UP: अब धर्म सिंह सैनी ने छोड़ी बीजेपी, कुछ अन्य नेताओं ने भी बदली पार्टी

पश्चिमी यूपी के पिछड़ों के बड़े नेता, योगी सरकार के आयुष मंत्री धर्म सिंह सैनी ने छोड़ी बीजेपी

उत्तर प्रदेश की राजनीति में नेताओं और मंत्रियों के पार्टी बदलने का सिलसिला अब तक थमा नहीं है। सुबह से चार भाजपा विधायक भाजपा छोड़ चुके हैं। सूरज डूबने में अभी देर है। तब तक कुछ और बड़े नाम भी सपा की तरफ़ आने वाले हैं! आज सवेरे से ही कई नेताओं के अपनी पार्टी बदलने की खबरें आ चुकी हैं। इनमें कुछ सपा, कुछ बसपा और एक ने रालद ज्वाइन किया है। अब धर्म सिंह सैनी ने छोड़ी बीजेपी। डॉ. मुकेश वर्मा के बाद आज पश्चिमी यूपी के पिछड़ों के बड़े नेता माने जाने वाले योगी सरकार के आयुष मंत्री धर्म सिंह सैनी ने छोड़ी बीजेपी।

बीते दिनों में बीजेपी के आठ विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है। ताजा मामला यूपी सरकार के आयुष मंत्री धर्म सिंह सैनी के इस्तीफे का है।

बता दें कि स्वामी प्रसाद मौर्य के इस्तीफे के बाद लोगों की नजरें सबसे ज्यादा धर्म सिंह सैनी पर ही थीं, लेकिन तब सैनी ने वीडियो संदेश जारी करके कहा कि मैं बीजेपी में हूं और बीजेपी में ही रहुंगा। अपने इस संदेश के जरिये तब सैनी ने पार्टी छोड़ने की सारी अटकलों पर विराम लगा दिया था।

सैनी ने अपने वीडियो संदेश में कहा था कि मौर्य उनके बड़े भाई की तरह हैं और बड़े भाई ही रहेंगे। चिट्ठी में बीजेपी छोड़ने वालों की लिस्ट में उन्होंने मेरा भी नाम दे दिया है, लेकिन उन्होंने यह मुझसे पूछकर नहीं किया। उन्होंने गलत किया और मैं इसका खंडन करता हूं। मैं बीजेपी में हूं और बीजेपी में ही रहुंगा।

वहीं, गुरुवार को जब उनके इस्तीफे की बात सामने आई तो उन्होंने अपना मोबाइल बंद किया हुआ था। यहां तक कि उनके सभी नजदीकियों के मोबाइल भी बंद थे। वे अपने बंगले से भी नदारद थे। चर्चा है कि गुपचुप तरीके से उनकी सपा प्रमुख अखिलेश से मीटिंग हुई, जिसके बाद उन्होंने बीजेपी से इस्तीफा देकर सपा ज्वाइन कर लिया।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने धर्म सिंह सैनी के साथ अपनी तस्वीर ट्वीट कर पार्टी में उनका स्वागत किया है।

सपा प्रमुख ने लिखा है, “सामाजिक न्याय’ के एक और योद्धा डॉ. धर्म सिंह सैनी जी के आने से, सबका मेल-मिलाप-मिलन करानेवाली हमारी ‘सकारात्मक और प्रगतिशील राजनीति’ को और भी उत्साह व बल मिला है। सपा में उनका ससम्मान हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन!

बाइस में समावेशी-सौहार्द की जीत निश्चित है!”

बता दें कि यूपी में सैनी समाज का बहुत बड़ा वोट बैंक है। उन्होंने राज्यपाल को अपना इस्तीफ़ा भेज दिया है और सपा में आ गये हैं।

स्वामी प्रसाद मौर्य ने भाजपा को सांप और खुद को नेवला बताया

यूपी के श्रम मंत्री रहे स्वामी प्रसाद मौर्य ने समाजवादी पार्टी ज्वाइन करने के बाद आज आरएसएस को नाग, भाजपा को सांप और खुद को नेवला बताते हुये अपने ट्वीटर हैंडल पर लिखा है—

नाग रूपी आरएसएस एवं सांप रूपी भाजपा को स्वामी रूपी नेवला यू.पी. से खत्म करके ही दम लेगा।

अखिलेश पर स्वतंत्र देव सिंह का कटाक्ष

वहीं, भारतीय जनता पार्टी के यूपी अध्यक्ष एवं विधान परिषद सदस्य स्वतंत्र देव सिंह ने समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुये ट्विटर पर लिखा है—

जिन्हें ‘डबल इंजन’ की ट्रेन का टिकट नहीं मिल रहा उन्हें अपने डग्गामार वाहन का ‘ब्लैक’ में टिकट दे रहे है टीपू सुल्तान!

गिरिराज ने भी बीजेपी छोड़ रालोद का दामन थामा

उधर, हापुड़ से कई बार विधायक रहे भाजपा के पूर्व विधायक गिरिराज ने भी बीजेपी छोड़कर जयंत चौधरी की राष्ट्रीय लोक दल पार्टी ज्वाइन कर लिया है।

दूसरी ओर, बसपा सुप्रिमो मायावती के ट्वीटर हैंडल से भी कुछ नेताओं के पार्टी में शामिल होने की जानकारी दी गई है।

मायावती ने ट्वीट किया है

मुजफ्फरनगर जिले के यूपी के पूर्व गृहमंत्री रहे श्री सईदुज़्ज़माँ के बेटे श्री सलमान सईद ने कल दिनांक 12 जनवरी को बीएसपी प्रमुख से देर रात मुलाकात की व कांग्रेस छोड़कर बहुजन समाज पार्टी में शामिल हो गए। श्री सईद को बीएसपी ने चरथावल विधानसभा की सीट से अपना उम्मीदवार बनाया है।

इनके साथ ही, सहारनपुर जिले के पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री रशीद मसूद के भतीजे व श्री इमरान मसूद के सगे भाई श्री नोमान मसूद भी कल लोकदल छोडकर, बहुजन समाज पार्टी में शामिल हो गए। बीएसपी प्रमुख ने इनको गंगोह विधानसभा की सीट से अपनी पार्टी का उम्मीदवार भी बनाया है।

इसे भी पढ़ें:

भाजपा नेताओं को सीएम योगी ने दिया चुनावी संदेश, कहा- सभी चुनाव की तैयारियों में जुट जाएं….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

13 − 5 =

Related Articles

Back to top button