ससुराल पहुंच मोदी-योगी, सपा-बसपा, सब पर जमकर बरसीं प्रियंका, खोली सबकी पोल

मुरादाबाद में अपने भाषण की शुरुआत प्रियंका ने कुछ अलग अंदाज में किया। उन्होंने कहा, आप सबका मेरे ससुराल में बहुत स्वागत है। बहुत दिन बाद आई हूं, इसके लिए आपसे माफी मांगती हूं। आपके शहर ने मेरे परिवार को संरक्षण दिया, उनको खड़ा किया। बंटवारे के बाद मेरे ससुर के पिता मुरादाबाद आए, यहीं से कारोबार शुरू किया। यहां के हुनर, यहां के लोगों की मदद से उन्होंने अपने बच्चों का भविष्य बनाया।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में जीत के लिये जीतोड़ मेहनत कर रहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी आज अपने ससुराल मुरादाबाद पहुंचीं। यहां पहुंचकर उन्होंने अपने ससुराल वालों का स्वागत किया और यूपी की योगी सरकार और केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला।

पीतल नगरी के नाम से मशहूर मुरादाबाद में प्रियंका ने कहा, बीजेपी सरकार की नीतियों के कारण व्यापारी बर्बाद हो गए। नोटबंदी से कोई काला धन वापस नहीं आया। जीएसटी ने व्यापारियों की कमर तोड़ दी। कारीगरों की दिहाड़ी आधी हो गई। बिजली-डीजल और कच्चा माल महंगा हो गया। ब्याज पर सब्सिडी कम कर दी गई।

आप सबका मेरे ससुराल में स्वागत

मुरादाबाद में अपने भाषण की शुरुआत प्रियंका ने कुछ अलग अंदाज में किया। उन्होंने कहा, आप सबका मेरे ससुराल में बहुत स्वागत है। बहुत दिन बाद आई हूं, इसके लिए आपसे माफी मांगती हूं। आपके शहर ने मेरे परिवार को संरक्षण दिया, उनको खड़ा किया। बंटवारे के बाद मेरे ससुर के पिता मुरादाबाद आए, यहीं से कारोबार शुरू किया। यहां के हुनर, यहां के लोगों की मदद से उन्होंने अपने बच्चों का भविष्य बनाया।

प्रियंका ने आगे कहा, मुरादाबाद पीतलनगरी के रूप में पूरी दुनिया में जाना जाता है। शादी के वक्त ये एक खुशहाल शहर था। व्यापारियों से लेकर मज़दूरों की मेहनत के साथ-साथ ऐसी सरकार थी, जिसने आपकी मदद की। उसमें एक्सपोर्ट काउंसिल बनी, निर्यातकों की हर तरह से मदद दी गई। मेरे पिता राजीव गांधी ने हर तरह से उनकी मदद की। उस समय यहां से आठ हजार करोड़ का निर्यात होता था। आज दो हजार का हो रहा है। दो लाख लोगों की रोटी-रोजी खत्म हो गई।

यूपी और केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए प्रियंका ने कहा, आपने पीतल नगरी बनाई। इन्होंने अंधेर नगरी बनाई, जिसका चौपट राजा है। टीईटी का पेपर आउट हुआ। ये पहली बार नहीं हुआ। 12 बार पेपर आउट हो चुका है।

आपने पीतल नगरी बनाई, इन्होंने अंधेर नगरी

यूपी और केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए प्रियंका ने कहा, आपने पीतल नगरी बनाई। इन्होंने अंधेर नगरी बनाई, जिसका चौपट राजा है। टीईटी का पेपर आउट हुआ। ये पहली बार नहीं हुआ। 12 बार पेपर आउट हो चुका है। योगी आदित्यनाथ कहते हैं कि नौकरी योग्य लोग नहीं हैं। हर तरफ नौजवान बेरोजगारी का शिकार हैं। जहां जाइए, यही सवाल उठ रहा है कि रोजगार क्यों नहीं है। सीएम योगी से व्यापारी मिलना चाहते हैं, पर उनके पास समय नहीं है।

प्रियंका ने आगे कहा, 700 किसान शहीद हो गए, लेकिन पीएम मोदी ने दो मिनट भी उनके बारे में नहीं कहा। लखीमपुर में किसानों को कुचलकर मारा गया। किसान कह रहे हैं कि गृहराज्यमंत्री को हटाओ, लेकिन वो लगातार मंच पर मिलते हैं। गन्ना किसानों का चार हजार करोड़ रुपये बकाया है पर पीएम मोदी ने आठ हजार करोड़ का जहाज खरीद लिया। 20 हजार करोड़ संसद के सुंदरीकरण के लिए खर्च किया जा रहा है, पर आपके लिए कुछ नहीं।

लोग महंगाई से तड़प रहे, महिलाओं का हो रहा शोषण

प्रियंका गांधी ने कहा, लोग महंगाई से तड़प रहे हैं। महिलाओं का शोषण हो रहा है। उन्हें कुचला जा रहा है। कोई कुछ नहीं कर रहा है। सबकुछ विज्ञापन में है। आपके लिए लड़ने वाली महिला कैसे आगे बढ़ेगी। 40 फीसदी टिकट महिलाओं को देंगे। हो सकता है कि कुछ न जीतें, लेकिन वे सशक्त होंगी। उन्होंने पूछा, लड़कियों बताओ, लड़ना चाहती हो कि नहीं? ये स्कूटी और स्मार्टफोन आपके लिए है। सशक्त बनो। मैं साथ खड़ी हूं। ये राजनीति बदल जाएगी।

किसानों का कर्ज माफ करेंगे, बिजली बिल हाफ करेंगे

भाषण के दौरान चुनावी वायदे करते हुये प्रियंका गांधी ने कहा, हमारी सरकार बनी तो किसानों का कर्ज माफ करेंगे और बिजली बिल हाफ होंगे। कोरोना काल का बकाया साफ किया जाएगा। आपने ऑक्सीजन मांगा तो सरकार आपके पीछे पड़ गई।

कोरोना काल में सबका व्यापार कम हुआ। हम सबकी मदद करेंगे। सबसे गरीब परिवार, जिन्हें कोरोना से सबसे ज़्यादा परेशानी हुई, उन्हें 25 हजार की मदद करेंगे। अगर हमारी सरकार आएगी तो कोई भी बीमारी हो, दस लाख तक का इलाज सरकार मुफ्त में कराएगी। वृद्धा एवं विधवा पेंशन में हजार रुपये देंगे। आरक्षण नियमों को लागू करते हुए 40 फीसदी नौकरी महिलाओं को मिलेंगी।

इसे भी पढ़ें:

UP Assembly Election 2022 : क्या कांग्रेस का चेहरा होंगी प्रियंका गांधी?

उन्होंने अपने भाषण में कहा, मेरी शिकायत है कि आप नेताओं से हिसाब नहीं मांगते। चुनाव में सफाईकर्मियों के साथ पीएम मोदी फोटो खिंचवाते हैं और आगरा में अरुण बाल्मिकी को तीन दिन हिरासत में रखकर मार दिया जाता है। हाथरस में दलित बेटी का बलात्कार कर उसे मार दिया जाता है। प्रशासन बिना घर को बताए शव का अंतिम संस्कार कर देता है।

किसानों को देशद्रोही, आंदोलनजीवी सब कहा गया। अब कह रहे हैं कि मुझे माफ करिये। माफ मत कीजिए, हिसाब मांगिये…कोरोना काल में लापरवाही हुई तो हिसाब मांगिये। नेताओं से रिश्ता बदलो, उनसे हिसाब मांगो।

अखिलेश-मायावती पर भी बोला हमला

प्रियंका गांधी ने अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा, जनता ने सपा सरकार में जातिवाद और गुंडई, बसपा में लूट देखी। नया नारा है- आ रहे हैं अखिलेश। मैं पूछना चाहती हूं कि बिजनौर में नौजवान अनस और सुलेमान के मामले में क्या अखिलेश आए? लखीमपुर खीरी में नरसंहार के बाद अखिलेश यादव आए? सीएए-एनआरसी के समय क्या अखिलेश आए, तो चुनाव के समय अखिलेश यादव क्यों आए? पांच साल त​क वे कहां थे, जब कांग्रेस के 18 हजार कार्यकर्ता जेल में थे। अजय लल्लू जेल में थे।

दलितों पर हाथरस के फाफामऊ में दलितों की हत्या और बलात्कार हुआ, बसपा के नेता उस वक्त कहां थे? उन्होंने आवाज़ क्यों नहीं उठाई? क्योंकि सब सोचते हैं कि आपकी पीड़ा का उनकी राजनीति से कोई मतलब नहीं है। सब सोचते हैं कि जाति और संप्रदाय के नाम पर आपसे वोट ले लेंगे। ये सोच आपको बदलवानी है। किसानों की शहादत ने ये देश बनाया है। आपके पूर्वजों ने संघर्ष करके आज़ादी दिलाई है। इसमें आपसे मजबूत कोई नहीं है। कोई ऐसी जंग नहीं है, जो बिना लड़े जीती जाती हो। जो कह रहे हैं कि हम जीतेंगे, वे जब लड़ ही नहीं रहे हैं तो जीतेंगे कैसे? यह देश आपका है, किसी की जागीर नहीं है।

इसे भी पढ़ें:

चित्रकूट में गूंजा ‘लड़की हूं लड़ सकती हूं’ का नारा, प्रियंका बोलीं, एकजुट हो राजनीति में आएं महिलाएं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × two =

Related Articles

Back to top button