PM मोदी ने किया गंगा एक्सप्रेसवे का शिलान्यास, कहा- UP+YOGI = बहुत हैं UPYOGI

कल ही अशफाकउल्लाह खान, रामप्रसाद बिसमिल्ल और रोशन का बलिदान दिवस है। इन वीरों का हम सब पर बहुत बड़ा कर्ज है। ये कर्ज हम कभी चुका नहीं सकते लेकिन देश के विकास के लिए दिन-रात लगाकर उस भारत का निर्माण कर उन लोगों को सच्ची श्रद्धांजलि दे सकते हैं। आज यूपी के सबसे बड़े एक्सप्रेसवे पर काम शुरू हो रहा है। रामचरित मानस में कहा गया है मां गंगा सारे मंगलों की सारी उन्नति प्रगति की स्रोत हैं। मां गंगा सारी पीड़ा हर लेती हैं। ऐसे ही गंगा एक्सप्रेसवे भी यूपी की प्रगति के नए द्वार खोलेगा।

PM मोदी ने किया गंगा एक्सप्रेसवे का शिलान्यास

तुकबंदी में माहिर प्रधानमंत्री नरेेंद्र मोदी ने आज गंगा एक्सप्रेसवे के उद्घाटन के मौके पर एक नया जुमला दिया है। UP+YOGI = बहुत हैं UPYOGI. यकीनन मोदी की टीम की उनके जबरदस्त जुमलों के लिये तारीफ की जानी चाहिए। जनता का नब्ज टटोलने में माहिर मोदी ने यूपी में योगी आदित्यनाथ की साख को मजबूती प्रदान करने के लिये यह बेहतरीन जुमला यूपी की जनता के बीच रखा है ताकि वे आने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी, मोदी और योगी का साथ न छोड़ें। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शाहजहांपुर के रोजा रेलवे ग्राउंड में आज गंगा एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास करने पहुंचे। उनके साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे।

इस मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभा को संबोधित करते हुए पीएम का अभिवादन किया। फिर कहा कि हम सबका सौभाग्य है कि शाहजहांपुर की धरती रामप्रसाद बिसमिल्ल से लेकर परमवीर चक्र विजेता की भी धरती है। उन्होंने कहा कि यहां 2014 से पहले जो नारे लगते थे घोषणाएं होती थीं वह चुनाव तक सीमित रहती थी लेकिन 2014 के बाद अब जोड़ने का काम हो रहा है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभा को संबोधित करते हुए पीएम का अभिवादन किया। फिर कहा कि हम सबका सौभाग्य है कि शाहजहांपुर की धरती रामप्रसाद बिसमिल्ल से लेकर परमवीर चक्र विजेता की भी धरती है। उन्होंने कहा कि यहां 2014 से पहले जो नारे लगते थे घोषणाएं होती थीं वह चुनाव तक सीमित रहती थी लेकिन 2014 के बाद अब जोड़ने का काम हो रहा है।

आजादी के बाद जिन मुद्दों से दूरी बनाई गई उन सबको महत्व देने का काम पीएम मोदी ने किया है। यह हम सब के लिए महत्वपूर्ण क्षण है। यूपी के अंदर 1947 से 2014 तक डेढ़ एक्सप्रेसवे बना था लेकिन उससे बाद तक छह एक्सप्रेसवे बन रहे हैं। आज यूपी की अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ करने का काम हो रहा है। पहली बार श्रमिक सम्मान प्राप्त कर रहा है किसान सम्मान प्राप्त कर रहा है। आपने देखा होगा कि पीएम ने कुंभ में सफाईकर्मियों के पैर धोए।

मॉडल का अवलोकन करने के बाद पीएम मंच पर पहुंचे फिर परियोजना का शिलान्यास किया। मंच पर उन्हें स्मृति चिन्ह भी भेंट किया गया। रैली स्थल पर पहुंचकर पीएम ने सीएम के साथ परियोजनाओं के मॉडल का अवलोकन किया।

संयोग से कल ही अशफाकउल्लाह खान, रामप्रसाद बिसमिल्ल और रोशन का बलिदान दिवस है। इन वीरों का हम सब पर बहुत बड़ा कर्ज है। ये कर्ज हम कभी चुका नहीं सकते लेकिन देश के विकास के लिए दिन-रात लगाकर उस भारत का निर्माण कर उन लोगों को सच्ची श्रद्धांजलि दे सकते हैं।

पीएम मोदी अपना भाषण स्थानीय भाषा में लोगों का अभिवादन करते हुए हर-हर गंगे का जयकारा लगाकर शुरू किया। पीएम ने कहा काकोरी से क्रांति की अलख जगाने वाले वीर शहीद क्रांतिकारी रामप्रसाद बिसमिल्ल, अशफाकउल्लाह खान और रोशन सिंह को मैं नमन करता हूं। इहां आप लोगन का आशीर्वाद हौ कि ई माटी के माथे पर लगले क सौभाग्य मिलल। इत्तो ही नाहीं अनुशासन और वफादारी क संकल्प निभावे वाले स्काउट गाइड के जनक की इ धरती को हम प्रणाम करत हई। संयोग से कल ही अशफाकउल्लाह खान, रामप्रसाद बिसमिल्ल और रोशन का बलिदान दिवस है। इन वीरों का हम सब पर बहुत बड़ा कर्ज है। ये कर्ज हम कभी चुका नहीं सकते लेकिन देश के विकास के लिए दिन-रात लगाकर उस भारत का निर्माण कर उन लोगों को सच्ची श्रद्धांजलि दे सकते हैं। आज यूपी के सबसे बड़े एक्सप्रेसवे पर काम शुरू हो रहा है। रामचरित मानस में कहा गया है मां गंगा सारे मंगलों की सारी उन्नति प्रगति की स्रोत हैं। मां गंगा सारी पीड़ा हर लेती हैं। ऐसे ही गंगा एक्सप्रेसवे भी यूपी की प्रगति के नए द्वार खोलेगा।

इसे भी पढ़ें:

गंगा एक्सप्रेसवे निर्माण के लिए पर्यावरण मंत्रालय से मिली मंजूरी

किसान हों या युवा ये सबके लिए अनंत संभावनाओं का एक्सप्रेसवे है

पीएम ने कहा कि ये एक्सप्रेसवे करीब एक हजार किलोमीटर का है। इसके जरिए हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा। वो दिन दूर नहीं जब यूपी की पहचान नेक्स्ट जेनरेशन वाले सबसे आधुनिक राज्य के रूप में होगी। यूपी में जो नए रेलवे रूट, एक्सप्रेसवे और एयरपोर्ट बन रहे हैं, वो कई वरदान ला रहे हैं। जैसे समय की बचत, संसाधनों का उत्तम से उत्तम उपयोग, यूपी के सामर्थ्य में वृद्धि, यूपी में चौतरफा समृद्धि। अब यूपी के एक शहर से दूसरे शहर जाने में पहले से कम समय लगेगा। यूपी के 12 जिलों को जोड़ने वाला एक्सप्रेसवे दिल्ली से बिहार आने जाने का समय भी कम कर देगा। जब ये तैयार हो जाएगा तो उद्योगों का क्लस्टर इसके आसपास बन जाएगा। जो किसानों से लेकर एमएसएमई तक सबके लिए बेहद मददगार होगा। किसानों की आय बढ़ाने में भी मदद मिलेगी। किसान हों या युवा, ये सबके लिए अनंत संभावनाओं का एक्सप्रेसवे है।

जब समय बचता है, सुविधा बचती है, संसाधनों का सही इस्तेमाल बचता है तो सामर्थ्य बढ़ता है और फिर समृद्धि अपने आप आती है। आज डबल इंजन की सरकार में यूपी का बढ़ता सामर्थ्य हम सभी देख रहे हैं। एक्सप्रेसवे से लेकर एयपोर्ट्स तक सभी प्रोजेक्ट जनसेवा के लिए समर्पित हो चुके हैं।

सामर्थ्य बढ़ता है तो समृद्धि अपने आप आती है

पीएम ने कहा कि जब समय बचता है, सुविधा बचती है, संसाधनों का सही इस्तेमाल बचता है तो सामर्थ्य बढ़ता है और फिर समृद्धि अपने आप आती है। आज डबल इंजन की सरकार में यूपी का बढ़ता सामर्थ्य हम सभी देख रहे हैं। एक्सप्रेसवे से लेकर एयपोर्ट्स तक सभी प्रोजेक्ट जनसेवा के लिए समर्पित हो चुके हैं।

यह एक्सप्रेसवे समाज के हर तबके को फायदा देगा

गंगा एक्सप्रेसवे यूपी के विकास को गति और शक्ति दोनों देगा। इससे एयरपोर्ट, मेट्रो, वाटरवेज, डिफेंस कॉरिडोर भी जोड़ा जाएगा। इसे फायबर ऑप्टिक केबल, बिजली तार बिछाने में आदि में भी इस्तेमाल किया जाएगा। भविष्य में पश्चिमी यूपी के कार्गो कंटेनर वाराणसी के ड्राईपोर्ट के माध्यम से सीधे हल्दिया भेजे जाएंगे। यह एक्सप्रेसवे समाज के हर तबके को फायदा देगा। जब पूरा यूपी एक साथ बढ़ता है तभी तो देश आगे बढ़ता है। सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास के मंत्र के साथ हम यूपी के विकास के प्रयास में जुटे हैं। अब यूपी में भेदभाव नहीं सबका भला होता है। पांच साल पहले राज्य के कुछ इलाकों को छोड़कर बिजली ढूंढे नहीं मिलती थी। डबल इंजन की सरकार ने पहले के मुकाबले ज्यादा बिजली दी है।

गरीबों के पक्के घर के लिए हमारी सरकार ने दो लाख करोड़ रुपये स्वीकृत किए

हमारी सरकार ने 30 लाख लोगों को पक्के घर दिए। उन लोगों का हमें आशीर्वाद मिलेगा, जिससे हम आपके लिए पहले से ज्यादा काम कर पाएंगे। यहां शाहजहांपुर में भी 50 हजार लोगों को पक्के घर मिले हैं। उनके जीवन का सबसे बड़ा सपना पूरा हुआ। जिन लोगों को अब भी पीएम आवास योजना के घर नहीं मिले, उन्हें जल्द घर मिले उसके लिए भी मोदी-योगी दिन रात काम करते हैं और करते रहेंगे। हाल ही में हमारी सरकार ने दो लाख करोड़ रुपये स्वीकृत किए हैं। हम आपके लिए ही काम करते हैं, कुछ 50 लोगों के लिए नहीं। आज गरीब के लिए काम करने वाली सरकार बनी है।

पहले यहां रात में इमरजेंसी की जरूरत होती थी तो हरदोई शाहजहांपुर के लोगों को लखनऊ कानपुर दिल्ली भागना पड़ता था। यहां अस्पताल भी नहीं थे और सड़कें भी नहीं थीं। लेकिन अब यहां मेडिकल कॉलेज भी हैं, सड़कें भी हैं। ऐसे ही होता है दमदार काम, ईमानदार काम।

हमारी नीतियों से छोटे किसानों को लाभ

पीएम ने आगे कहा कि पहले यहां रात में इमरजेंसी की जरूरत होती थी तो हरदोई शाहजहांपुर के लोगों को लखनऊ कानपुर दिल्ली भागना पड़ता था। यहां अस्पताल भी नहीं थे और सड़कें भी नहीं थीं। लेकिन अब यहां मेडिकल कॉलेज भी हैं, सड़कें भी हैं। ऐसे ही होता है दमदार काम, ईमानदार काम। जो भी समाज में पीछे हैं पिछड़े हैं, उसे सशक्त करना विकास का लाभ उस तक पहुंचाना हमारे सरकार की प्राथमिकता है। यही भावना हमारी किसानों से जुड़ी नीति में भी दिखती है। बीज से बाजार तक की जो नीति हमने बनाई है, वो छोटे किसानों को देखकर बनाई है। पीएम सम्मान निधि के तहत जो पैसे सीधे अकाउंट में पहुंचे हैं, उसका सीधा लाभ छोटे किसानों को हुआ है। उन्हें हम किसान क्रेडिट कार्ड सुविधा से जोड़ रहे हैं। हमारा मकसद सिंचाई के रकबे में विस्तार करना और टेक्नोलॉजी में वृद्धि करने से है। हमारा प्रयास गांव के पास ही ऐसा इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने का है, जिससे जल्दी खराब होने वाली सब्जियों की खेती ज्यादा हो और जल्द उनकी फसल बाजार में पहुंच जाए। इससे फूड प्रोसेसिंग यूनिट को फायदा होगा और गांव में ही बाजार मिलेगा।

कुछ दल ऐसे हैं जिन्हें देश के विकास और विरासत दोनों से है तकलीफ

कुछ दल ऐसे हैं जिन्हें देश की विरासत और विकास दोनों से दिक्कत है। इन लोगों को बाबा विश्वनाथ का धाम बनने से, राम मंदिर से, गंगा जी की सफाई से दिक्कत है। यही लोग सेना की कार्रवाई पर सवाल उठाते हैं, भारतीय वैज्ञानिकों की कोरोना वैक्सीन पर सवाल उठाते हैं। सरकार जब सही नीयत के साथ काम करती है तो क्या परिणाम आते हैं, ये यूपी ने बीते कुछ सालों में अनुभव किया है। पहले लोग कहते थे कि दीया बरे तो घर लौट आओ क्योंकि सूरज डूबता था तो कट्टा लहराने वाले सड़कों पर आ धमकते थे। ये कट्टा चला गया और इसे जाना ही था। बेटियों की सुरक्षा पर आए दिन सवाल उठते रहते थे, उनका स्कूल जाना भी मुश्किल था। व्यापारी कारोबारी सुबह निकलता था तो परिवार को चिंता होती थी, कब कहां दंगा हो जाए, आगजनी हो जाए, कोई नहीं कह सकता था। पीएम ने कहा कि आपका प्यार और आशीर्वाद हमें दिन-रात काम करने की प्रेरणा देते हैं। पहले कई गांवों से पलायन की खबरें आती रहती थीं। योगी सरकार ने बीते साढ़े चार साल में स्थिति को बदलने के लिए बहुत परिश्रम किया है। आज जब माफिया पर बुलडोजर चलता है तो दर्द उसको पालने-पोसने वालों को होती है। तभी आज पूरे यूपी की जनता कह रही है यूपी+योगी बहुत हैं उपयोगी।

मेरठ में एक बाजार है सोतीगंज। चोरी की गाड़ियों की कटाई यहां होती थी। इसको रोकने की किसी को हिम्मत नहीं थी लेकिन इसे रोकने का काम योगी जी ने किया है। जिनको माफिया का साथ पसंद हैं वो माफिया की ही बात करेंगे। हम उनकी बात करेंगे, जिन्होंने तप त्याग से इस देश को बनाया है।

सोतीगंज बाजार का भी किया जिक्र

मेरठ में एक बाजार है सोतीगंज। चोरी की गाड़ियों की कटाई यहां होती थी। इसको रोकने की किसी को हिम्मत नहीं थी लेकिन इसे रोकने का काम योगी जी ने किया है। जिनको माफिया का साथ पसंद हैं वो माफिया की ही बात करेंगे। हम उनकी बात करेंगे, जिन्होंने तप त्याग से इस देश को बनाया है। देश की आजादी के लिए अपना जीवन समर्पण करने वालों को उचित स्थान दिलाना हमारा उद्देश्य है। इसी कड़ी में शाहजहांपुर में संग्रहालय का निर्माण कराया जा रहा है। इससे राष्ट्र के प्रति समर्पण की प्रेरणा मिलती रहेगी। पूर्व हो पश्चिम अवध हो या बुंदेलखंड, यूपी के सभी कोनों का विकास करने का काम जारी रहेगा। इसी के साथ पीएम ने भारत माता की जय के नारे लगाकर अपनी वाणी को विराम दिया।

इसे भी पढ़ें:

PM मोदी ने किया काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण

सेना को मिलेगी सहायता

बता दें कि शाहजहांपुर एक्सप्रेसवे निर्माण के दौरान जलालाबाद के गांव बढोडार, चमरपुर कलां, पीरू सहित पांच गांवों में 960 मीटर की हवाई पट्टी बनाई जाएगी। इससे नेपाल और चीन तक एयरफोर्स की पहुंच आसान रहेगी। एयरफोर्स के लिए बरेली के बाद शाहजहांपुर नया बेस साबित होगा।
 
एक्सप्रेस-वे पर मिलेंगी ये सुविधाएं

डिजाइन में एक्सप्रेसवे के किनारे दी जाने वाली सुविधाओं को भी दिखाया गया है। इसमें कार, बस के लिए पार्किंग, पेट्रोल पंप, इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन, सर्विस स्टेशन, फूड आउटलेट, ढाबा, पानी पीने के बूथ, शौचालय ब्लॉक को शामिल किया गया। इस सुविधाओं को देने के लिए 250 मीटर लंबा और 200 मीटर चौड़ा स्थान लिया जाएगा। 

12 जिलों को जोड़ने वाला यह एक्सप्रेस-वे आसान ट्रांसपोर्टेशन के साथ ही रोजगार सृजन का माध्यम बनेगा। एक्सप्रेस-वे के किनारे औद्योगिक कलस्टर बनाए जाने के साथ ही शाहजहांपुर में प्रस्तावित हवाई पट्टी सेना के लिए सहायक साबित होगी। यह एक्सप्रेस-वे शाहजहांपुर के विकास की रफ्तार तेज करेगा। 

शाहजहांपुर के विकास को पंख लगाएगा एक्सप्रेस-वे

12 जिलों को जोड़ने वाला यह एक्सप्रेस-वे आसान ट्रांसपोर्टेशन के साथ ही रोजगार सृजन का माध्यम बनेगा। एक्सप्रेस-वे के किनारे औद्योगिक कलस्टर बनाए जाने के साथ ही शाहजहांपुर में प्रस्तावित हवाई पट्टी सेना के लिए सहायक साबित होगी। यह एक्सप्रेस-वे शाहजहांपुर के विकास की रफ्तार तेज करेगा। 

गंगा एक्सप्रेस-वे से जुड़े मुख्य तथ्य

594 किलोमीटर लंबा यह सबसे बड़ा एक्सप्रेस-वे होगा। यह मेरठ के बिजौली गांव से शुरू होकर हापुड़, बुलंदशहर, अमरोहा, संभल, बदायूं, शाहजहांपुर, हरदोई, उन्नाव, रायबरेली, प्रतापगढ़ और प्रयागराज में जूड़ापुर दांदू में नेशनल हाईवे-19 में मिलेगा।
एक्सप्रेस-वे बनने के बाद लखनऊ से मेरठ की दूरी महज पांच घंटे की रह जाएगी। गंगा एक्सप्रेस पर वाहनों की गति करीब 120 किमी प्रति घंटा होगी। गंगा नदी पर लगभग 960 मीटर और रामगंगा नदी पर लगभग 720 मीटर लंबाई के दीर्घ पुल बनेंगे। परियोजना की कुल लागत 36,230 करोड़ रुपये आंकी गई है। एक्सप्रेस-वे के लिए किसानों से जमीन का अधिग्रहण लगभग 95 प्रतिशत पूरा हो चुका है।

40 महापौर परिवार सहित अयोध्या पहुंचे

दूसरी ओर, आज अयोध्या में भाजपा शासित महानगरों के 40 महापौर ने आज अयोध्या में दर्शन पूजन किया। होटल पंचशील में अयोध्या नगर निगम के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने सभी महापौर का स्वागत किया। 40 महापौर परिवार सहित अयोध्या पहुंचे थे।

इस मौके पर जम्मू के महापौर चंद्र मोहन गुप्ता ने कहा कि भगवान श्री राम की नगरी अयोध्या आने का मन बार-बार करता है।

बाबा काशी विश्वनाथ के दर्शन के बाद सभी ने रामलला के दर्शन किये। इसके बाद महापौर चंद्र मोहन गुप्ता ने जम्मू के हालात पर कहा कि जम्मू के हालात पहले से बहुत अच्छे हैं। जब से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की बागडोर संभाली है जम्मू के हालात सुधरे हैं। विकास में सबसे बड़ी रुकावट धारा 370 को हटाया गया।

देश 1947 में आजाद हुआ था, लेकिन जम्मू कश्मीर 5 अगस्त 2019 को आजाद हुआ। अब जम्मू में विकास हो रहा है। लोग खुद को सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। देश के लोगों का यहां आना जाना शुरू हुआ है। जैसे हम लोग अयोध्या आते हैं वैसे ही सब लोग जम्मू कश्मीर आ रहे हैं।

देश 1947 में आजाद हुआ था, लेकिन जम्मू कश्मीर 5 अगस्त 2019 को आजाद हुआ। अब जम्मू में विकास हो रहा है। लोग खुद को सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। देश के लोगों का यहां आना जाना शुरू हुआ है। जैसे हम लोग अयोध्या आते हैं वैसे ही सब लोग जम्मू कश्मीर आ रहे हैं।

जम्मू कश्मीर में विकास का दौर शुरू हो चुका है। हम जम्मू लौटकर वहां के लोगों से आग्रह करेंगे कि वे भी अयोध्या पहुंचकर रामलला का दर्शन पूजन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × 3 =

Related Articles

Back to top button