ट एक्टर का अवार्ड अपने नाम कर चुके रजनीकांत का असली नाम शिवाजी राव गायकवाड़ है. पिछले साल फिल्मों से अलग उन्होंने राजनीति में भी हाथ आजमाने की योजना बनाकर नई राजनीतिक पार्टी का ऐलान कर दिया था, लेकिन फिर कुछ ही समय बाद उन्होंने अपना यह फैसला बदल लिया और कहा कि उन्हें लगता है कि उनके लिए यह फैसला सही नहीं होगा.

बता दें कि खुद रजनीकांत ने भी अपने सोशल मीडिया अकाउंट में दादा साहब फाल्के सम्मान से सम्मानित किये जाने की चिट्ठी पोस्ट कर अपने प्रशंसकों के साथ यह खुशी शेयर की है.

दादासाहब फाल्के से सम्मानित मजरूह सुल्तानपुरी का नाम उनके अपने ही गृहनगर में जमींदोज
फिल्में : मनोरंजन , समाज और हम
support media swaraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fourteen − twelve =

Related Articles

Back to top button