ICC ने भारत की दो महिलाओं को दिया अंपायर का दर्जा, BCCI ने किया ऐलान

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आइसीसी ने अपने इंटरनेशनल पैनल ऑफ आइसीसी डेवलेपमेंट अंपायर्स में दो भारतीय महिलाओं को जगह दी है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआइ ने भी इस बात का ऐलान कर दिया है कि भारत की दो महिलाओं को आइसीसी ने अंपायर का दर्जा दिया है। ये भारतीय महिलाएं अब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में अंपायरिंग कर सकती हैं।

आइसीसी के मुताबिक, भारत की जननी नारायणन (Janani Narayanan) और वृंदा राठी (Vrinda Rathi) ने अंपायर के तौर पर आइसीसी को ज्वाइन किया है और इस तरह अब इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल में महिला मैच ऑफिशियल्स की संख्या 12 हो गई है। बीसीसीआइ ने इस बात की जानकारी दी है कि अब तक 3 भारतीय महिलाएं आइसीसी में वुमेंस मैच ऑफिशियल्स बन गई हैं।

आइसीसी ने प्रदर्शन के आधार पर किया है सलेक्शन

बता दें कि जननी और वृंदा से पहले जीएस लक्ष्मी ने आइसीसी के इंटरनेशनल पैन ऑफ मैच रेफरी में जगह बनाई थी। आइसीसी ने अंपायर्स डेवलेपमेंट पैनल में इन भारतीय महिलाओं का सलेक्शन इनके प्रदर्शन के आधार पर किया है। आइसीसी ने अलग-अलग देशों में देखा था कि कौन किस तरह की अंपायरिंग कर रहा है और आगे कौन इंटरनेशनल मैच में अंपायरिंग कर सकता है। राठी और नारायणन को अगले साल न्यूजीलैंड में होने वाले वुमेंस क्रिकेट वर्ल्ड कप में अपंयारिंग करने का मौका मिल सकता है, क्योंकि आइसीसी वुमेंस और वुमेंस क्रिकेट को काफी प्रमोट कर रही है।

इस बारे में ICC के सीनियर मैनेजर अंपायर्स और रेफरी Adrian Griffith ने कहा है, “ये महिला क्रिकेट के लिए बहुत उत्साह भरा समय है। यही वजह है कि आज अंतरराष्ट्रीय स्तर पर वुमेन ऑफिशियल्स की संख्या बढ़ रही है। मुझे भरोसा है कि जननी और वृंदा इस पैनल में अच्छा करेंगी। मैं उनको भविष्य में अच्छा करने के लिए शुभकामनाएं देता हूं।”

दोनों महिलाओं ने किया बीसीसीआइ का धन्यवाद

जननी नारायणन ने इस बारे में कहा है, “यह महसूस करके अच्छा लग रहा है कि मैं और वृंदा आइसीसी के डेवलेपमेंट पैनल में शामिल किए गए हैं। यह मेरे लिए सीनियर्स से सीखने का एक बड़ा मौका होगा। क्रिकेट मेरे रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा बन गया है। मैं हमेशा से बड़े स्तर पर इस खेल से जुड़ना चाहती थी। बीसीसीआइ की वजह से मैं इस मौके को हासिल कर पाई हूं, जिसके लिए बोर्ड का धन्यवाद करती हूं।”

वहीं, साल 2018 से घरेलू क्रिकेट में अंपायरिंग कर रहीं वृंदा राठी ने कहा है, “मैं आइसीसी के डेवलेपमेंट पैनल में नामित होने के लिए खुद को सौभाग्यशाली महसूस करती हूं, क्योंकि यह मेरे लिए नए रास्ते खोलता है। क्रिकेट खेलना और फिर स्कोरिंग करना मेरे लिए इसका एक पड़ाव रहा है। मैं बीसीसीआइ का धन्यवाद करना चाहती हूं, जिसने सालों मेरा समर्थन किया और आइसीसी भी शुक्रिया अदा करना चाहती हूं, जिसने मुझे ये अवसर दिया।”

ये महिलाए हैं ICC match officials

जीएस लक्ष्मी, शंद्रे फ्रिट्ज(मैच रेफरी); लॉरेन एगेनबैग, किम कॉटॉन, शिवानी मिश्रा, क्लायर पोलोस्क, सु रेडफर्न, इलोसी शेरिडन, मैरी वॉलड्रोन, जैकलीन विलियम्स, वृंदा राठी और जननी नारायणन(अंपायर्स)।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button