राम मंदिर के मुख्य पुजारी ने बताया, योगी को क्यों छोड़नी पड़ी अयोध्या विधानसभा सीट

राम मंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास का दावा

अयोध्या के श्रीराम मंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने बताया कि बीजेपी ने अयोध्या के बजाय योगी आदित्यनाथ को उनके गृहनगर गोरखपुर से टिकट देने का फैसला क्यों लिया. उन्होंने इसके पीछे कई वजहें बतायीं. आप भी जानिये…

योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में टिकट कहां से दिया जाये, इसे लेकर जगह तय करने में बीजेपी को खूब माथापच्ची करनी पड़ी. कभी अयोध्या, कभी वाराणसी तो कभी मथुरा से उनके चुनाव में उतरने को लेकर चर्चा होती रही. लेकिन अंत में निर्णय उन्हें उनके गृहनगर गोरखपुर से टिकट देने का लिया गया. इस पूरे प्रकरण को लेकर पहले भी काफी अटकलें लगायी जाती रही हैं, लेकिन असल वजह अब जाकर सामने आयी है. अयोध्या में श्रीराम मंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने इसके पीछे की सच्चाई सामने खोली.

अयोध्या के श्रीराम मंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने सोमवार को कहा कि यह अच्छी बात है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या सीट से विधानसभा चुनाव नहीं लड़ रहे हैं अन्यथा उन्हें विरोध का सामना करना पड़ता.

आचार्य सत्येंद्र दास से यह पूछे जाने पर कि उन्होंने योगी आदित्यनाथ को अयोध्या से चुनाव नहीं लड़ने का सुझाव क्यों दिया, उन्होंने कहा कि “राम लला (भगवान राम) से पूछने के बाद” उन्हें यह सलाह दी.

आचार्य दास ने बताया कि उन्होंने योगी आदित्यनाथ से कहा कि उन्हें गोरखपुर से ही चुनाव लड़ना चाहिए क्योंकि मंदिर निर्माण के कार्य (बुनियादी ढांचा परियोजनाओं) के कारण जिन घरों और दुकानों को यहां गिराया गया था, वे लोग उनका विरोध कर रहे थे.

आचार्य ने कहा “यह अच्छा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ यहां से चुनाव नहीं लड़ रहे हैं. मैंने पहले ही इसका सुझाव दिया था और सलाह दी थी कि बेहतर होगा कि वह गोरखपुर की किसी भी सीट से चुनाव लड़ें.” उन्होंने कहा कि यहां के संतों की राय बंटी हुई है और जिनकी दुकानें और घर तोड़े गये हैं, वे उनके खिलाफ हैं.

उन्होंने कहा कि जिनके दुकानें और घर तोड़े गये, उनका कहना है कि यह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का काम है. फिर, यहाँ विपक्ष भी मजबूत स्थिति में है. कई ऐसी वजहें थीं, जिसकी वजह से मैंने योगी आदित्यनाथ को गोरखपुर जाने की सलाह दी. मु​मकिन है कि वे यहां से जीत भी जाते लेकिन इसके लिए उन्हें काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता.

इसे भी पढ़ें:

योगी आदित्यनाथ को गोरखपुर विधानसभा से टिकट देने के पीछे हैं कई पेंच

बता दें कि राजनीतिक हलकों में इस बात की जोरदार चर्चा थी कि योगी आदित्यनाथ अयोध्या से मैदान में उतरेंगे. लेकिन बीजेपी ने उन्हें गोरखपुर (शहरी) विधानसभा क्षेत्र से मैदान में उतारने का फैसला किया.

अयोध्या के चुनावी मिजाज के बारे में पूछने पर आचार्य ने कहा कि यह अभी पूर्ण रूप से साफ़ नहीं है. अब तक सभी दलों ने अपने उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

7 − two =

Related Articles

Back to top button