UP: निर्वाचन आयोग ने वीडियो कांफ्रेंसिंग कर निर्वाचक नामावलियों की समीक्षा की

वीडियो कांफ्रेंसिंग में सेक्रेटरी जनरल ने निर्देश देते हुए कहा कि मतदाता पंजीकरण का कार्य पूर्ण निष्ठा एवं ईमानदारी से किया जाए। किसी भी अर्ह मतदाता का नाम मतदाता सूची में सम्मिलित होने से छूटने न पाए। उन्होंने कहा कि 01 जनवरी 2022 को 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने वाले नए मतदाताओं के पंजीकरण पर विशेष ध्यान दिया जाए।

  • भारत निर्वाचन आयोग ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से आगामी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की निर्वाचक नामावलियों के पुनरीक्षण की गहन समीक्षा की
  • आयोग के सेक्रेटरी जनरल उमेश सिन्हा ने मतदाता पंजीकरण का कार्य पूर्ण निष्ठा एवं ईमानदारी से करने के दिये निर्देश
  • 1 जनवरी 2022 को 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने वाले नए मतदाताओं के पंजीकरण पर विशेष ध्यान दिया जाए
  • सभी ए.आर.ओ., ई.ए.आर.ओ., बीएलओ की प्रतिदिन माइक्रो मानीटरिंग की जाये, जिससे मतदाता सूची में होने वाली गलतियों को समय से सुधारा जा सके

लखनऊः भारत निर्वाचन आयोग के सेक्रेटरी जनरल उमेश सिन्हा व सीनियर डिप्टी इलेक्शन कमिश्नर सुदीप जैन, डिप्टी इलेक्शन कमिश्नर चंद्र भूषण कुमार ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी, उत्तर प्रदेश अजय कुमार शुक्ला एवं समस्त मंडलायुक्त (रोल आब्जर्वर) अपर आयुक्त(रोल आब्जर्वर), जिला निर्वाचन अधिकारियों, उप जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ आगामी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की निर्वाचक नामावलियों का संक्षिप्त पुनरीक्षण-2022 की गहन समीक्षा वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से की है।

वीडियो कांफ्रेंसिंग में सेक्रेटरी जनरल ने निर्देश देते हुए कहा कि मतदाता पंजीकरण का कार्य पूर्ण निष्ठा एवं ईमानदारी से किया जाए। किसी भी अर्ह मतदाता का नाम मतदाता सूची में सम्मिलित होने से छूटने न पाए। उन्होंने कहा कि 01 जनवरी 2022 को 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने वाले नए मतदाताओं के पंजीकरण पर विशेष ध्यान दिया जाए। पंजीकरण के लिए प्राप्त आवेदनों में छोटी-छोटी गलतियां होने पर उन्हें निरस्त न किया जाए, बल्कि बीएलओ घर-घर जाकर ऐसे फार्मों की गलतियों को सुधारने का कार्य करें। सभी ए.आर.ओ., ई.ए.आर.ओ., बीएलओ की प्रतिदिन माइक्रो मानीटरिंग की जाये, जिससे मतदाता सूची में होने वाली गलतियों को समय से सुधारा जा सके।

सिन्हा ने कहा कि सभी जिला निर्वाचन अधिकारी निरस्त फार्मों की गहनता से मानीटरिंग करें। उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग का उद्देश्य है कि सभी अर्ह मतदाताओं का नाम मतदाता सूची में अवश्य दर्ज हो। इसलिए समस्त संबंधित अधिकारी/कर्मचारी अपना कार्य मेहनत एवं पूर्ण निष्ठा के साथ करें।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में निर्वाचन कार्यालय, उ.प्र. से अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रमोद कुमार उपाध्याय एवं चंद्रशेखर, विशेष कार्याधिकारी निर्वाचन रमेश चंद्र राय, संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी अम्बरीश कुमार श्रीवास्तव मौजूद रहे।

इसे भी पढ़ें:

मोदी आज यूपी के भाजपा सांसदों से बात करेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published.

5 × 2 =

Related Articles

Back to top button