ट्रैक्टर मार्च: दो हजार वाहनों में एक लाख किसान पहुंचे दिल्ली, तीस किलोमीटर लंबा जत्था

नई दिल्ली। दिल्ली में किसान कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है। किसान अपनी जिद पर अड़े हुए हैं, किसानों का कहना है कि इस काले कानून को तुरंत​ हटाया जाए। वहीं, किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के महासचिव सरवन सिंह पंधेर ने यहां जारी एक बयान में कहा कि सूबे से दो हजार वाहनों में एक लाख किसान दिल्ली पहुंचे हैं। ट्रैक्टर मार्च करते हुए सभी किसान दिल्ली पहुंच चुके हैं।

उम्मीद से ज्यादा किसान जत्थे में शामिल हुए हैं। पंजाब से गए किसान दिल्ली के कुंडली बॉर्डर पर मोर्चा लगाएंगे। पंधेर ने कहा कि पंजाब से गया जत्था तीस किलोमीटर लंबा था। धीरे—धीरे किसान आंदोलन उग्र होता जा रहा है। देश में इसकी हलचल बढ़ती ही जा रही है।

इसमें लगभग दो हजार वाहन थे और लोगों की संख्या तकरीबन एक लाख थी। दिल्ली के बार्डर पर प्रतिदिन लोगों की संख्या कम नहीं, और बढ़ेगी। पंधेर ने कहा कि पंजाब में कई जगहों पर धरने चल रहे हैं, जंडियाला रेलवे स्टेशन पर धरना 80वें दिन में प्रवेश कर गया है। उन्होंने कहा कि 25 दिसंबर को गुरदासपुर से लगभग 25 हजार ग्रामीणों का जत्था दिल्ली रवाना होगा। 

फिरोजपुर, तरनतारन, फाजिल्का व अमृतसर से जत्थे जो 11 दिसंबर को रवाना हुए थे, वो दिल्ली के कुंडली बॉर्डर पर पहुंच गए हैं। कृषि कानून रद्द कराने के बाद ही किसान अपने घरों को लौटेंगे। केंद्र सरकार जब तक कृषि कानून रद्द नहीं करेगी, किसानों का दिल्ली में धरना जारी रहेगा। पंजाब से कई और जगहों से किसानों के जत्थे दिल्ली पहुंचेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

8 + five =

Related Articles

Back to top button