29 जनवरी: यूपी की चुनावी हलचल

जेपी नड्डा बरेली, इटावा औऱ औरेया में चुनाव प्रचार करने पहुंचे ​थे.

आज शनिवार 29 जनवरी 2022 को उत्तर प्रदेश में चुनावी हलचल क्या क्या हुआ. आइये जानें…

मुलायम सिंह यादव के समधी हरिओम यादव ने बीजेपी के टिकट पर किया नामांकन, सपा पर साधा निशाना

मुलायम सिंह यादव के समधी हरिओम यादव आज शनिवार को भारतीय जनता पार्टी से सिरसागंज विधानसभा सीट से नामांकन करने पहुंचे. सिरसागंज विधानसभा के प्रत्याशी हरिओम यादव ने कहा कि मुलायम सिंह यादव भी क्या क्रिमिनल थे, आखिर उन्हें क्यों अलग कर दिया, उनका सम्मान क्यों नहीं किया? फिरोजाबाद में हम पांचों विधानसभा जीत रहे हैं, रामगोपाल यादव और उनका लड़का दोनों क्रिमिनल है.

भारतीय जनता पार्टी सिरसागंज विधानसभा प्रत्याशी हरिओम यादव ने रामगोपाल यादव और उनके लड़के के चुनाव लड़ने पर बताया कि ये कोई प्रत्याशी नहीं हैं, जिला पंचायत सदस्य में हमारी पत्नी ने इन्हें 5000 वोटों से हराया है. पूरी समाजवादी पार्टी लगी रही, यहां लड़ाई हमसे रामगोपाल और उनका बेटा लड़ रहा है, प्रत्याशी नहीं लड़ रहा. हम तो पांचों साल चुनाव लड़ने वाले हैं, ये तो बरसाती मेंढक हैं, आ गए और 20 फरवरी के बाद नजर नहीं आएंगे.

”पार्टी में इतने सालों से सेवा कर रहा हूँ, तब मैं क्रिमिनल नहीं था?”

उन्होंने आगे कहा कि अब मैं क्रिमिनल हो गया 6 महीने पहले क्रिमिनल नहीं था, पार्टी ने इतने दिन सर आंखों पर रखा. पार्टी में इतने सालों से सेवा कर रहा हूँ, तब मैं क्रिमिनल नहीं था, प्रोफेसर रामगोपाल यादव और उनके लड़के से बड़ा क्रिमिनल कौन है, जो पूरा नोएडा बेच​कर खा गए.

आजम खान के बेटे अब्दुल्लाह पर FIR दर्ज, चुनाव प्रचार के दौरान कोरोना नियम तोड़ने का आरोप

समाजवादी नेता आजम खान के बेटे अब्दुल्लाह आजम खान पर चुनाव प्रचार के दौरान कोरोना नियमों का उल्लंघन करने को लेकर पुलिस ने एफआईआर दर्ज किया है. हालांकि, इस पर अब तक अब्दुल्लाह खान की ओर से कोई बयान नहीं आया है. चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन धारा 188,269 IPC, धारा 3 महामारी अधिनियम और धारा 51 आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है वीडियो को आधार को आधार बनाकर उपनिरीक्षक में दर्ज कराई एफआईआर में अब्दुल्ला आजम व 26 अन्य नामजद आरोपियों व 60-70 ना-मालूम आरोपियों के नाम शामिल हैं.

BJP ने ही मऊरानीपुर सीट से नहीं बनाया उम्मीदवार

झांसी (Jhansi) की मऊरानीपुर विधानसभा सीट (Mauranipur Assembly Seat) पर भाजपा (BJP) ने उस शख्स को उम्मीदवार नहीं बनाया है, जो कभी कांग्रेस विधायक रहते हुए भी भाजपा की सरकार बनवाने में मदद की थी. दरअसल, झांसी की मऊरानीपुर सुरक्षित सीट से भाजपा की डॉ. रश्मि आर्य (Dr, Rashmi Arya) अपना दल (Apna Dal) के टिकट पर चुनाव लड़ेंगी. अपना दल की अनुप्रिया पटेल ने उनके टिकट का एलान कर दिया है. रश्मि आर्य ने कुछ ही दिन पहले समाजवादी पार्टी छोड़कर भाजपा ज्वाइन किया था. उनको टिकट मिलना जितना दिलचस्प है, उतना ही दिलचस्प इस सीट से भाजपा के विधायक का टिकट कटना भी है. बिहारी लाल आर्य (Bihari Lal Arya) भाजपा के सिटिंग एमएलए हैं. 2017 के चुनाव में उन्होंने रश्मि आर्य को ही 17 हजार वोटों से हराया था. तब रश्मि सपा से लड़ी थीं.

बिहारी लाल आर्य मूलतः कांग्रेसी हैं लेकिन 2017 में चुनाव से पहले उन्होंने भाजपा ज्वाइन कर लिया था. 60 साल के बिहारीलाल 2017 में चौथी बार विधायक बने थे. इससे पहले वे तीन बार कांग्रेस से विधायक थे. खास बात ये भी है कि 1996 में बनी कल्याण सिंह की सरकार में वे मंत्री थे.

कोइरी जाति के बिहारी लाल आर्य बुन्देलखण्ड की राजनीति में चर्चित नाम हैं. इनके नाम की चर्चा तब प्रदेश स्तर पर सुनाई पड़ी थी, जब कांग्रेस के विधायक रहते हुए इन्होंने प्रदेश में भाजपा की सरकार बनवाई थी. तब बिहारीलाल 1993 के बाद 1996 में दूसरी बार कांग्रेस से विधायक बने थे. 1996 के चुनाव के बाद किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला था. प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लागू किया गया. 1997 में भाजपा के सहयोग से मायावती की सरकार बनी लेकिन 6 महीने बाद सरकार गिर गयी.

भाजपा के कल्याण सिंह के नेतृत्व में जोड़-तोड़ की सरकार बनी. तब कांग्रेस के ही नरेश अग्रवाल ने लोकतांत्रिक कांग्रेस नाम से पार्टी बनी ली और कांग्रेस विधायकों को तोड़कर कल्याण सिंह सरकार बनवा दी. बिहारीलाल आर्य भी लोकतांत्रिक कांग्रेस में चले गये थे. उन्हें सरकार का समर्थन देने के लिए कल्याण सिंह ने लघु उद्योग विभाग में राज्यमंत्री बनाया था.

Uttar Pradesh Election 2022: सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के और विपक्षी दलों के सभी बड़े नेताओं ने अपना पूरा ध्यान अभी पश्चिमी यूपी पर ही लगा दिया है. इसके साथ ही ये समझने की भी कोशिश हो रही है कि किस पार्टी का पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लिए क्या गेम-प्लान है? केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, खुद सीएम योगी आदित्यनाथ बीजेपी के ये स्टार प्रचारक यूपी के महायुद्ध में उतरे हुए हैं. जंग सीधी है, टारगेट सीधा है, सिर्फ और सिर्फ अखिलेश यादव, क्योंकि इस दफा यूपी चुनाव पूरी तरह से बीजेपी बनाम अखिलेश यादव का ही नज़र आ रहा है…

अखिलेश की भाजपा को बहस की चुनौती

अखिलेश यादव ने भाजपा को किसानों के मुद्दे पर बहस करने की चुनौती दी है. उन्होंने कहा कि मुझसे किसान के सवाल पर भाजपा जब चाहे बहस कर ले. भाजपा को ये बताना चाहिए कि कृषि कानून क्यों लाए थे और ये कानून अब किसानों के हक में क्यों नहीं हैं? इन्हें शर्म आनी चाहिए क्योंकि इनकी वजह से 700 किसानों की जान गई. अखिलेश ने कहा कि क्या भाजपा जवाब देगी कि किसानों की आय दोगुनी हुई है?

अमित शाह घर का दरवाजा बजाएं तो उन्हें लाल सिलेंडर जरूर दिखाएं: अखिलेश

अखिलेश यादव ने गाजियाबाद में अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में सिलेंडर की कीमतों को लेकर भाजपा पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि जिस घर का दरवाजा वो (अमित शाह) बजाएं या डोर-टू-डोर कैंपेन में वो जाएं तो उन्हें लाल सिलेंडर जरूर दिखाएं कि जिस समय वे सरकार में आए थे उस समय सिलेंडर की कीमत क्या थी और आज क्या है.

ऐसा कोई प्रलोभन नहीं है जिससे मैं टूट जाऊं: जयंत

भाजपा के न्योते पर रालोद प्रमुख जयंत चौधरी ने फिर जवाब दिया है. उन्होंने कहा हि वो मेरे ईमान और जज्बात को नहीं समझ पाए, हम लोग अपने मुद्दों, किसानों के साथ बेवफाई नहीं कर सकते. पिछले कई सालों से मैं विपक्ष में हूं, मैं चुनाव हार गया मुझे इसका कोई मलाल नहीं है. ऐसा कोई कारण या प्रलोभन नहीं है जिससे मैं टूट जाऊं और अपना फैसला बदल दूं.

हमें मुकाबला झूठ और नफरत फैलाने वाले लोगों से करना है: जयंत चौधरी

गाजियाबाद की प्रेस कॉन्फ्रेंस में रालोद प्रमुख जयंत चौधरी ने कहा कि उत्तर प्रदेश चुनाव में फैसला मतदाताओं को करना है. एक तरफ वो सरकार है जो किसानों को दबाना चाहती है, जहां कोई सुनवाई नहीं होती, जहां कोई वादा पूरा नहीं होता और दूसरी तरफ  रालोद और सपा का प्रयास है. हमें मुकाबला झूठ और नफरत फैलाने वाले लोगों से करना है.   

ललितपुर में उम्मीदवारों का नामांकन

ललितपुर में सदर क्षेत्र से भाजपा के रामरतन कुशवाहा और महरौनी से मनोहर लाल पंथ ने कलक्ट्रेट पहुंचकर नामांकन पत्र दाखिल किया. इधर सपा की ओर से सदर क्षेत्र से रमेश कुशवाहा ने नामांकन पत्र जमा किया. जबकि महरौनी से रामविलास रजक सोमवार को नामांकन पत्र दाखिल करेंगे.

नड्डा का अखिलेश पर तंज- हम विकास करते हैं, वो इत्र छिड़कते हैं

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने इटावा में चुनाव प्रचार के दौरान कहा कि भाजपा ऐसा दल है, जो ये दम के साथ कह सकता है- जो कहा था, वो किया है. जो कहेंगे, वो करेंगे. सपा ऐसा कह सकती है क्या? उन्होंने कहा था कि विकास करेंगे, लेकिन लाए माफियाराज. कहा था कि हम कानून व्यवस्था सुधारेंगे, लेकिन रेत माफिया, खनन माफिया, आतंकियों का समर्थन किया. नड्डा ने कहा कि हम लोगों के विकास के लिए काम करते हैं, लेकिन वो लोग इत्र छिड़कते हैं. गलत काम करने पर कितना भी इत्र छिड़क लो, लेकिन सुगंध नहीं आएगी. आज अखिलेश जी के दो मंत्री जेल में हैं. कुछ लोग जेल से चुनाव लड़ रहे हैं, कुछ लोग बेल पर चुनाव लड़ रहे हैं.

बरेली, इटावा औऱ औरेया पहुंचे नड्डा

भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने घर-घर जाकर बीजेपी के लिये वोट मांगे. डोर टू डोर कैंपेन कर नड्डा चुनाव प्रचार को धार देने की कोशिश करते दिखे. जेपी नड्डा बरेली, इटावा औऱ औरेया में चुनाव प्रचार करने पहुंचे ​थे.

अमित शाह ने देवबंद में घर-घर जाकर मांगा वोट

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सहारनपुर के देवबंद में घर-घर जाकर भाजपा उम्मीदवारों के लिए वोट मांगा. इस दौरान उमड़ी भारी भीड़ को देखते हुए अमित शाह ने ये प्रचार कार्यक्रम बीच में ही रोक दिया. 

शाह का डोर टू डोर कैंपेन

गृहमंत्री अमित शाह शनिवार को मुजफ्फरनगर और सहारनपुर में डोर टू डोर कैंपेन करने पहुंचे. शाह सुबह 11 बजे मुजफ्फरनगर पहुचे और सदर विधानसभा के प्रभावी मतदाताओं के साथ बातचीत भी की. शाह ने हनुमान चौक से भगत सिंह रोड तक घर-घर जनसंपर्क किया. चुनाव से जुडे़ पार्टी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की.

जनता को गुमराह कर रहे हैं अखिलेश यादव: अमित शाह

गृह मंत्री अमित शाह ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर जनता को गुमराह करने का आरोप लगाया है. उन्होंने मुजफ्फरनगर में कहा कि कल अखिलेश यादव और जयंत चौधरी की प्रेस कांफ्रेंस देखी, अखिलेश ने बहुत अच्छे से बात की कि हम साथ-साथ हैं लेकिन आप साथ-साथ सिर्फ मतगणना तक हो. अगर सरकार बन गई तो जयंत भाई निकल जाएंगे और आजम खान बैठ जाएंगे. टिकटों के बंटवारे से ही समझ में आ गया है कि आगे क्या होने वाला है.

पहले दंगाईयों को मुख्यमंत्री आवास पर बुलाकर सम्मानित किया जाता था: योगी

बागपत में चुनाव प्रचार करने पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पहले दंगाईयों को मुख्यमंत्री आवास पर बुलाकर सम्मानित किया जाता था, पेशेवर माफियाओं पर पहले सरकार इतनी मेहरबान होती थी कि वो ही सत्ता का संचालन करते थे. अब बागपत में हाईवे और मेडिकल कॉलेज बन रहा है और माफिया की संपत्ति पर बुलडोजर चल रहा है.

सीएम योगी का बागपत औऱ गाज़ियाबाद दौरा

CM योगी आदित्यनाथ बागपत औऱ गाज़ियाबाद का दौरा करने पहुंचे. कोविड संबंधित निरीक्षण के साथ डोर टू डोर जनसंपर्क कर चुनाव प्रचार को और तेज किया. 11 बजे अमौसी एयरपोर्ट, लखनऊ से प्रस्थान किया और 12 बजे हिंडन एयरपोर्ट गाज़ियाबाद पहुंचे.

साइकिल के बंद पड़े कारखानों को फिर से शुरू करेंगे: अखिलेश

एमएसएमई सेक्टर जो कोरोनाा के समय सबसे ज्यादा बर्बाद हुआ है. अगर इस सेक्टर के लिए अलग से पैकेज लाकर सुधारना होगा तो उसके लिए हम वो काम करेंगे. यहां एक पुराना साइकिल का कारखाना था, जो बंद होने की कगार पर था तो समाजवादी लोग पहुंचे थे. सपा की सरकार आने पर साइकिल के बंद पड़े कारखानों को फिर से शुरू करेंगे. हम लोगों को रोजगार और नौकरी देने के लिए हमें कोई बड़ा पैकेज देना पड़ेगा तो वो हम करेंगे. 

सरकार की नाकामी से गरीबी बढ़ी: अखिलेश

अखिलेश यादव और जयंत चौधरी ने गाजियाबाद में साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस किया. यहां अखिलेश यादव ने कहा कि किसानों के आंदोलन ने भाजपा को झुकने के लिए मजबूर कर दिया. अंतत: भाजपा को तीनों काले कानून वापस लेने पड़े. उनकी नकामी के कारण गरीबी बढ़ी है. ये सरकार चाहती तो कोरोना में सबको घर पहुंचा सकती थी. हमने आपने देखा, कितने मजदूर घर पहुंच पाए और न जाने कितनों ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया. 90 से ज्यादा लोगों की जान चली गई. सरकार ने इनकी कोई मदद नहीं की. हमने उन सभी 90 लोगों के घरवालों को एक-एक लाख की मदद की.

बिजनौर में केशव प्रसाद मौर्य का चुनाव प्रचार

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य आज बिजनौर में चुनाव प्रचार करने पहुंचे. बिजनौर की नगीना तथा नहटौर विधानसभाओं में मौर्य ने मतदाताओं के साथ संवाद किया और घर-घर पहुंचकर जनसंपर्क किया.

मुरादाबाद और संभल दौरे पर रहे उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा

उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा आज मुरादाबाद और संभल दौरे पर रहे. डा. दिनेश शर्मा ने मुरादाबाद और संभल विधानसभाओं के मतदाताओं के साथ बैठक की, फिर डोर-टू-डोर कैंपेन के जरिये जनता से मिलने पहुंचे.

स्मृति ईरानी का विरोधियों पर तंज

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने मेरठ में प्रभावी मतदाता संवाद कार्यक्रम में हिस्सा लिया. यहां उन्होंने कहा कि जो कहते थे कि राम का कोई अस्तित्व नहीं है, आज वो मंदिर-मंदिर जाकर भगवान से गुहार लगा रहे हैं कि हे प्रभु जनता से कहो कि हमारी थोड़ी सुन ले.

स्मृति ईरानी की मेरठ में बैठक

केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने आज मेरठ में संगठनात्मक बैठकें कीं. विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कार्यकर्ताओं एवं पार्टी पदाधिकारियों का मार्गदर्शन किया. वे दोपहर 12 बजे लाल कुर्ती मेरठ में मतदाताओं के साथ बैठक करने पहुंचीं. रजमन बाजार में घर-घर पहुंचकर जनसंपर्क किया. वहीं दोपहर 3 बजे मंगलम सत्संग मंडप, मेरठ में मेरठ दक्षिण विधानसभा के प्रभावी मतदाताओं के साथ बैठक करने पहुंचीं और घर-घर जाकर जनसंपर्क किया.

अखिलेश पर मुख्तार अब्बास नकवी का तंज

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने अखिलेश यादव के हेलिकॉप्टर रोकने के आरोप पर पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी चुनावी चौपाल पर चकल्लस कर रही है, टेक्निकल काम पर पॉलिटिकल पाखंड… अब आप कहने लगेंगे कि हमारा हेलीकॉप्टर 10 मिनट देर से उड़ा, फिर आप कहने लगेंगे की हमारी साइकिल पंचर हो गई, वो भाजपा ने कर दिया.

योगी के मंत्री का अब्दुल्ला आजम पर निशाना

सपा नेता अब्दुल्ला आजम खान ने उनकी सुरक्षा में लगी पुलिस से भी अपनी जान को खतरा बताया है. उनके इस बयान पर योगी सरकार में मंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा कि चोर की दाढ़ी में तिनका होता है इसलिए उनकी बात सही है. उन्होंने जो कुकृत्य किए हैं, कानून तोड़ा है, पुलिस ही उन पर कार्रवाई करती है. खाकी वर्दी से बैड एलिमेंट्स को डर लगना भी चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

20 − six =

Related Articles

Back to top button