अमित शाह ने किया सहारनपुर में माँ शाकुम्भरी विश्वविद्यालय का शिलान्यास

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वर्तमान में प्रदेश विकास की नयी बुलंदियों को छू रहा है। गन्ना किसानों को गन्ना मूल्य भुगतान समयबद्धता के साथ किया जा रहा है। पूर्ववर्ती सरकारें चीनी मिलों को बेच और बंद कर रही थीं। वर्तमान राज्य सरकार सभी चीनी मिलों को संचालित कर रही है।

लखनऊ: गृह एवं सहकारिता मंत्री, भारत सरकार अमित शाह ने गुरुवार को जनपद सहारनपुर में माँ शाकुम्भरी विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया। इस अवसर पर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उपस्थित थे। माँ शाकुम्भरी विश्वविद्यालय की स्थापना सहारनपुर जनपद की तहसील सदर के ग्राम पुवांरका में कुल 50.43 एकड़ क्षेत्रफल में की जायेगी।

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि जनपद सहारनपुर की पवित्र एवं ऐतिहासिक भूमि की अधिष्ठात्री देवी माँ शाकुम्भरी के नाम पर विश्वविद्यालय के शिलान्यास का अवसर सौभाग्य की बात है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के महायज्ञ में इस विश्वविद्यालय का शिलापूजन एक और आहुति है। उन्होंने कहा कि माँ शाकुम्भरी विश्वविद्यालय की स्थापना से इस क्षेत्र के तीन जनपदों के युवाओं को घर के निकट ही उच्च शिक्षा की उत्कृष्ट व्यवस्था सुलभ होगी।

अमित शाह ने किया माँ शाकुम्भरी विश्वविद्यालय का शिलान्यास
माँ शाकुम्भरी विश्वविद्यालय की स्थापना से तीन जनपदों के युवाओं को घर के निकट ही उच्च शिक्षा की उत्कृष्ट व्यवस्था सुलभ

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश को भ्रष्टाचार से निकाल कर विकास की राह पर ले आए। उनके नेतृत्व में प्रदेश में कानून व्यवस्था को चुस्त-दुरूस्त बनाया गया है। इससे महिलाओं और बालिकाओं में सुरक्षा की भावना पैदा हुई है।

उन्होंने कहा मुख्यमंत्री के नेतृत्व में वर्तमान राज्य सरकार के कार्यकाल में पूर्ववर्ती सरकारों की तुलना में डकैती में 70 प्रतिशत, हत्या में 30 प्रतिशत, लूट में 69 प्रतिशत तथा दहेज में 22.5 प्रतिशत की कमी आयी है।


मुख्यमंत्री ने उत्तर प्रदेश को माफियाराज से मुक्ति दिलायी। माफियाओं द्वारा अवैध ढंग से अर्जित की गयी हजारों करोड़ रुपये की सम्पत्ति को कब्जा मुक्त कराया। अवैध बूचड़खानों पर कार्यवाही कर बंद कराया गया।

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि पूर्ववर्ती राज्य सरकारें गन्ना किसानों के गन्ना मूल्य का भुगतान नहीं करती थीं। मुख्यमंत्री के नेतृत्व की वर्तमान राज्य सरकार ने देश की सभी चीनी मिलों को संचालित कराया। गन्ना किसानों को उनके गन्ना मूल्य का समय पर भुगतान सुनिश्चित किया गया। उन्होंने कहा कि 90 प्रतिशत गन्ना किसानों को गन्ना मूल्य का भुगतान किया जा चुका है। शेष 10 प्रतिशत गन्ना किसानों को भुगतान की प्रक्रिया संचालित है।

प्रदेश में हुए सकारात्मक परिवर्तन से यहां से होने वाला पलायन रुका है। शिक्षा प्राप्त करने के लिए भी विद्यार्थियों को अन्य प्रदेशों में नहीं जाना पड़ता।

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार विगत सात वर्षों में पिछड़े, दलित, शोषित तथा हर गरीब व्यक्ति के जीवन में सकारात्मक बदलाव लायी है। पिछड़े, दलित, शोषित तथा गरीब व्यक्तियों के घर तक रसोई गैस सिलेण्डर, बिजली, शौचालय, 5 लाख रुपये तक की स्वास्थ्य सुविधा पहुंचाने का कार्य किया गया।

कोरोना कालखण्ड में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अन्तर्गत गरीब व जरूरतमंद लोगों को निःशुल्क खाद्यान्न उपलब्ध कराने का ऐतिहासिक कार्य किया गया है। पहले सहारनपुर से दिल्ली जाने में 6 से 8 घण्टे लगते थे। अब मात्र 3 घण्टे लगते हैं। वर्तमान सरकार के सड़कों का जाल बिछाने से रास्तों के साथ ही, दिलों की दूरियां भी कम हुई हैं।

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में धारा-370 हटाने, तीन तलाक पर कानून पारित कर मुस्लिम बहनों के लिए न्याय सुनिश्चित करने, राम जन्मभूमि के निर्माण का कार्य प्रारम्भ करने जैसे अभूतपूर्व कार्य हुए हैं।

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में धारा-370 हटाने, तीन तलाक पर कानून पारित कर मुस्लिम बहनों के लिए न्याय सुनिश्चित करने, राम जन्मभूमि के निर्माण का कार्य प्रारम्भ करने जैसे अभूतपूर्व कार्य हुए हैं।

प्रधानमंत्री ने दुनिया में देश का सम्मान बढ़ाया, अर्थनीति को सुधारा, सुरक्षा व्यवस्था को सुदृढ़ किया है। उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक व एयर स्ट्राइक के माध्यम से पूरी दुनिया को संदेश गया कि कोई भी भारतीय सीमाओं का अतिक्रमण नहीं कर सकता।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि सहारनपुर जनपद हस्तकला, औद्योगिक गतिविधियों व कृषि के लिए विशेष पहचान रखता है। यहां दशकों से विश्वविद्यालय की मांग हो रही थी। पूर्ववर्ती सरकारों के पास शिक्षा व विकास का कोई एजेण्डा नहीं था। वर्तमान राज्य सरकार ने यहां माँ शाकुम्भरी के नाम पर विश्वविद्यालय की स्थापना का निर्णय लिया, जिसकी आज आधारशिला रखी जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री एवं गृह मंत्री के मार्गदर्शन में वर्तमान में उत्तर प्रदेश, देश के विकास में अग्रणी भूमिका निभा रहा है। आज माँ शाकुम्भरी विश्वविद्यालय की आधारशिला रखा जाना इसका उदाहरण है।

वर्तमान राज्य सरकार ने शिक्षा के विकास के साथ ही, युवाओं व गरीबों के कल्याण के कार्यों को पूरी गम्भीरता के साथ आगे बढ़ाया है। राज्य सरकार ने महिलाओं और बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान व स्वावलम्बन के लिए प्रभावी कदम उठाए हैं। वर्तमान राज्य सरकार के प्रयासों से प्रदेश बीमारू राज्य से विकास के पथ पर अग्रसर हुआ है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वर्तमान में प्रदेश विकास की नयी बुलंदियों को छू रहा है। गन्ना किसानों को गन्ना मूल्य भुगतान समयबद्धता के साथ किया जा रहा है। पूर्ववर्ती सरकारें चीनी मिलों को बेच और बंद कर रही थीं। वर्तमान राज्य सरकार सभी चीनी मिलों को संचालित कर रही है। केन्द्र और प्रदेश सरकार ने हाई-वे, एक्सप्रेस-वे, मेट्रो रेल, एयर कनेक्टिविटी, विश्वविद्यालय, महाविद्यालय, सुरक्षा तथा कानून व्यवस्था के साथ-साथ विश्वास का सृजन किया है। उन्होंने कहा कि माँ शाकुम्भरी विश्वविद्यालय से जारी डिग्री पर मां शाकुम्भरी का चित्र होगा। आज शिलान्यास के साथ ही विश्वविद्यालय का नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया जाएगा।

विश्वविद्यालय से 264 महाविद्यालयों को जोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि आज देश सुरक्षित हाथों में है तथा विश्व में अपनी नयी पहचान बना रहा है।

केन्द्रीय शिक्षा, कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में सुशासन स्थापित हुआ है। राज्य में विश्वविद्यालय, महाविद्यालय, अस्पताल जैसी आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने का काम किया गया है।

प्रधानमंत्री की पहल पर गरीबों को खाद्यान्न तथा प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत गैस सिलेण्डर देने का काम किया गया है। उप मुख्यमंत्री डाॅ0 दिनेश शर्मा ने कहा कि मां शाकुम्भरी विश्वविद्यालय के निर्माण का कार्य 18 माह में पूरा कर लिया जायेगा।

प्रधानमंत्री की पहल पर गरीबों को खाद्यान्न तथा प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत गैस सिलेण्डर देने का काम किया गया है। उप मुख्यमंत्री डाॅ0 दिनेश शर्मा ने कहा कि मां शाकुम्भरी विश्वविद्यालय के निर्माण का कार्य 18 माह में पूरा कर लिया जायेगा।

विश्वविद्यालय में नर्सिंग, फार्मेसी, कम्प्यूटर एवं विभिन्न रोजगारपरक पाठ्यक्रम संचालित होंगे। पूर्ववर्ती सरकारों ने छात्रों की छात्रवृत्ति रोक दी थी। वर्तमान सरकार ने 40 लाख अतिरिक्त छात्रों की छात्रवृति जारी की है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में भय और आतंक को कम करने का काम किया है। 11 लाख करोड़ रुपये की अर्थव्यवस्था अब 22 लाख करोड़ की हो गयी है। विगत लगभग 5 वर्षाें में प्रदेश में बेरोजगारी की दर 17.5 प्रतिशत से कम होकर 4.1 प्रतिशत हो गयी है।

इसे भी पढ़ें:

विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रम में सरकार की दख़लंदाज़ी का मक़सद क्या है !

इस अवसर पर केन्द्रीय मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी राज्य मंत्री डाॅ0 संजीव कुमार बालियान, प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, पंचायतीराज मंत्री भूपेन्द्र सिंह चौधरी, गन्ना विकास मंत्री सुरेश राणा, आयुष राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) धर्म सिंह सैनी, व्यावसायिक शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) कपिल देव अग्रवाल, उच्च शिक्षा राज्य मंत्री नीलिमा कटियार सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण एवं शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − eleven =

Related Articles

Back to top button