PM को आड़े हाथों लेने की थी राहुल की कोशिश, फिर क्या हुआ कि लोग अपनी हंसी नहीं रोक पाये

राहुल गांधी ने रामलीला मैदान में काफी अरसे के बाद जब हर ओर राहुल-राहुल की गूंज सुनी तो आगे कहा कि आपने मुझे राजनीति सिखाई, मैं आपका धन्यवाद देता हूं। आज देश के सामने दो सवाल हैं, बेरोजगारी और महंगाई।

अमेठी पहुंचे कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जगदीशपुर के रामलीला मैदान से पद यात्रा की शुरुआत की। इस दौरान राहुल गांधी ने यहां अमेठी की जनता को संबोधित करते हुये कहानी सुनाने का प्रयास किया, लेकिन बार बार उनकी माइक ने उन्हें धोखा दिया। इस दौरान वहां मौजूद जनसमूह भी अपनी हंसी न दबा पाई, मानो कहना चाह रहे हों कि इतने दिनों बाद दिखोगे तो ऐसे ही धोखे मिलेंगे।

राहुल और प्रियंका का अमेठी पदयात्रा कार्यक्रम

शनिवार का दिन कांग्रेस पार्टी की पुश्तैनी सीट अमेठी के लिये जीवंत रहा। लगभग दो साल बाद अमेठी के पुराने सांसद राहुल गांधी आज यहां भाजपा भगाओ-महंगाई हटाओ पदयात्रा के लिये बहन प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ पहुंचे थे।

अमेठी पहुंचे कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जगदीशपुर के रामलीला मैदान से पद यात्रा की शुरुआत की। इस दौरान राहुल गांधी ने यहां अमेठी की जनता को संबोधित करते हुये कहानी सुनाने का प्रयास किया, लेकिन बार बार उनकी माइक ने उन्हें धोखा दिया।

अपने भाषण में उन्होंने कहा, कुछ दिन पहले प्रियंका मेरे पास आई और उसने मुझसे कहा कि… बस, इतना ही कह पा रहे थे कि माइक बार बार जवाब दे जा रहा था. आप खुद देख लीजिये ये वीडियो… इस दौरान वहां मौजूद जनसमूह भी अपनी हंसी न दबा पाई, मानो कहना चाह रहे हों कि इतने दिनों बाद दिखोगे तो ऐसे ही धोखे मिलेंगे।

आप भी देखिये… इस दौरान ​बहन प्रियंका भी फोन पर लगी हुई थीं, वरना शायद उनकी कुछ मदद ही कर देतीं!

राहुल गांधी ने रामलीला मैदान में काफी अरसे के बाद जब हर ओर राहुल-राहुल की गूंज सुनी तो राहुल जोश में आ गये। उन्होंने जैसे ही माइक उठाकर जनसमूह को संबोधित करने की कोशिश की, माइक ने धोखा ​दे दिया। यह एक बार होता तो फिर भी ठीक था, जब बार बार ऐसा ही होता रहा तो लोग अपनी हंसी नहीं रोक पाये। अब क्या कहें कि उस वक्त किसके मन में क्या क्या बातें आ रही होंगी लेकिन इतना तो तय है कि विपक्ष इस मुद्दे को लेकर राहुल की किरकिरी करने से पीछे नहीं रहेगा।

बहरहाल, राहुल गांधी को जब सही माइक मिला तो उन्होंने फिर से अमेठी की जनता का धन्यवाद करते हुये पीएम मोदी पर करारा प्रहार करने की कोशिश की। उन्होंने अपनी बात को आगे ले जाते हुये कहा कि आपने मुझे राजनीति सिखाई, मैं आपका धन्यवाद देता हूं। उन्होंने अपने संबोधन के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी को सीधे निशाने पर रखा। राहुल ने कहा कि एक तरफ हिंदू खड़े हैं, जो सच्चाई फैलाते हैं, दूसरी तरफ हिंदुत्ववादी खड़े हैं जो नफ़रत फैला रहे हैं। आज देश के सामने दो सवाल हैं, बेरोजगारी और महंगाई। प्रधानमंत्री-मुख्यमंत्री इसका जवाब नहीं देते।

हाल ही में वो गंगा स्नान कर रहे थे अकेले, लेकिन यह नहीं बताते कि रोजगार क्यों नहीं मिल रहा?

राहुल ने आगे कहा नरेंद्र मोदी तीन काले कानून लाए, पहले कहा किसानों के हित में है। एक साल किसान धरने पर बैठा, तब कह रहे हैं कि माफी मांग रहा हूं, गलती हुई। मैंने लोकसभा में सवाल उठाया तो सरकार ने कहा एक भी किसान नहीं मरा। हमने पंजाब में 400 किसान की मदद की, उन्होंने 700 किसान की नहीं की। वो नोटबंदी और जीएसटी लेकर आए, क्या इसका फायदा किसानों को, दुकानदारों को मिला?

राहुल गांधी 15 सालों तक अमेठी से सांसद रहे

गौरतलब है कि जगदीशपुर विधानसभा सीट आरक्षित है और यहां से भाजपा के सुरेश पासी विधायक हैं, जो प्रदेश सरकार में मंत्री भी हैं। राहुल गांधी 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा की स्मृति ईरानी से हारने के बाद दूसरी बार अमेठी के दौरे पर आ रहे हैं। राहुल गांधी 15 सालों तक यहां से सांसद रह चुके हैं।

स्मृति ईरानी ने ऐसे दी थी राहुल को पटकनी

बीजेपी की स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को 2019 के लोकसभा चुनाव में 19,000 से ज्यादा वोटों से मात दी थी। इससे पहले 2014 में भी स्मृति ने उन्हें कड़ी टक्कर दी थी, लेकिन वह दूसरे स्थान पर रही थीं। पराजय के बाद भी स्मृति ईरानी लगातार 5 सालों तक अमेठी में ऐक्टिव रहीं और 2019 में अमेठी की जनता ने उन्हें जीत के तौर पर आशीर्वाद दिया। 2019 के बाद अमेठी का गढ़ उखड़ने के साथ ही कांग्रेस उत्तर प्रदेश में महज एक सीट पर ही सिमट गई। रायबरेली सीट से सोनिया गांधी जीत हासिल करने में सफल रहीं। हालांकि उनकी जीत का अंतर भी पिछले आम चुनावों के मुकाबले कम हुआ है।

इसे भी पढ़ें:

क्या भाई-बहन मिलकर अमेठी की पुश्तैनी विरासत पर कर पाएंगे वापस कब्जा?

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button