नीतीश को जेल भेजने की धमकी, लेकिन सरकार कैसे बनाएगी LJP?

पटना: बिहार चुनाव में अकेले दावेदारी कर रही लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान लगातार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमलावर हैं. रविवार को उन्होंने बक्सर में एक चुनावी रैली के दौरान कहा कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो सात निश्चय कार्यक्रम की जांच कराएगी और इसमें जितना भ्रष्टाचार हुआ है फिर चाहे वह किसी अधिकारी ने किया हो या मुख्यमंत्री ने, जांच के बाद उन्हें जेल भेजा जाएगा. यही नहीं एलजेपी मुखिया ने सोमवार को एक बार फिर से अपनी बात दोहराते हुए नीतीश कुमार को घेरा है.

‘यह कैसे संभव, सीएम घोटालों के बारे नहीं जानते हों?’
चिराग पासवान ने कहा कि अगर नीतीश कुमार दोषी हैं तो जांच के बाद उन्हें जेल भेजा जाएगा. यह कैसे संभव हो सकता है कि सीएम बड़े पैमाने पर घोटालों और भ्रष्टाचार के बारे में नहीं जानते हों? वह भी इसमें शामिल हैं. अगर नहीं हैं, तो यह जांच में स्पष्ट हो जाएगा. लेकिन लोगों का और मेरा मानना है कि वह इसमें शामिल हैं, वह भ्रष्ट हैं.

चिराग का सवाल- क्या शराब की तस्करी नहीं चल रही है?
एलजेपी अध्यक्ष ने आगे कहा कि शराबबंदी की समीक्षा क्यों नहीं की जा रही है? क्या शराब की तस्करी नहीं चल रही है? हर कोई इसे प्राप्त कर रहा है। सरकार और प्रशासन आपस में टकरा रहे हैं. बिहार सरकार में एक भी मंत्री ऐसा नहीं है जो इसके बारे में नहीं जानता हो. अगर आप इसकी समीक्षा नहीं करना चाहते हैं, तो इसका मतलब है कि आप स्वयं इसमें शामिल हैं.

एलजेपी चीफ बोले- सभी जानते हैं पैसा कहां जा रहा
चिराग पासवान ने कहा कि सभी जानते हैं कि पैसा कहां जा रहा है, सीएम को चुनाव लड़ना है और बहुत सारी चीजें करनी हैं. यह सब जांच का विषय है. इसकी जांच हमारी सरकार की ओर से की जाएगी कि शराब तस्करी, ‘7 निश्चय’ योजना और केंद्र की ओर से भेजे गए फंड का सारा पैसा कहां है.

चिराग पासवान का ट्वीट- जंगलराज के बाद नहीं हुआ विकास
चिराग पासवान ने सोमवार को एक ट्वीट भी किया, इसमें उन्होंने नीतीश कुमार पर निशाना साधा. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, ‘जंगलराज के बाद नहीं हुआ विकास अब #बिहार1stबिहारी1st की बात. #असम्भवनीतीश#नीतीशमुक्तबिहार

support media swaraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen − 12 =

Related Articles

Back to top button