प्रियंका गांधी ने दलित बस्ती में लगाई झाड़ू , योगी को करारा जवाब

दलित बस्ती में झाडू लगाती प्रियंका गांधी

लखनऊ स्थित सीतापुर गेस्ट हाउस के बाद आज इंदिरा नगर की दलित बस्ती लवकुश नगर में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी झाड़ू लगाती दिखीं. यह उनकी ओर से यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को करारा जवाब था , जिन्होंने कहा था कि वह झाड़ू लगाने लायक़ हाई हैं. . जानें क्या है पूरा मामला…

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव जैसे जैसे करीब आ रहे हैं, वैसे वैसे राज्य की विपक्षी राजनीतिक पार्टियों में भी गर्मजोशी नजर आने लगी है. अब तक जो कांग्रेस पार्टी राज्य में होने वाले चुनावों को लेकर बिल्कुल भी मेहनत करती नहीं दिख रही थी, लखीमपुर खीरी हिंसा के बाद से प्रदेश में वह एक बार फिर अपनी खोई राजनीतिक जमीन तलाशती नजर आ रही है. खासकर यूपी चुनावों को लेकर कांग्रेस पार्टी की महासचिव और प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा को पहले के मुकाबले एक्टिव देखा जा सकता है.

लखीमपुर खीरी हिंसा के बाद प्रियंका जब उसके पीडितों से मिलने के लिए जाने का प्रयास करने लगीं तब उन्हें यूपी सरकार ने बीच में ही रोक दिया और सीतापुर गेस्ट हाउस में ही कैद कर दिया गया. इसी दौरान प्रियंका गांधी का एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें उन्हें गेस्ट हाउस में झाडू लगाते हुए देखा गया.

इस घटना के बाद जब CNN-News18 ने अपने एक साक्षात्कार में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से इस बाबत सवाल किया तो उन्होंने जो जवाब दिया, उसकी प्रतिक्रियास्वरूप प्रियंका आज लवकुशनगर स्थित दलित बस्ती के वाल्मिकी मंदिर पहुंचकर वहां झाडू लगाने लगीं और मौजूद लोगों से बातचीत भी की. पार्टी ने ​अपने ट्विटर अकाउंट पर इसका वीडियो भी शेयर किया है.

योगी आदित्यनाथ के बयान के बाद शुक्रवार को लखनऊ स्थित इंदिरा नगर की दलित बस्ती लवकुश नगर में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी झाड़ू लगाती दिखीं. प्रियंका शुक्रवार को लवकुशनगर स्थित दलित बस्ती पहुंच गयीं. फिर, वहां स्थित वाल्मिकी मंदिर में झाडू लगाकर सरकार को संदेश देने की कोशिश की. प्रियंका के वहां पहुंचते ही कांग्रेसी कार्यकर्ता उत्साह में नारे लगाने लगे. प्रियंका गांधी ने कहा, “झाड़ू लगाना स्वाभिमान और सादगी का प्रतीक है.

साक्षात्कार के दौरान प्रियंका गांधी के गेस्ट हाउस में झाडू लगाने पर यूपी सीएम ने कहा था कि ​जनता प्रियंका को इसी रूप में देखना चाहती है. मतदाताओं को लगता है कि वह इसी लायक हैं. जनता उनको इसी लायक बनाना चाहती है. प्रियंका गांधी को लखीमपुर खीरी जाने के दौरान सीतापुर में हिरासत में लिया गया था.

प्रियंका शुक्रवार को लवकुशनगर स्थित दलित बस्ती पहुंच गयीं. फिर, वहां स्थित वाल्मिकी मंदिर में झाडू लगाकर सरकार को संदेश देने की कोशिश की.

बता दें कि लखीमपुर खीरी हिंसा मामले को लेकर प्रियंका गांधी लखीमपुर खीरी जाकर पीड़ित परिवारों से मिलना चाह रही थी. हालांकि यूपी सरकार ने उन्हें इसकी इजाजत नहीं दी. ऐसे में कांग्रेसी नेताओं के साथ उन्हें सीतापुर के गेस्ट हाउस में हिरासत के तौर पर रखा गया था. लखीमपुर खीरी में किसानों के विरोध प्रदर्शन के दौरान भड़की हिंसा में रविवार को कुल आठ लोगों की जान चली गई थी.

सीतापुर गेस्ट हाउस से प्रियंका गांधी का एक वीडियो सामने आया था, जिसमें वह झाड़ू लगाते हुए नजर आ रही थीं. यूपी पुलिस की हिरासत के दौरान उन्हें गेस्ट हाउस के जिस कमरे में रखा गया था, वहां वो खुद झाड़ू लगाती नजर आईं. कांग्रेस ने 42 से​केंड के इस वीडियो को ट्विटर पर पोस्ट करते हुए कहा कि उनके नेता ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी द्वारा दिखाए गए मार्ग को चुना है.

छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री भूपेश बाघेल ने भी ट्वीट कर कहा है कि यूपी में बीजेपी के अंत की शुरुआत हो चुकी है.

support media swaraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × one =

Related Articles

Back to top button