योगी मंत्रिमंडल में फेर बदल की चर्चा तेज

प्रधानमंत्री के भरोसेमंद अफ़सर अरविंद कुमार शर्मा राजनीति में

योगी मंत्रिमंडल में फेरबदल शीघ्र होने की चर्चा सत्ता के गलियारों में तेज है. समझा जाता है कि उत्तर प्रदेश के योगी मंत्रिमंडल में इस फेरबदल का मक़सद पार्टी को क़रीब सवा साल बाद होने वाले विधान सभा चुनाव के लिए तैयार करना है. 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाक़ात
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाक़ात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ Chief Minister Yogi Adityanath की हाल में दिल्ली में हुई मुलाक़ात में इस मुद्दे पर प्रारम्भिक चर्चा हो चुकी बतायी जाती है. 

बताया जाता है कि बीजेपी नेतृत्व को ज़मीनी स्तर पर सरकार के कामकाज की अच्छी सूचनाएँ नहीं मिल रही हैं. यह भी कहा जा रहा है कि नौकरशाही पर सरकार की पकड़ न होने पार्टी विधायक और कार्यकर्ता उपेक्षित महसूस कर रहे हैं. यह भी चर्चाएँ हैं कि योगी आदित्यनाथ के करीबी उन्हें भावी प्रधानमंत्री के रूप में देखने और प्रोजेक्ट करने लगे हैं.

आई ए एस छोड़कर राजनीति में

समझा जाता है कि इसीलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी Prime Minister Narendra Modi ने अपने एक भरोसेमंद सीनियर आई ए एस  अफ़सर अरविंद कुमार शर्मा को नौकरी से स्वैच्छिक सेवनिवृति दिलाकर मकर संक्रांति के शुभ दिन भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता दिलायी है. 

उन्होंने बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा की उपस्थिति  में पार्टी  की सदस्यता ली. 

पूर्व आईएएस अधिकारी अरविंद कुमार शर्मा  भारत सरकार में एमएसएमई मंत्रालय (MSME Ministry) में सचिव थे. अभी उनका दो साल का कार्यकाल शेष था. भारत सरकार में सचिव पद महत्वपूर्ण होता है और वहाँ से त्यागपत्र देकर राजनीति में आने का मतलब है कि उन्हें बड़ी ज़िम्मेदारी दी जाएगी. बड़ी ज़िम्मेदारी का मतलब है महत्वपूर्ण विभाग के साथ कैबिनेट मंत्री या फिर उपमुख्यमंत्री.

प्रधानमंत्री के भरोसेमंद शर्मा 

अरविंद कुमार शर्मा करीब बीस वर्षों से नरेंद्र मोदी के  की टीम में रहे हैं . वह पूर्वी उत्तर प्रदेश के मऊ ज़िले के रहने वाले हैं. 1988 में आईएएस बने और गुजरात कैडर के अधिकारी रहे.

भाजपा की सदस्यता लेने के बाद अरविंद कुमार  शर्मा बोले “मैं मऊ के एक पिछड़े गांव का हूं। पार्टी जो भी जिम्मेदारी देगी, उसका निर्वहन करूँगा.  कल रात मुझे कहा गया कि आपको भाजपा की सदस्यता लेनी है। “

राजनीतिक प्रेक्षक दावे के साथ कह रहे हैं कि उन्हें उत्तर प्रदेश की विधान परिषद का चुनाव लड़ाया जाएगा.

विधान परिषद चुनाव के बाद ही योगी मंत्रिमंडल के फेरबदल चर्चा है.

अरविंद कुमार शर्मा सन् 2001 से 2013 तक गुजरात में  मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के सचिव रहे. मोदी के दिल्ली में सत्ता सँभालने  बनने के बाद वह 2014 प्रधानमंत्री कार्यालय PMO में आ गए. इसके बाद एमएसएमई मंत्रालय (MSME Ministry) में सचिव रहे. वहाँ से त्यागपत्र देकर अब वह राजनीतिक पारी शुरू करेंगे.

कृपया यह भी पढ़ें : https://mediaswaraj.com/ram_mandir_versus_babri_mosque_dispute/

राम दत्त त्रिपाठी, पूर्व संवाददाता, बीबीसी

रामदत्त त्रिपाठी,
राम दत्त त्रिपाठी, वरिष्ठ पत्रकार

Email: ramdutt.tripathi@gmail.com

Twitter : @Ramdutttripathi

WhatsApp : 9839012810

support media swaraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × two =

Related Articles

Back to top button