Aspirational Districts: प्रधानमंत्री मोदी ने जिलाधिकारियों से की बातचीत, कहा आकांक्षी ज़िले अच्छा काम दिखा रहे

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये प्रधानमंत्री ने बातचीत की. पीएमओ ने ट्वीटर माध्यम से इसकी जानकारी दी. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि पिछले चार बर्षों में देश के लगभग हर जिले में.....

PM Narendra Modi meets DMs: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) ने आज शनिवार को विभिन्न जिलाधिकारियों के साथ बातचीत करने की. इस बातचीत में उन्होंने सरकारी योजनाओं और कार्यक्रमों की प्रगति और स्थिति पर उनकी सीधी प्रतिक्रिया ली. इस बात की घोषणा प्रधानमंत्री कार्यालय ने की थी. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये प्रधानमंत्री ने बातचीत की. पीएमओ ने ट्वीटर माध्यम से इसकी जानकारी दी. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि पिछले चार बर्षों में देश के लगभग हर जिले में जन-धन खातों में 4 से 5 गुना की वृद्धि हुई है. हर गांव तक बिजली पहुंची है. हर परिवार को लगभग शौचालय मिला है और बिजली सिर्फ गरीब के ही घर में नहीं गयी बल्कि लोगों के जीवन में ऊर्जा का संचार हुआ है. इसी सन्दर्भ में प्रधानमंत्री मोदी ने जिलाधिकारियों से की बातचीत की.

https://twitter.com/PMOIndia/status/1484785078308052994?cxt=HHwWhIDRha-KgpspAAAA

पीएम ने बातचीत के दौरान कहा कि जब दूसरों के सपनों को पूरा करना अपनी सफलता का पैमाना बन जाए तो फिर वह कर्तव्य पथ इतिहास रचता है. आज के दिन हम देश के आकांक्षी जिलों (Aspirational Districts) में यह इतिहास बनते हुए देख रहे हैं.

Source: Social Media

उन्होंने कहा, ‘’आज आकांक्षी ज़िले (Aspirational Districts) देश के आगे बढ़ने में अवरोध को ख़त्म कर रहे हैं. सबके प्रयासों से आज आकांक्षी जिले गतिरोधक के जगह गतिवर्धक बन रहे हैं जो ज़िले पहले कभी तेज प्रगति करने वाले माने जाते थे,आज कई पैमानों में ये आकांक्षी ज़िले भी अच्छा काम दिखा रहे हैं.’’

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आगे कहा कि ‘’आकांक्षी जिलों (Aspirational Districts) में जो लोग रहते हैं, उन लोगों में आगे बढ़ने की भूख होती है. लोगों ने अपने जीवन का अधिकतर समय संसाधन अभाव और मुश्किलों में बिताया है. इन लोगों नें छोटी-छोटी चीजों के लिए मेहनत किया है. यही कारण है कि वो लोग साहस दिखाने के लिए और खतरा लेने के लिए तैयार रहते हैं.’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि, ‘’डिजिटल इंडिया के रूप में अपना देश एक मौन क्रांति का उदहारण बन रहा है. हमारा कोई भी ज़िला इस क्रांति में पीछे नहीं रहना चाहिए. डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर हमारे गांव-गांव तक पहुचें. सेवाओं और सुविधाओं की डोर स्टेप डिलिवरी का जरिया बने, यह बेहद जरूरी है.’’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘’सरकार के अलग-अलग मंत्रालयों ने और अलग-अलग विभागों ने ऐसे कुल 142 जिलों की एक लिस्ट तैयार की है. जिन एक-दो पैमानों पर ये अलग-अलग 142 जिले पीछे रह गए हैं, अब हमें वहां भी उसी कलेक्टिव अप्रोच के साथ काम करना है, जैसे हम आकांक्षी जिलों (Aspirational Districts) में करते हैं.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button