लखीमपुर खीरी हिंसा : अजय मिश्रा की गिरफ्तारी को लेकर किसानों का देशव्यापी आंदोलन कल

भारतीय किसान यूनियन का देशव्यापी आंदोलन कल

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले के विरोध में पिछले सोमवार, 18 अक्टूबर 2021 को संयुक्त किसान मोर्चा के सफल देशव्यापी रेल रोको आंदोलन के बाद कल यानि मंगलवार को एक बार फिर भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले सड़कों पर उतरने की तैयारी में हैं के देश किसान.

मंगलवार, 26 अक्टूबर 2021 को भारतीय किसान यूनियन (Bharat Kisan Union) ने लखीमपुर खीरी हत्या (Lakhimpur Kheri violence) में नामजद केंद्रीय गृह राज्य मंत्री आशीष मिश्रा के बेटे अजय मिश्रा (MoS Ajay Mishra) की अब तक भी गिरफ्तारी कर केंद्रीय मंत्रिपरिषद से उनकी बर्खास्तगी न होने पर अपना विरोध तेज करते हुए इस देशव्यापी विरोध का आह्वान किया है. साथ ही, यह मांग की है कि आरोपी अजय मिश्रा की जल्द से जल्द सजा दी जाए.

भारतीय किसान यूनियन ने अपने कैडरों को निर्देश जारी कर जिला कार्यालयों पर भी विरोध प्रदर्शन करने का आग्रह किया है. बता दें कि इसी हफ्ते सोमवार को किसानों ने देशभर में ‘रेल रोको आंदोलन’ किया था.

भारतीय किसान यूनियन ने इस आंदोलन को लेकर ट्वीट भी किया है, ’26 अक्टूबर को केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय टेनी की गिरफ्तारी को लेकर देशभर में जिला मुख्यालयों पर आंदोलन किया जाएगा. सभी कार्यकर्ता तैयारी के साथ आंदोलन करें.’

रतीय किसान यूनियन ने इस आंदोलन को लेकर ट्वीट भी किया है, ’26 अक्टूबर को केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय टेनी की गिरफ्तारी को लेकर देशभर में जिला मुख्यालयों पर आंदोलन किया जाएगा. सभी कार्यकर्ता तैयारी के साथ आंदोलन करें.’

इससे पहले सोमवार को संयुक्त किसान मोर्चा ने 6 घंटे का रेल रोको आंदोलन किया था, जिसका देशभर में मिला जुला असर रहा. किसान मोर्चा ने दावा किया कि रेल रोको आंदोलन में 290 से अधिक ट्रेनें कथित तौर पर प्रभावित हुईं और 40 से अधिक ट्रेनें रद्द की गईं. किसान मोर्चा ने भी लखीमपुर खीरी कांड में अजय मिश्रा को गिरफ्तार कर केंद्रीय मंत्रिपरिषद से उनकी बर्खास्तगी की अपनी मांग दोहराई है.

लखीमपुर खीरी हिंसा

मालूम हो कि लखीमपुर खीरी में कथित तौर पर एक एसयूवी ने 4 किसानों को कुचल दिया था, जिसके बाद भड़की हिंसा में 4 किसानों समेत 8 लोगों की मौत हो गई थी. दरअसल, जब केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों ने यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की यात्रा का विरोध किया था. तब उसी दौरान कथित तौर पर किसानों की भीड़ को कार से कुचल दिया गया. इसमें 4 किसान मारे गए. बाद में किसानों ने कार को पकड़कर आग लगा दी थी. किसानों के हमले में एक पत्रकार और कार ड्राइवर समेत 4 लोगों की मौत हो गई.

लखीमपुर हिंसा मामला: क्या न्याय के लिए पर्याप्त है आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी?

केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में किसानों का विरोध करने पर कथित तौर पर अपनी कार चलाने के बाद भड़की हिंसा के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया था. इस बीच मामले के सिलसिले में शनिवार को तीन और लोगों को गिरफ्तार किया गया, जिससे गिरफ्तार लोगों की कुल संख्या 13 हो गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

8 + 17 =

Related Articles

Back to top button