उत्तराखंड: समझौते के लिए दफ्तर पंहुची महिला को पति ने बीच सड़क पर दिया तीन तलाक

सुलह समझौते के लिए महिला हेल्प लाइन के कार्यालय गई महिला को उसके पति ने बीच सड़क पर ही तीन बार तलाक कहते हुए तलाक दे दिया। महिला शिकायत लेकर शहर कोतवाली गई, लेकिन यहां पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

कोर्ट के आदेश के बाद अब पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। कोर्ट में दी शिकायत में चंद्रबनी निवासी गुलफ्शा ने बताया कि उसकी शादी नौ जुलाई 2017 को सहारनपुर उत्तर प्रदेश निवासी सलमान के साथ हुई थी। शादी के कुछ समय बाद से ही उसे परेशान किया जाने लगा। छह जून 2018 को जब उसने बेटी को जन्म दिया तो उसके ससुरालियों का व्यवहार और भी उग्र हो गया और उन्होंने पिटाई करनी भी शुरू कर दी।

16 फरवरी 2020 को आरोपितों ने गुलफ्शा की जमकर पिटाई कर दी, जिसके कारण महिला 17 फरवरी को अपने मायके आ गई। महिला ने पति के साथ सुलह समझौते के लिए एक प्रार्थना पत्र महिला हेल्प लाइन में दिया। 14 अक्टूबर को पुलिस की ओर से गुलफ्शा व उसके पति को काउंसिलिंग को बुलाया था।

फ्लैट में बाहरी व्यक्तियों के आने पर हंगामा
सेवलाकलां स्थित ब्रह्मलोक एन्क्लेव के एक फ्लैट में बाहर से व्यक्तियों के आने पर हंगामा हो गया। स्थानीय लोग शिकायत लेकर आइएसबीटी पुलिस चौकी पहुंचे, जहां उन्होंने मामले की जांच करने की मांग की। बाद में मकान मालिक को बुलाकर फ्लैट खाली करने की बात पर समझौता हुआ, जिसके बाद झगड़ा शांत हुआ।

सोमवार शाम को कुछ लोग आइएसबीटी पुलिस चौकी पहुंचे। उन्होंने कहा कि सोसायटी के एक फ्लैट में बाहर से कुछ लोग आते हैं, जिससे उन्हें वहां कुछ गलत काम होने की संभावना है। इसके बाद चौकी इंचार्ज ने फ्लैट के मालिक को चौकी बुलाया। चौकी इंचार्ज विवेक भंडारी ने बताया कि एक महिला फ्लैट किराये पर लेकर रहती है।

साथ में उनका नौकर रहता है। उनकी बेटी व दामाद आए थे। इस बीच सोसायटी के कुछ व्यक्तियों के साथ उनका विवाद हो गया। सोसायटी के व्यक्तियों ने इसका विरोध किया और शिकायत लेकर पुलिस चौकी पहुंच गए। बताया कि मालिक को महिला से फ्लैट खाली करवाने को कहा गया है।

support media swaraj

Related Articles

Back to top button