कोविड 19 उत्तर प्रदेश सरकार ने आख़िरकार होम आइसोलेशन की अनुमति दी

(मीडिया स्वराज़ डेस्क )

लखनऊ: 20 जुलाई, 2020. कोरोना वायरस संक्रमण की संख्या लगातार बढ़ने और मरीज़ों अस्पतालों में बेड मिलने में कठिनाई की शिकायतों के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने आख़िरकार बिना लक्षण वाले मरीज़ों को घर पर एकांत में रहकर इलाज की सुविधा स्वीकार कर ली. केंद्र सरकार की गाइडलाइन में यह नियम पहले से मौजूद था.

 दिल्ली, महाराष्ट्र और बिहार में भी यह व्यवस्था पहले से थी. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की तरफ़ से बहुत दिनों से इसकी माँग की जा रही थी. लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार ने  घर के बजाय अपने  खर्चे पर होटल में रहकर इलाज की व्यवस्था की. लोगों की शिकायत है कि होटल की व्यवस्था बहुत महँगी है, जबकि आमदनी घाट गयी है. होटलों में डाक्टर उपलब्ध न होने की शिकायतें भी हैं. 

सूचना विभाग की एक विज्ञप्ति के अनुसार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज एक बैठक में होम आइसोलेशन की अनुमति दी. 

विज्ञप्ति के अनुसार मुख्यमंत्री ने कहा है कि बड़ी संख्या में कोविड-19 के लक्षण रहित संक्रमित  लोग बीमारी को छुपा रहे है, जिससे संक्रमण  बढ़ सकता है। इसके दृष्टिगत राज्य सरकार एक निर्धारित प्रोटोकाॅल के अधीन शर्तों के साथ होम आइसोलेशन की अनुमति देगी। 

रोगी और उसके परिवार को होम आइसोलेशन के प्रोटोकाल  का पालन करना अनिवार्य होगा, यद्यपि राज्य सरकार के पास कोविड हाॅस्पिटल में पर्याप्त संख्या में बेड्स मौजूद हैं।

      

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles